राष्ट्रीय युवा महोत्सव-2020 : अब फिट इंडिया दिवस के रूप में मनेगा खेल दिवस- किरेन रिजिजू

147 0

लखनऊ। केंद्रीय खेल व युवा कल्याण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) किरेन रिजिजू ने रविवार को कहा कि अब से हर साल 29 अगस्त को खेल दिवस को फिट इंडिया दिवस के रूप में मनाया जाएगा। रिजिजू रविवार को लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में पांच दिवसीय 23वें राष्ट्रीय युवा महोत्सव-2020 के शुभारम्भ के मौके यह घोषणा की।

युवा मामलों और खेल मंत्रालय तथा उत्‍तर प्रदेश सरकार संयुक्‍त रूप से 23वें राष्‍ट्रीय युवा उत्‍सव 2020 का आयोजन

किरेन रिजिजू ने युवाओं का स्वागत करते हुए कहा कि आप पूरे देश की सांस्कृतिक धरोहर को समेटे हैं। आप फिट रहोगे तो देश फिट रहेगा। उन्होंने कहा कि भारत की असली ताकत युवा है। इस बार युवा महोत्सव की थीम ‘फिट यूथ फिट इंडिया’ है। युवा मामलों और खेल मंत्रालय तथा उत्‍तर प्रदेश सरकार संयुक्‍त रूप से 23वें राष्‍ट्रीय युवा उत्‍सव 2020 का आयोजन कर रहे हैं। सरकार 1995 से राष्‍ट्रीय युवा उत्‍सव का आयोजन कर रही है। उत्‍सव का उद्देश्‍य देश के युवाओं को मंच प्रदान करना है, ताकि उन्‍हें विभिन्‍न गतिविधियों द्वारा अपनी प्रतिभा पेश करने का अवसर दिया जा सके। यह आयोजन प्रधानमंत्री की ‘एक भारत श्रेष्‍ठ भारत’ की प्रतिबद्धता और विजन के अनुरूप किया जा रहा है, ताकि देश की विविधतापूर्ण सामाजिक-सांस्‍कृतिक छवि पेश की जा सके।

अतीत के गौरवशाली क्षणों पर गर्व होने की बजाय लज्जा महसूस होने लगे तो समझ लो अंत आ गया : योगी

इसके पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुख्य समारोह का उद्घाटन इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान परिसर स्थित जर्मन हैंगर पर बने भव्य विवेकानंद पंडाल में किया। उन्होंने कहा कि स्वामी विवेकानंद ने कहा था कि ‘जब कोई मनुष्य अपने पूर्वजों के बारे में ही लज्जित होने लगे तो समझ लो उसका अंत आ गया है।’ यानि जब हमें अपने अतीत के गौरवशाली क्षणों पर गर्व होने की बजाय लज्जा महसूस होने लगे तो समझ लो कि हम भविष्य को स्वयं कुंद कर दे रहे हैं। अतीत से कटा व्यक्ति भविष्य का त्रिशंकु होता है। उसका कोई लक्ष्य नहीं होता है। वह तो भटक जाता है।

भारत के संसाधनों से पलने वाले लोग भारत के खिलाफ करते हैं षड्यंत्र

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वामी विवेकानंद ने कहा था हमारा वेद दुनिया के सबसे प्राचीन ग्रंथ है, अथर्व वेद कहता है कि भारत हमारी माता है और हम सब इसके पुत्र हैं। जिन लोगों को देश के अतीत की जानकारी नहीं वे भारत को एक राष्ट्र नहीं मानते हैं, देश के उच्च शिक्षण संस्थान में नारे लगते हैं। भारत के संसाधनों से पलने वाले लोग भारत के खिलाफ षड्यंत्र करते हैं, पुराण भी हमें भारत की सीमा के बारे में स्पष्ट चित्र प्रस्तुत करते हैं।

केंद्र का बड़ा फैसला- अब NSG कमांडो नहीं करेंगे वीआईपी की सुरक्षा 

मुख्यमंत्री ने कहा कि युवा महोत्सव 65 करोड़ लोगों की प्रेरणा का बनेगा केंद्र बिंदु

मुख्यमंत्री ने कहा कि युवा महोत्स्व के आयोजन का लेकर कहा कि मेरे लिए तो यह अवसर इसलिए और महत्वपूर्ण है, क्योंकि बीते साल हमें कुंभ का आयोजन करने का मौका मिला। उस समय भी आयोजन से पहले लोग यहीं पूछते थे कितने लोग इस कुंभ में आएंगे, मैं कहता था, कुंभ में करीब 24 करोड़ लोगों ने भाग लिया था। उत्तर प्रदेश की ही आबादी 23 करोड़ है। देश भर से इतने लोगों ने भाग लिया। प्रयागराज में कुंभ ने सुरक्षित और स्वच्दता का संदेश दिया। अब लखनऊ में होने वाला यह युवा महोत्सव देश के 65 करोड़ लोगों की प्रेरणा का केंद्र बिंदु बनेगा।

अनेकता में एकता हमारे देश की है विशेषता

अनेकता में एकता’ हमारे देश की विशेषता है। जाति, मत, पंथ, संप्रदाय, वेशभूषा, भाषा, खानपान, रहन-सहन में अनेकता, एकता में तब बदल जाती है, जब वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ‘एक भारत-श्रेष्ठ भारत’ मिशन संग जुड़ती हुई दिखाई देती है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस वर्ष ‘फिट यूथ फिट इंडिया’ की थीम पर हो रहे युवा महोत्सव में विवेकानंद की भव्य प्रतिमा का अनावरण किया।

Loading...
loading...

Related Post

भारतीय मूल की बच्ची का अमेरिका में डंका

कोविड-19 : भारतीय मूल की बच्ची का अमेरिका में डंका, ट्रम्प ने किया सम्मानित

Posted by - May 19, 2020 0
नई दिल्ली। अमेरिका 1.4 मिलियन से अधिक कोरोना संक्रमणों के साथ दुनिया में सबसे बुरी तरह प्रभावित देशों में से…