बच्चे

नन्हे मेहमान के आने पर इन टिप्स को अपनाकर बने हर तरह से बने स्मार्ट पैरेंट्स

188 0

लाइफस्टाइल डेस्क। जब भी किसी के घर में नन्हे मेहमान आते हैं तो उस घर ही खुशियां पहले से कई गुना ज्यादा बढ़ जाती हैं। लेकिन नन्हे मेहमान के आने से सभी मां-बाप की दिनचर्या भी पूरी तरह से प्रभावित होती है, क्योंकि नन्हे मेहमान के आने के बाद से रूटीन में बदलाव भी आने लगता हैं। जो उनकी जिंदगी पर असर डालने लगता है। ऐसे में ऐसा क्या किया जाए जिससे सब कुछ पहले की तरह बेहतर हो। तो चलिये जानते हैं कुछ टिप्स…

नींद में कटौती

नन्हे मेहमान के आने पर सभी पैरेंट्स को बच्चों के मुताबिक ही सोना-उठना पड़ता है, जो थकान के साथ-साथ तनाव का भी कारण बनता है और जिसका असर आपके व्यक्तिगत जीवन के साथ प्रोफेशनल लाइफ पर भी पड़ता है।

ऐसे समय में आप दोनों को मिलकर जिम्मेदारी निभानी चाहिए, जैसे आप घर पर हैं, तो आप अपने पति के रहते घर के सभी जरूरी काम निपटा लें, ताकि बच्चे के सोने पर आप भी अपनी नींद पूरी कर सकें और फिर जब आपके पति काम से घर लौटें, तो आपके फ्रैश होने के कारण उन्हें भी आराम मिल सके।

इमोशनली अटैचमेंट में कमी

बच्चे में व्यस्त रहने के कारण पार्टनर एक-दूसरे को वक्त नहीं दे पाते हैं। रोमांस तो उनकी लाइफ में रह नहीं जाता, जिससे उनके बीच इमोशनली अटैचमेंट में कमी आती है।

ऐसे में यह ठीक नहीं होता कि आप एक-दूसरे के साथ रोमांस जताना ही छोड़ दें, बल्कि पहले की तरह ही पार्टनर के साथ रोमांटिक रहें। उसकी फीलिंग्स को समझें और टाइम दें। हो सके, तो डिनर या फिर रोमांटिक डेट्स पर भी जाएं। इससे लाइफ में रोमांस बना रहता है, वरना नीरसता आने से लाइफ बोरिंग लगने लगती है।

खानपान में लापरवाही

पूरा दिन बच्चे की देखभाल में माता-पिता अपने खान-पान पर ध्यान नहीं दे पाते हैं। समय नहीं मिलने के कारण वे जो मिल गया, वही खा लेते हैं। भले ही फास्ट फूड खाकर ही पूरा दिन क्यों न बिताना पड़े और फिर यही उन्हें बीमार कर देता है।

मंच से गिरे लोग और लड़की का डांस रहा जारी, Viral Video पर लोगों का देखें रिएक्शन

ऐसे में अगर आप अकेली रहती हैं, तो आप अपना खानपान संबंधी टाइमटेबल बना लें। जैसे आप नाश्ते में स्प्राउट्स, अंडा, चीला ले सकती हैं। इसी तरह लंच में दाल, रोटी, दही, छाछ या फिर उबले चने और रात के खाने में ओट्स आदि ले सकती हैं। इस बीच आपको जब भी भूख का अहसास हो, तो आप फल, चने लें, जो आपकी भूख को शांत करने के साथ-साथ आपको स्वस्थ भी रखेंगे।

अनुशासन में कमी

अक्सर हमें अनुशासन में रहना पसंद होता है, जैसे टाइम पर उठना, खाना। कहीं बाहर जाना है, तब भी टाइम से निकलना, एक्सरसाइज आदि। लेकिन पैरेंट्स बनने के बाद हम चाहकर भी खुद को अनुशासन में नहीं रख पाते, जो हमें अंदर ही अंदर परेशान करता है।

इस हालत में, भले ही शुरुआत के 1-2 हफ्ते आपके बहुत बिजी निकलें, लेकिन बाद में आप अपना शेड्यूल बना कर चलें, जैसे अगर आप बाहर एक्सरसाइज के लिए नहीं जा सकते तो घर में ही करें।

लेकिन अगर डिनर फिक्स टाइम पर नहीं हो पा रहा तो डिनर को टाइम पर करने के लिए उसमें ओट्स, सूप, सलाद, खिचड़ी शामिल करें, जो कम समय में बनने के साथ-साथ ज्यादा सेहतमंद भी है। इससे आप बाहर का खाने से भी बच जाएंगे और स्वस्थ भी रहेंगे। इसी तरह आप बाकी चीजों को भी मैनेज करके नई स्थितियों से आसानी से निपट सकती हैं।

Loading...
loading...

Related Post

प्याज की कीमतें

प्याज की कीमतें नियंत्रित करने का हर संभव प्रयास कर रही है सरकार : राम विलास पासवान

Posted by - December 5, 2019 0
नई दिल्‍ली। देश में प्‍याज की बढ़ी कीमतों ने जहां आम आदमी के ‘आंसू’ निकाल रखे हैं। वहीं प्‍याज को…
कांग्रेस प्रवक्ता रागिनी नायक को अश्लील संदेश भेजने

कांग्रेस प्रवक्ता को अश्लील संदेश भेजने वाला लखनऊ से गिरफ्तार

Posted by - March 28, 2019 0
लखनऊ। कांग्रेस प्रवक्ता रागिनी नायक के मोबाइल फोन पर अभद्र मेसेज भेजने के आरोपित विकास नगर सेक्टर-6 निवासी सेल्समैन राजेश…