cm yogi

अब बहन-बेटियों के लिए कोई खतरा नहीं बन सकता : सीएम योगी

50 0

मेरठ।  मेजर ध्यानचंद खेल यूनिवर्सिटी के शिलान्यास में सीएम योगी (CM Yogi) ने पिछली सरकारों पर जमकर हमला बोला।  उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों में यहां पर आस्था और बहन-बेटियों की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ होता  था।

दंगों की शृंखला के माध्यम से युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़  होता था, लेकिन जब 2017 में भाजपा सरकार आई तो प्रदेश में दंगे बंद हुए। जिस कांवड़ यात्रा को रोक दिया गया था, वह फिर से शुरू हो चुकी है। यही नहीं, अब बहन-बेटियों के लिए कोई खतरा नहीं बन सकता।

यह बातें उन्होंने रविवार को मेरठ  में करीब 91 एकड़ भूमि में सात सौ करोड़ की लागत से बनने वाले प्रदेश के पहले खेल विश्वविद्यालय मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय के शिलान्यास के दौरान कहीं। उन्होंने कहा कि सरकार ने प्रदेश में एकलव्य क्रीड़ा कोच की स्थापना की है, जो खिलाड़ियों को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धाओं  के लिए योग्य प्रशिक्षण और कोचिंग की व्यवस्था करेगा।

पहले अपराधी खेलते थे थे अवैध कब्जे के टूर्नामेंट : पीएम मोदी

साथ ही उन्हें फेलोशिप देने और उन्हें हर प्रकार का उत्तम माहौल देने का कार्य भी करेगा। उन्होंने कहा कि सरकार उन सभी खिलाड़ियों को आगे बढ़ाने के लिए कार्यवाही कर रही है, जो ओलंपिक, राष्ट्र मंडल खेलों, एशियन गेम्स या किसी भी अंतरराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा में स्थान प्राप्त करेंगे, उनका शासन की सेवाओं में समायोजन हो सके और उन्हें सम्मान प्राप्त हो सके और फिर वह अपनी प्रतिभा का लाभ नई पीढ़ी को दे सकें। इस दिशा में भी सरकार ने निर्णय लेकर आगे बढ़ाने का कार्य किया है।

उन्होंने कहा कि मेरठ और पश्चिमी यूपी का यह क्षेत्र अत्यंत समृद्धशाली रहा है। प्रदेश सरकार ने एक जनपद, एक उत्पाद के तहत जब मेरठ के लिए स्पोर्ट्स आइटम को रखा था। आज देश ही नहीं, दुनिया के तमाम उत्कृष्ट खिलाड़ी मेरठ में बने स्पोर्ट्स आइटम का उपयोग करते हैं।

उन्होंने कहा कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश अपनी ऊर्जा और अपनी प्रतिभा के लिए जाना जाता है। यहां का किसान और जवान सदैव न केवल रार्ष्ट् की सेवा के लिए, बल्कि अन्न उत्पादन में भी अपना योगदान दिया है। हर प्रकार से यह भूमि, ऊर्वरा भूमि रही है। हजारों वर्षों का इसका अपना इतिहास है, लेकिन पिछली सरकारों में जिस प्रकार की विसंगतियां पैदा हुई थी।

सीएम योगी ने कहा कि खेलो इंडिया खेलो के माध्यम से देश की प्रतिभाओं को आगे बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री ने खिलाड़ियों को जिस प्रकार से प्रेरित किया है, वह अभूतपूर्व है और उसका परिणाम हमें अंतरराष्ट्रीय प्रतिस्पदर्धा के साथ ही पिछले साल टोक्यो ओलंपिक और पैरा ओलंपिक में देखने को मिला, जब भारत के खिलाड़ियों का सबसे बड़ा जत्था ओलंपिक में तो गया ही, पहली बार इतने मेडल खिलाड़ियों ने जीते और प्रधानमंत्री ने हर खिलाड़ी को प्रोत्साहित किया और सम्मानित किया।  सीएम योगी ने कहा कि आज हम जब मेरठ में खेल विश्वविद्यालय की स्थापना कर रहे हैं, इसके पीछे भी कारण अभी हाल ही में आपने देखा होगा। सांसद खेल प्रतियोगिता प्रतिस्पर्धा देश के हर क्षेत्र में हुआ। ग्रामीण स्तर से लेकर जनपद तक हजारों खिलाड़ियों ने एक-एक संसदीय क्षेत्र में अलग-अलग खेलों में अपने आप को आगे बढ़ाने का एक अवसर देखा। खिलाड़ियों को अभूतपूर्व सफलता मिली।

डबल इंजन की सरकार युवाओं के दशकों पुराने सपनों में रंग भर रही है। युवाओं को खेलों में अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय स्तर पर अपना जौहर दिखाने के लिए मेजर ध्यान चंद खेल विश्वविद्यालय मील का पत्थर साबित होने वाला है। इससे युवाओं को खेलों में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाने का मौका मिलेगा और खेलेगा यूपी, जीतेगा यूपी।

Related Post

हरियाणा में उभरा नया सियासी समीकरण, सैनी व मायावती मिलाएंगे हाथ

Posted by - February 9, 2019 0
चंडीगढ़। हरियाणा की राजनीति में नए समीकरण बन रहे हैं। इनेलो से नाता तोड़ चुकी बहुजन समाज पार्टी अब कुरुक्षेत्र…
amit shah

अखिलेश बाबू में हिम्मत हो तो श्रीराम मंदिर का निर्माण रोककर दिखाएं : अमित शाह

Posted by - December 31, 2021 0
बरेली। गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने शुक्रवार को बरेली में रोड शो करके रुहेलखंड में चुनावी बिगुल फूंक दिया…
Wasim Rizvi

बगदादी और ओवैसी ए​क जैसे, वह जुबान से फैला रहे है आतंक : वसीम रिजवी

Posted by - November 17, 2019 0
लखनऊ। शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी पर…