तालिबान से डरने की जरूरत नहीं, हिंदुस्तान में अधिक क्रूरता- शायर मुनव्वर राणा का विवादित बयान

99 0

यूपी के रहने वाले मशहूर शायर मुनव्वर राणा ने अफगानिस्तान में होने वाली क्रूरता की तुलना हिंदुस्तान से की है। उन्होंने कहा कि जितनी क्रूरता अफगानिस्तान में है, उससे ज्यादा क्रूरता तो हमारे यहां हिंदुस्तान में पहले से ही है। मुनव्वर राणा ने कहा कि पहले रामराज था, लेकिन अब कामराज है, अगर राम से काम है तो ठीक वरना कुछ नहीं। राणा ने कहा-  हिन्दुस्तान को तालिबान से डरने की ज़रुरत नहीं है, अफगानिस्तान से जो हजारों बरस का साथ है उसने कभी हिन्दुस्तान को नुकसान नहीं पहुंचाया है।

मुनव्वर राणा आगे बोले कि जितनी एके-47 तालिबानियों के पास नहीं होंगी, उतनी हिन्दुस्तान में माफियाओं के पास हैं।उत्तर प्रदेश सरकार के देवबंद में एटीएस सेंटर खोलने पर मुनव्वर राणा ने कहा कि जब तक योगी सरकार है कुछ भी कर सकती है।लेकिन मौसम हमेशा एक-सा नहीं रहता है।धर्मांतरण जैसे मसलों से मुल्क बर्बाद होता है, लेकिन हम चाहते हैं कि हमारा मुल्क पहले जैसा था, वैसा हो जाए। उन्होंने कहा था कि उत्तर प्रदेश में भी तालिबान जैसा काम हो रहा है।

अपने बयानों की वजह से सुर्खियों में रहने वाले राणा ने कुछ दिन पहले भारत को सांप्रदायिक देश बताया था। उन्होंने कहा था कि भारत अब धर्मनिरपेक्ष देश नहीं रहा, बल्कि ये सांप्रदायिक देश हो गया है। यहां अब सिर्फ रात दिन राम की बात होती है, खबरों में सिर्फ राम मन्दिर होता है, जबकि हिंदुओं को खुश करने के लिए मुसलमानों को मारा जा रहा है।

हरियाणा सरकार ने गोरखनाथ समुदाय की अपील के बाद शब्द ‘गोरख धंधा’ के इस्तेमाल पर लगाई पाबंदी

इससे पहले मुनव्वर राणा ने कहा था कि उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ फिर से मुख्यमंत्री बने तो वह राज्य छोड़ देंगे। मान लेंगे कि ये राज्य मुसलमानों के रहने लायक नही है। इसी बात को जारी रखते हुए उन्होंने कहा था कि ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम दोनों एक दूसरे के खिलाफ सिर्फ दिखाने के लिए चुनाव लड़ रही हैं।

Divyansh Singh

मिट्टी का तन, मस्ती का मन; छड़ भर जीवन, मेरा परिचय।

Related Post