Sindhu Water Treaty

भारत-पाकिस्तान के बीच सिंधु जल समझौते पर बैठक शुरू

78 0
नई दिल्ली। दिल्ली में सिंधु जल समझौते  Sindhu Water Treaty) को लेकर बैठक चल रही है। इससे पहले की बैठक लाहौर में हुई थी। सिंधु जल संधि (Sindhu Water Treaty) (आईडब्ल्यूटी) में दोनों आयुक्तों के साल में कम से कम एक बार बैठक करने का प्रावधान है और यह बैठक एक बार भारत में तथा एक बार पाकिस्तान में होती है। जानकारी के मुताबिक, यह बैठक हर साल आयोजित की जाती है। यह बैठक दो साल के बाद दिल्ली में हो रही है।

बता दें कि पाकिस्तान के सिंधु आयुक्त सैयद मुहम्मद मेहर अली शाह के नेतृत्व में सात सदस्यीय पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल स्थायी सिंधु आयोग की वार्षिक बैठक के लिए सोमवार को यहां पहुंचा था। इस बैठक के दौरान शाह अपने भारतीय समकक्ष के साथ वार्ता करेंगे। यह जानकारी एक अधिकारी ने दी।

दोनों देशों के सिंधु आयुक्त 23-24 मार्च को वार्षिक वार्ता करेंगे। भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व पी के सक्सेना करेंगे, जिनके साथ केंद्रीय जल आयोग व केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण और राष्ट्रीय जलविद्युत निगम के उनके सलाहकार होंगे। हालांकि, पिछले साल नई दिल्ली में प्रस्तावित बैठक कोरोना वायरस संबंधी महामारी के चलते रद्द कर दी गयी थी। इस संधि के प्रभाव में आने के बाद पहली बार यह बैठक रद्द की गई।

जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद-370 को अगस्त 2019 में निष्प्रभावी किए जाने तथा जम्मू-कश्मीर को दो केंद्रशासित प्रदेशों में विभाजित किए जाने के बाद, दोनों आयुक्तों के बीच यह पहली बैठक होगी।

भारत ने तब से इस क्षेत्र के लिए कई पनबिजली परियोजनाओं को मंजूरी दी है, जिनमें डरबक श्योक (19 मेगावाट), शांकू (18.5 मेगावाट), निमू चिलिंग (24 मेगावाट), रोंगडो (12 मेगावाट) और रतन नाग (10.5 मेगावाट) लेह में हैं तथा मंगदूम सांगरा (19 मेगावाट), कारगिल हंडममैन (25 मेगावाट) और तमशा (12 मेगावाट) कारगिल से जुड़ी हैं।

भारत ने इन परियोजनाओं के बारे में पाकिस्तान को सूचित किया था। यह मुद्दा इस बैठक के दौरान उठने की संभावना है।

पाकिस्तान चिनाब नदी पर भारतीय पनबिजली परियोजना के डिजाइन पर आपत्ति कर सकता है। आईडब्ल्यूटी के तहत चिनाब नदी के पानी का बड़ा हिस्सा पाकिस्तान को दिया गया है। बैठक से पहले सक्सेना ने कहा, भारत इस संधि के तहत अपने अधिकारों के संपूर्ण दोहन के लिए कटिबद्ध है और वार्ता के माध्यम से मुद्दों के सौहार्दपूर्ण हल में यकीन करता है।

Loading...
loading...

Related Post

आनंद शर्मा

मानवता पर हो रही है चोट, जिसे हिंदुस्तान स्वीकार नहीं करेगा : आनंद शर्मा

Posted by - December 26, 2019 0
नई दिल्ली। कांग्रेस ने नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर(एनपीआर), नागरिकता संशोधन अधिनियम(सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर(एनआरसी) को लेकर सत्तारूढ़ नरेंद्र मोदी सरकार…
कोरोनावायरस

कोरोनावायरस से घबराने की जरूरत नहीं, हमें एक साथ काम करने की जरूरत : पीएम मोदी

Posted by - March 3, 2020 0
नई दिल्ली। पीएम मोदी ने कहा कि कोरोनावायरस से घबराने की जरूरत नहीं है। उन्होंने ट्विटकर कहा कि बस  हमें…
दिमाग की सेहत

दिमाग की सेहत को दुरुस्त रहे, इसके लिए लाइफस्टाइल में करें ये बदलाव

Posted by - January 3, 2020 0
नई दिल्ली। आपकी आदतें और लाइफस्टाइल मस्तिष्क के स्वास्थ्य पर प्रभाव डालती हैं। इसमें आहार ,व्यायाम, नींद की गुणवत्ता और…
शिक्षकों ने भरी हुंकार

पुरानी पेंशन योजना व 12 सूत्रीय मांगों को लेकर शिक्षकों ने भरी हुंकार

Posted by - February 7, 2020 0
लखनऊ। पुरानी पेंशन बहाली, वित्तहीन मान्यता, माध्यमिक सेवा चयन बोर्ड को भंग करने का प्रस्ताव वापस करने, व्यावसायिक एवं कंप्यूटर…