टैगोर काले थे इसलिए उनकी मां उन्हें गोद में नहीं उठाती थीं- केंद्रीय मंत्री का विवादित बयान, भड़की TMC

66 0

केंद्रीय मंत्री सुभाष सरकार ने नोबेल पुरस्कार विजेता रवींद्रनाथ टैगोर के बारे में बयान देकर विवाद खड़ा कर दिया है।उन्होंने एक कार्यक्रम में कहा कि रवींद्रनाथ की मां ने उन्हें अपनी गोद में लेने से इनकार कर दिया था क्योंकि वह काले थे।उन्होंने आगे कहा कि टैगोर अपने परिवार के अन्य सदस्यों की तुलना में काले थे जबकि अन्य सदस्यों का रंग काफी गोरा था।

सरकार ने कहा- गोरी त्वचा दो प्रकार की होती है, एक थोड़ी पीली, दूसरी लाल रंग की होती है। टैगोर की त्वचा दूसरे प्रकार की थी। इस बयान पर टीएमसी के वरिष्ठ नेता अनुब्रत मंडल ने कहा- केंद्रीय मंत्री टैगोर को बिना जाने उन्हें बदनाम कर रहे हैं।

हालांकि, बीजेपी ने मंत्री सुभाष सरकार का बचाव करते हुए कहा कि उनकी टिप्पणी ‘नस्लवाद’ के खिलाफ थी. केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री ने टैगोर द्वारा स्थापित विश्व भारती विश्वविद्यालय की यात्रा के दौरान यह टिप्पणी की।  टीएमसी नेता अभिषेक बनर्जी ने सरकार की टिप्पणी को लेकर कहा, “सुभाष सरकार को इतिहास नहीं पता।

यह सब जानते हैं कि रवींद्रनाथ टैगोर की त्वचा का रंग गोरा था।  यह नस्लवादी टिप्पणी है और बंगाल का अपमान है।  सुभाष सरकार को दोबारा कभी विश्व भारती में घुसने नहीं देना चाहिए। ” सीपीआईएम ने भी बयान की निंदा की है।  पार्टी के सेंट्रल कमेटी के सदस्य सुजन चक्रवर्ती ने कहा कि इस तरह के बयान बीजेपी की नस्लवादी और बंगाली विरोधी सोच को दिखाते हैं।

बंगाल भाजपा के बड़े नेताओं पर ममता की नजर! दिलीप घोष चाय पर आमंत्रण दिया

गौरतलब है कि रवींद्रनाथ ने अपने संस्मरणों में उल्लेख किया है, “मैं वास्तव में अपनी मां का काला पुत्र था। ” बचपन में कवि ने लिखा, ‘अनादर एक तरह की स्वतंत्रता है’।  टैगोर परिवार के बच्चे ठाकुर बाड़ी में अपना दिन बिताते थे।  हालांकि, रवींद्रनाथ टैगोर के जीवनकार प्रशांत कुमार पॉल ने कहा कि रवींद्रनाथ का बाकी भाइयों से रंग थोड़ा गहरा था, लेकिन इस बात की कोई जानकारी नहीं है कि काला होने के कारण कोई उन्हें गोद में नहीं लेता था।

Divyansh Singh

मिट्टी का तन, मस्ती का मन; छड़ भर जीवन, मेरा परिचय।

Related Post

दिया मिर्जा

जानें क्यूं फूट-फूटकर रोने लगीं दीया मिर्जा, वीडियो हुआ वायरल

Posted by - January 28, 2020 0
मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री दीया मिर्जा काफी समय से ज्यादा फिल्में नहीं कर रही हैं, लेकिन वह सामाजिक मुद्दों में अपनी…