आलाकमान चाहता है येदियुरप्पा का इस्तीफा, लिंगायत मठीधीशों ने कहा- हटाया तो खत्म हो जाएगी भाजपा

123 0

कर्नाटक में सियासी उठापटक जारी है, ऐसा कहा जा रहा कि सोमवार को सीएम बीएस येदियुरप्पा सीएम पद से इस्तीफा दे सकते हैं। कर्नाटक भाजपा जहां नए नामों पर चर्चा में जुटी है वहीं दूसरी तरफ लिंगायत समुदाय के मठाधीशों ने कहा- येदियुरप्पा हटे तो भाजपा को कष्ट भोगना पड़ेगा। प्रदेश की सौ सीटों पर प्रभाव रखने वाले लिंगायत समुदाय के सभी मठाधीशों ने बैठक की और बीएस येदियुरप्पा को हटाने पर आंदोलन की चेतावनी दी।

लिंगेश्वर मंदिर के मठाधीश ने कहा- दिल्ली के लोगों को नहीं पता कि कर्नाटक में चुनाव कैसे होते हैं और कैसे जीते जाते हैं, यहां येदियुरप्पा ने सरकार बनाई है। शरनबासवलिंगा ने कहा- हम पूरी जिंदगी उन्हें सीएम बनाने के लिए नहीं कह रहे बल्कि ये कार्यकाल पूरा करने दिया जाए।

लिंगायत समुदाय के नेता ने कहा कि उन्होंने दो महीने पहले ही इस्तीफा देने की पेशकश की थी जिसके पीछे उनका उद्देश्य दूसरों के लिए रास्ता बनाना था। उन्होंने जोर देकर कहा कि यदि उनसे यह पूछा जाएगा कि उनका स्थान किसे लेना चाहिए तब भी वह किसी का नाम नहीं लेंगे।

लिंगायत समुदाय के नेता येदियुरप्पा (78) ने यह भी कहा कि पार्टी आलाकमान कर्नाटक के मुख्यमंत्री के तौर पर उनके भविष्य के बारे में 25 जुलाई को उन्हें निर्देश देगा और वह आखिरी वक्त तक अपने कर्तव्यों का पालन करते रहेंगे। यहां पत्रकारों से बातचीत में येदियुरप्पा ने कहा कि उनका इरादा आने वाले दिनों में पार्टी को मजबूत करना और उसे फिर से सत्ता में लाना है। येदियुरप्पा सरकार के दो साल 26 जुलाई को पूरे हो जाएंगे।

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे अब तक कोई संदेश (मुख्यमंत्री के तौर पर भविष्य के बारे में) नहीं मिला है। मैं इंतजार कर रहा हूं कि 25 जुलाई को शायद कोई संदेश आए। मैं केंद्र के निर्देशों का पालन करूंगा। मैं यह बात पहले भी कह चुका हूं और एक बार फिर से कह रहा हूं।’’

दिल्ली में लॉकडाउन खत्म! अब 100 फीसदी क्षमता के साथ चलेगी मेट्रो, खुले सिनेमा हॉल

यहां पत्रकारों से बातचीत में येदियुरप्पा ने कहा कि उनका इरादा आने वाले दिनों में पार्टी को मजबूत करना और उसे फिर से सत्ता में लाना है। उन्होंने कहा, ‘‘सत्ता में रहूं चाहे न रहूं, मैं पूरे राज्य का दौरा करूंगा और संगठन को मजबूत करने, पार्टी को दोबारा सत्ता में लाने के लिए काम करूंगा।’’

Divyansh Singh

मिट्टी का तन, मस्ती का मन; छड़ भर जीवन, मेरा परिचय।

Related Post

कोरोना वैक्सीन की दोनों खुराक लेने के बाद 76% लोग हुए संक्रमित- ICMR का पहला अध्ययन

Posted by - June 25, 2021 0
देश में कोरोना की दूसरी लहर अब भी जारी है, इस बीच भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद ने कोरोना पर पहला…
Jai Shanker

विदेश मंत्री ने अमेरिकी समकक्ष ब्लिंकन से की सुरक्षा संबंधी मामलों पर चर्चा

Posted by - April 20, 2021 0
वाशिंगटन/नई दिल्ली। विदेश मंत्री एस जयशंकर( (S jaishankar) एवं उनके अमेरिकी समकक्ष टोनी ब्लिंकन ने अफगानिस्तान और म्यांमार समेत क्षेत्रीय…
पीएम मोदी

पीएम मोदी के चुनाव को चुनौती देने वाली याचिका इलाहाबाद हाईकोर्ट ने की खारिज

Posted by - December 6, 2019 0
प्रयागराज। वाराणसी सीट से बीजेपी के टिकट पर सांसद चुने गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को शुक्रवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट से…
Rahul Gandhi

भारत में संकट सिर्फ कोरोना नहीं, बल्कि केंद्र सरकार की जन विरोधी नीतियां भी हैं- राहुल गांधी

Posted by - April 22, 2021 0
ऩई दिल्ली। इससे पहले बुधवार को राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर सवाल उठाते हुए कहा कि वैक्सीन रणनीति नोटबंदी…