पुरुषों की दाढ़ी

रिसर्च में खुलासा : पुरुषों की दाढ़ी में कुत्ते के बाल से ज्यादा खतरनाक बैक्टीरिया

490 0

नई दिल्ली। वर्तमान समय में फैशन ट्रेंड में काफी बदलाव आए हैं। पहले जहां पुरुष क्लीन शेव रहना पसंद करते थे, अब वहीं करीने से कटी दाढ़ी उन्हें माचोमैन का लुक देती है। अपने इस लुक को बनाने के लिए पुरुष पार्लर में कई घंटे बिताते हैं। इसके साथ ही शेविंग किट का भी इस्तेमाल करते हैं।

ये भी पढ़ें :-प्रिया प्रकाश ने अब कर दिया यह बड़ा काम, फैंस जानकर हो जाएंगे हैरान

कई लड़कियां और महिलाओं को अपने पुरुष मित्र की दाढ़ी का स्पर्श करना लगता है काफी अच्छा 

बता दें कि कई लड़कियां और महिलाएं भी ऐसी होती हैं जो अपने बॉयफ्रेंड की दाढ़ी पर जान छिड़कती हैं। उन्हें अपने पुरुष मित्र की दाढ़ी का स्पर्श करना काफी अच्छा लगता है, लेकिन आपको ये जानकार काफी हैरानी होगी कि पुरुषों की दाढ़ी बीमारियों का घर है। जी हां! पुरुषों की दाढ़ी में कुत्ते के बालों से ज्यादा खतरनाक और ताकतवर बैक्टीरिया होते हैं। इस बात का खुलासा एक शोध में हुआ है। शोध पाया गया है कि यह बैक्टीरिया लोगों को काफी तेजी से संक्रमित करते हैं। क्वीन मैरी यूमिवर्सिटी ऑफ लंदन के शोधकर्ताओं ने इस सिलसिले में 18 से 76 साल के मर्दों को इस शोध में शामिल किया। रिसर्च में तकरीबन 18 पुरुषों की दाढ़ी के बालों का और 30 कुत्तों के बालों का सैंपल लिया गया।

पुरुषों की दाढ़ी में बैक्टीरिया का स्तर कुत्तों के बालों में बैक्टीरिया के मुकाबले ज्यादा

रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ कि पुरुषों की दाढ़ी में बैक्टीरिया का स्तर कुत्तों के बालों में बैक्टीरिया के मुकाबले ज्यादा है। इसके साथ ही यह बैक्टीरिया काफी पॉवरफुल और तेजी से फैलने वाला है। शोधकर्ताओं ने बताया कि कई बार साफ-सफाई के बावजूद भी दाढ़ी में कई खतरनाक बैक्टीरिया फंसे रह जाते हैं। यह बैक्टीरिया सीधे स्किन से टच होने के कारण इन्फेक्शन का कारण बनते हैं।

ये भी पढ़ें :-लोकसभा चुनाव 2019: अजमेर में सनी देओल और गोविंदा ने किया रोड शो, उमड़ी जबरदस्त भीड़ 

जो पुरुष क्लीनशेव होते हैं उनकी अपेक्षा दाढ़ी वाले पुरुष अधिक पड़ते हैं बीमार 

बर्मिंघम ट्राइकोलॉजी सेंटर के स्पेशलिस्ट कैरल वाकर ने बताया कि चेहरे पर बाल चाहे दाढ़ी, मूंछ या नाक के भीतर हों। इनमें मौजूद कीटाणु सीधे त्वचा के कांटेक्ट में होते हैं। इस सिलसिले में रिसर्चर रॉन कटलर ने जानकारी देते हुए कहा कि जो पुरुष दाढ़ी रखना पसंद करते हैं कई बैक्टीरिया दाढ़ी के बालों में छिपे रहते हैं। जो पुरुष क्लीनशेव होते हैं उनकी अपेक्षा दाढ़ी वाले पुरुष अधिक बीमार पड़ते हैं।
रिसर्च में इस बात का भी खुलासा हुआ कि कि पुरुषों की बढ़ी दाढ़ी में स्टेफलोकोकस नामक खतरनाक बैक्टीरिया बहुत तेजी से पनपता है। इससे त्वचा सम्बन्धी कई रोग और संक्रमण होते हैं।

Related Post

गिरिराज ने किया आत्मसमर्पण

आदर्श आचार संहिता उल्लंघन के मामले में गिरिराज ने किया आत्मसमर्पण, मिली जमानत

Posted by - May 7, 2019 0
 बेगूसराय। आदर्श आचार संहिता उल्लंघन के मामले में मंगलवार यानी आज केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने बेगूसराय की एक अदालत…