Sexual Enhancing Drugs

मोर के मांस से यौन शक्तिवर्धक दवा बनाने वाला शख्स गिरफ्तार

71 0
चंदौली।  जिले के रामनगर थाना क्षेत्र के राल्हुपुर में राष्ट्रीय पक्षी मोर के शिकार के आरोप में पुलिस और वन विभाग की टीम ने एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। उसके निशानदेही पर 3 मोर का शव बरामद हुआ जिनका राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया।

वाराणसी सीमा से सटे रामनगर में मानवता को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है जहां झोलाछाप हकीम ने तीन मोर की हत्या सिर्फ इसलिए कर दी, क्योंकि वह मोर के मांस से यौन शक्तिवर्धक दवा (Sexual Enhancing Drugs) बनाना चाहता था।

फिलहाल पुलिस ने उस हकीम को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं वन विभाग ने मृत मोर को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया है।

यौन शक्तिवर्धक दवा में होता है मांस का इस्तेमाल

पूछताछ में उसने अपना नाम बाबू बताया, जो कि भोजपुर मोरादाबाद निवासी है। उसने बताया कि वह यौन शक्तिवर्धक दवाएं (Sexual Enhancing Drugs) बनाने के लिए मोर पकड़ने आया था। उसने तीन मोरों को मार दिया है। मोर के मांस का उपयोग वह यौन शक्तिवर्धक दवा (Sexual Enhancing Drugs) बनाने में इस्तेमाल करता था।

युवक की निशानदेही पर पुलिस और वन विभाग की टीम तीनों मोर को लेकर रामनगर स्थित पशु चिकित्सालय पहुंची। जहां डॉक्टरों ने दो को मृत घोषित कर दिया। वहीं एक अन्य मोर ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया, जिसके बाद वन विभाग की टीम तीनों मोर का शव अपने साथ ले गई जिनका शनिवार की सुबह पोस्टमार्टम के बाद राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया।

मुकदमा दर्ज कर भेजा गया जेल

वहीं रामनगर थाने की पुलिस ने वन दारोगा की तहरीर के आधार पर अभियुक्त के खिलाफ वन्य जीव संरक्षण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया है। साथ ही जांच के बाद राष्ट्रीय पक्षी मोर की हत्या के बाबत भी कार्रवाई की जाएगी।

डीएफओ, काशी वन्य क्षेत्र – महावीर कौलाजगी  के अनुसार-

राष्ट्रीय पक्षी मोर के शिकार के आरोप में पुलिस और वन विभाग की टीम ने एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। उसके निशानदेही पर 3 मोर का शव बरामद हुआ जिनका राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया। मोर का शिकार करने के आरोप में वन्य जीव अधिनियम कर तहत मुकदमा दर्ज जेल भेज दिया गया।

Loading...
loading...

Related Post