शिक्षामित्र पहुंचे सुप्रीम कोर्ट

इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले पर रोक लगाने की मांग को लेकर शिक्षामित्र पहुंचे सुप्रीम कोर्ट

178 0

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षामित्र एसोसिएशन ने शिक्षक भर्ती मामले में इलाहाबाद उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ सोमवार को उच्चतम न्यायालय का रुख किया। वकील गौरव यादव की ओर से दायर इस याचिका में इलाहाबाद उच्च न्यायालय के फैसले पर रोक लगाने या उसे रद्द करने की मांग की गई है।

इससे पहले राज्य सरकार की तरफ से शीर्ष अदालत में एक कैविएट दाखिल की गई है, जिसमें कहा गया है कि शीर्ष अदालत उसका पक्ष सुने बिना इलाहाबाद उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ दायर याचिका पर कोई आदेश जारी न करे। इस मामले में इलाहाबाद उच्च न्यायालय की लखनऊ पीठ ने अपना फैसला सुनाया था।

जावेद अख्तर के ट्वीट से आग बबूला ओवैसी की पार्टी, बोली- मुसलमान कहलाने का…

उसके बाद राज्य में बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में सहायक शिक्षकों की भर्ती का रास्ता साफ हो गया है। उत्तर प्रदेश में शिक्षकों की बड़े पैमाने पर होने वाली भर्ती लटकी हुई थी। ऐसा कटऑफ मार्क्स से संबंधित विवाद के कारण था। इस मामले में इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने प्रदेश सरकार के कटऑफ बढ़ाने के फैसले को सही बताया था। इसके अलावा इस भर्ती प्रक्रिया को तीन महीने के अंदर पूरा करने का आदेश भी दिया है।

Loading...
loading...

Related Post

प्रियंका गांधी

मेरठ पहुंचीं प्रियंका गांधी बोलीं- जहां अन्याय होगा वहां हम खड़े होंगे

Posted by - January 4, 2020 0
मेरठ। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी मुजफ्फरनगर के बाद मेरठ में परतापुर स्थित साईं कॉलोनी में भूड़बराल आवास पर पहुंची हैं।…
राम माधव

ममता पर राम माधव ने साधा निशाना, कहा- नहीं बचा शिष्टाचार, बंगाल में चल रही तानाशाही

Posted by - May 7, 2019 0
नई दिल्ली। बीजेपी नेता राम माधव ने ममता बनर्जी के विवादित बयान पर पलटवार किया है उन्होने ने कहा कि…