आंखे मत दिखाओ’, उपचुनाव को लेकर हो रही बैठक में आपस में ही भिड़े भाजपा के मंत्री

61 0

मध्य प्रदेश में तीन विधानसभा एवं एक लोकसभा सीट के लिए होने वाले उपचुनाव को लेकर भाजपा तैयारियों में जुटी है, इसीबीच एक विवाद सामने आया है। चुनावी तैयारियों को लेकर हो रही बैठक में खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया और सहकारिता मंत्री अरविंद भदौरिया के बीच बहस हो गई। वन मंत्री विजय शाह द्वारा कुर्ता झटकारे जाने को लेकर यशोधरा नाराज हो गई, उन्होंने कहा- ये कौन सा तरीका है, पीछे महिलाएं बैठी हैं।

इसपर अरविंद भदौरिया ने कहा- विजय जी देखा करिए, यशोधरा जी महाराजा हैं और आप अभी राजा हैं, उनकी बात पर यशोधरा भड़क गई और कहा- बीच में क्यों बोला। भदौरिया ने कहा- आप बोलने से नहीं रोक सकती, सीएम नहीं हैं, इसपर यशोधरा ने कहा- आंख मत दिखाओ, तुम मुझसे बत्तमीजी कर रहे हो।

यशोधरा को कहना पड़ा- ठाकुर! आंखें मत दिखाओ। तुम बदतमीजी कर रहे हो। इस पर भदौरिया ने भी पलटवार किया। हालात ऐसे हो गए थे कि यशोधरा उठकर कैबिनेट हॉल से बाहर चली गईं। जब लौटीं, तो चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग को बीच-बचाव करना पड़ा।

शुरुआत यहां से

विजय शाह ने कुर्सी पर बैठते समय कुर्ता झटकारा। इससे पायजामा और कुर्ता बेढंगा हो गया।

यशोधरा (विजय के ठीक पीछे बैठीं थीं) : ये क्या तरीका है, शाह जी। पीछे महिलाएं भी बैठीं हैं। उषा ठाकुर भी बैठी हैं।

विजय शाह : जी-जी।

अरविंद भदौरिया : विजय जी आप देखा करो, वो महाराजा हैं और आप राजा हो?

यशोधरा : आपको क्या बीच में बोलने की आदत है? उस दिन रेत के मसले पर भी बीच में बोल रहे थे।

भदौरिया : आप बोलने से नहीं रोक सकतीं। मैं भी तो अपनी बात रखूंगा, आप CM तो हैं नहीं।

यशोधरा (गुस्से में) : ठाकुर!, आंखें मत दिखाओ। तुम मुझसे बदतमीजी कर रहे हो।

भदौरिया (तेज आवाज में) : मैं सिर्फ अपनी बात कह रहा हूं और ये मेरा हक है।

विश्वास : आप सब शांत हो जाइए, यह सब ठीक नहीं लगता। यशोधरा कैबिनेट बैठक कक्ष से बाहर निकल गईं। थोड़ी देर बाद लौटीं।

विश्वास : आप दोनों कुछ नहीं बोलेंगे। बैठक शुरू करिए। (करीब पांच मिनट तक सब खामोश रहे)

संघ का 5 दिवसीय मंथन खत्म, चुनाव से पहले एक्टिव होंगी शाखाएं, चादर-फादर मुक्त भारत होगा नारा

इससे पहले भी कैबिनेट और इसके बाद होने वाली अनौपचारिक कैबिनेट बैठकों में मंत्री किसी न किसी मसले पर मंत्री आपस में उलझ चुके हैं। अन्य मंत्रियों को बीच-बचाव का विवाद निपटाना पड़ा।

Divyansh Singh

मिट्टी का तन, मस्ती का मन; छड़ भर जीवन, मेरा परिचय।

Related Post

गोडसे देशभक्त

राजनाथ बोले- गोडसे को देशभक्त वाले बयान की बीजेपी करती है निंदा, विपक्ष का वॉकआउट

Posted by - November 28, 2019 0
नई दिल्ली। भोपाल से बीजेपी सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के लोकसभा में दिए विवादित बयान पर कांग्रेस ने हंगामा किया।…
vidhan abha march

पटना: तीनों कृषि कानून को रद्द करने की मांग को लेकर मजदूर सभा का विधानसभा मार्च

Posted by - March 24, 2021 0
पटना। तीनों कृषि विरोधी कानून  (Agricultural Laws)  को रद्द करने, फसलों की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदारी की कानूनी गारंटी…

मुंबई में गिरी दो मंजिला इमारत, युवक ने ऐसे बचाई 75 लोगों की जान

Posted by - October 30, 2020 0
राष्ट्रीय डेस्क.   महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई के पास डोम्बिवली के कोपर इलाके में कल 29 अक्तूबर यानी गुरुवार को आधी…
संजय बांगड़

संजय बांगड़ ने बंगलादेश क्रिकेट बोर्ड का प्रस्ताव ठुकराया

Posted by - March 19, 2020 0
नयी दिल्ली। भारत के पूर्व बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ ने बंगलादेश क्रिकेट बोर्ड (बीसीबी) का प्रस्ताव ठुकरा दिया है। बता…

जन्नत के नाम पर बच्चों को मरवाते हैं ये लोग – राज्यपाल मलिक

Posted by - October 22, 2019 0
जम्मू कश्मीर। राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने अपने हालिया बयान में नेताओं पर निशाना साधा है।उन्होंने कहा यहां जितने समाज, धर्म,…