World Thalassemia Day

World Thalassemia Day: थैलेसीमिया के मरीज अपनी डाइट में शामिल करें ये चीजें, इनसे करें परहेज

30 0

हर साल थैलेसीमिया (Thalassemia) बीमारी के प्रति लोगों को जागरुक करने के लिए 8 मई को विश्व थैलेसीमिया दिवस (World Thalassemia Day) मनाया जाता है। थैलेसीमिया एक ब्लड डिसऑर्डर है। ये जेनेटिक रोग है। ये माता-पिता से बच्चों में आता है। इस बिमारी में खून में हीमोग्लोबिन (World Thalassemia Day 2022) की कमी हो जाती है। इस दौरान मरीज के शरीर में खून नहीं बन पाता है।

शरीर में खून की कमी हो जाती है। ऐसे में कई और स्वास्थ्य समस्याओं को सामना भी करना पड़ता है। ये एनीमिया और थकान का कारण (World Thalassemia Day) बनती है। थैलेसीमिया से पीड़ित लोगों को बार-बार खून चढ़ाने की जरूरत पड़ती है।

इस दौरान खाने-पीने का अधिक ध्यान रखने की जरूरत पड़ती है। ऐसे में रेड ब्लड सेल्स को बढ़ाने वाले फूड्स का सेवन करना चाहिए। थैलेसीमिया के मरीज को किस तरह के फूड्स (Foods) डाइट में शामिल करने चाहिए और किन चीजों से परहेज करना चाहिए आइए जानें।

फॉलिक एसिड

थैलेसीमिया की बीमारी से पीड़ित लोगों को फॉलिक एसिड से भरपूर फूड्स का सेवन करना चाहिए। आप मटर, नाशपाती, पालक, अनानास, चुकंदर, केला और बींस आदि का सेवन कर सकते हैं। ये शरीर में नई ब्लड सेल्स बनाने में मदद करते हैं।

विटामिन बी12

विटामिन बी12 से भरपूर फूड्स का सेवन करना चाहिए। दूध और पत्तेदार सब्जियों का सेवन करें। सब्जियों को अच्छे से पकाकर खाएं।

Mother’s Day पर Google ने बनाया खास Doodle, दिखाई मां के प्यार की झलक

विटामिन सी

थैलेसेमिया के दौरान विटामिन सी से भरपूर फूड्स का सेवन करना चाहिए। खट्टे फलों में विटामिन सी अधिक मात्रा में पाया जाता है। खट्टे फलों में संतरा, कीवी,नींबू, शिमला मिर्च और स्ट्रॉबरी आदि का सेवन कर सकते हैं।

आयरन से भरपूर फूड्स

थैलेसेमिया के मरीजों को आयरन से भरपूर फूड्स का सेवन करना चाहिए। इससे शरीर में हीमोग्लोबिन बढ़ता है। शरीर से आयरन की कमी दूर होती है। आप आयरन से भरपूर फूड्स जैसे पालक, सेब, किशमिश,पालक, चुकंदर, अनार, अंजीर और बादाम आदि का सेवन कर सकते हैं। इनका सेवन करने से शरीर में ब्लड सेल्स बढ़ेंगे। आप डॉक्टर से सलाह लेकर आयरन से भरपूर सप्लीमेंट भी ले सकते हैं।

इन चीजों से करें परहेज

थैलेसेमिया के मरीजों को कुछ चीजों के सेवन से बचना चाहिए। इसमें मैदा, उड़द, चना, आलू, बैंगन, भिंडी, फास्ट फूड, जंक फूड, बेकरी प्रोडक्ट्स, अधिक मात्रा में नमक और कैफिन युक्त पेय जैसे चाय और कॉफी आदि शामिल है

जाने कैसे अजवाइन के सेवन से डायबिटीज होगी कंट्रोल

Related Post

genome sequencing

पंजाब में 81 फीसदी सैंपल में मिला कोरोना का नया स्ट्रेन, CM ने PM मोदी से मांगी वैक्सीन

Posted by - March 23, 2021 0
पंजाब। प्रदेश कोरोना का नया वेरियंट (UK Covid Variant) पांव पसार चुका है। जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए पंजाब की तरफ…