AK Sharma

अलीगंज के फतेहपुर में दूषित पेयजल से फैले डायरिया के प्रकोप का ए0के0 शर्मा ने लिया संज्ञान

94 0

लखनऊ: प्रदेश के नगर विकास एवं ऊर्जा मंत्री ए0के0 शर्मा (AK Sharma) ने लखनऊ (Lucknow) में अलीगंज (Aliganj) के फतेहपुर गांव में दूषित पेयजल के कारण क्षेत्र में फैले डायरिया जैसे गंभीर बीमारी से स्थानीय निवासियों की समस्याओं का संज्ञान लेकर आज नगर आयुक्त, लखनऊ इंद्रजीत सिंह को निर्देशित किया है कि प्रभावित क्षेत्र में जिम्मेदार अधिकारी दौरा करें और पीड़ित लोगों की हर संभव मदद करें, इसमें जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य कार्मिकों का भी सहयोग लिया जाए।

नगर विकास मंत्री ने कहा कि प्रभावित क्षेत्र में जब तक साफ पानी की आपूर्ति संचालित नहीं हो जाती, वहां पर साफ पानी की वैकल्पिक व्यवस्था के लिए पेयजल टैंकर की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाए। लोगों को और बीमारियों की चपेट में आने से बचाने के लिए नियमित रूप से प्रभावित क्षेत्र में फॉकिंग करायी जाए। उन्होंने कहा कि गत वर्षाे में जहां पर भी ऐसी बीमारियां फैली हैं उन सभी स्थानों का स्थलीय निरीक्षण  करा लिया जाए। उन्होंने इस मामले में दोषी अधिकारियों तथा साफ सफाई में लापरवाही बरतने वाली कार्यदायी संस्था पर सख्त कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए हैं।

नगर विकास मंत्री ए0के0 शर्मा को नगर आयुक्त ने इस सम्बन्ध में अवगत कराया है कि फतेहपुर गाँव सेक्टर-बी अलीगंज की जलापूर्ति 2200 कि0ली० क्षमता के ओवरहैड टैंक के माध्यम से प्रातः काल एवं सांयकाल 07ः00 बजे से 08ः00 बजे की जाती है। ओवरहैड टैंक पर क्लोरीनेशन कराकर ही जलापूर्ति की जाती है। साथ ही गंदे पानी की सूचना प्राप्त होने पर जोन-3 के अधिशासी अभियन्ता द्वारा अपने स्टॉफ के साथ जाकर तत्काल निरीक्षण भी किया गया, जिसमें 02 उपभोक्ताओं के कनेक्शन नाली में क्षतिग्रस्त पाये गये, उनको तत्काल काटकर बन्द करा दिया गया।

नगर आयुक्त ने बताया कि क्षेत्र में पानी की वैकल्पिक व्यवस्था हेतु पेयजल टैंकर लगाये गये है। गंदे पानी की आपूर्ति को लेकर क्षेत्रीय अवर अभियन्ता (जल) से स्पष्टीकरण भी प्राप्त किया जा रहा है और मेसर्स सुएज इण्डिया प्रा0लि0 को सीवर सफाई के कार्यों में विलम्ब व लापरवाही पर नोटिस जारी किया गया है। फतेहपुर गाँव, अलीगंज की सभी सीवर लाइनों की सफाई मेसर्स सुएज इण्डिया प्रा० लि0 द्वारा करा दी गयी है। कल दिनॉक 06 जुलाई, 2০22 को 07 जल संयोजन, जो नालियों में पाये गये, उनको काटकर बन्द कर दिया गया।

08 स्थानों पर मुख्य पेयजल पाईप लाइन को काटकर वाशिंग करायी गयी। 05 जुलाई, 2022 की शाम से आज 07 जुलाई 2022 की प्रातः तक कुल 47 पेयजल नमूनों का ओ०टी0 परीक्षण किया गया, जिसमें सभी परिणाम धनात्मक पाये गये,. इससे सिद्ध होता है कि क्षेत्र में क्लोरीनयुक्त पेयजल की आपूर्ति मिल रही है और पेयजल दूषित नही है। इसके अतिरिक्त पेयजल के 18 नमूने जीवाणु परीक्षण एवं 09 नमूने रासायनिक परीक्षण हेतु राज्य स्वास्थ्य संस्थान, अलीगंज, लखनऊ को भेजे गये हैं, जिनके परिणाम आना अभी शेष हैं। अतः उपरोक्त से स्पष्ट है कि वर्तमान में क्षेत्र में साफ एवं क्लोरीनयुक्त जलापूर्ति प्राप्त हो रही है, इससे सिद्ध होता है कि पेयजल दूषित नहीं है एवं डायरिया का कारण जलकल विभाग, नगर निगम लखनऊ की जलापूर्ति नही है।

बकायेदार उपभोक्ता जल्दी करे और अपने बकाये बिल से पायें मुक्ति: ए0के0शर्मा

जिलाधिकारी लखनऊ एवं डॉ० नीरज बोरा विधायक द्वारा फतेहपुर गाँव का निरीक्षण किया गया और संक्रामक रोग के दृष्टिगत जिलाधिकारी के निर्देश पर फतेहपुर गाँव की ब्रान्च पाईपलाइन को बन्द कराकर पेयजल टैंकरों से पेयजल उपलब्ध कराया जा रहा है। विधायक डॉ0 नीरज बोरा के निर्देश पर वर्तमान पेयजल पाईपलाइन के स्थान पर नयी पेयजल पाईपलाइन डालने हेतु आवश्यक कार्यवाही की जा रही है। जलकल विभाग द्वारा क्षेत्र के निवासियों से अपनी निजी पानी की टंकी की सफाई कराने के लिये अपील की ग्यी है। जिलाधिकारी महोदय, द्वारा रोग पर नियंत्रण होने तक पेयजल टैंकरों से ही जलापूर्ति देने के लिये निर्देशित किया गया है, जिसका पालन किया जा रहा है।

स्कूल चलो अभियान के तहत एक करोड़ 90 लाख विद्यार्थियों का नामांकन

Related Post