4 माह बाद बिहार विधानसभा अध्यक्ष ने मानी गलती!

138 0

बिहार विधान सभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने अब स्वीकार किया कि 23 मार्च को पुलिस द्वारा विधायकों की पिटाई गलत थी और यह अक्षम्य है। बुधवार को इस विशेष पर बहस हुई जिसमें सिन्हा ने कहा कि विधायकों को बूट से मारना गलत है और इसे कभी माफ नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा, ‘अपमान इस आसन का नहीं, सदन का हुआ, किसी विधायक को बूट से मारा गया तो विधायक का नहीं विधायिका का अपमान हुआ है।’

राजद नेता तेजस्वी यादव ने बहस की शुरुआत करते हुए बार-बार पूछा कि विधायकों की पिटाई करने का आदेश पुलिस को किसने दिया था?बता दें कि 23 मार्च को बिहार विधान सभा में विधेयक का विरोध कर रहे विपक्षी राजद के विधायकों को बिहार पुलिस ने सदन से घसीटकर बाहर सड़क पर पीटा था।

लोकसभा की कार्यवाही बाधित होने पर बरसे स्‍पीकर, सांसदों को मर्यादा में रहने की दी चेतावनी

विशेष बहस के दौरान संसदीय कार्य मंत्री, विजय कुमार चौधरी ने कहा कि सदन के अंदर पुलिस को बुलाने का निर्णय विधानसभा अध्यक्ष का था और इसमें राज्य सरकार ने कोई भूमिका नहीं निभाई थी।  चौधरी ने स्पष्ट तौर पर कहा कि जो भी निर्णय लिए गए और सदन के अंदर कार्रवाई हुई, वह विधानसभा अध्यक्ष का निर्णय था।

Divyansh Singh

मिट्टी का तन, मस्ती का मन; छड़ भर जीवन, मेरा परिचय।

Related Post