निर्भया गैंगरेप

निर्भया दुष्कर्म केस में दोषी मुकेश की याचिका पर फैसला सुरक्षित

257 0

नई दिल्ली। निर्भया दुष्कर्म के एक दोषी मुकेश ने दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में याचिका दायर करके कहा है कि वह घटना वाले दिन दिल्ली में नहीं था। मुकेश के वकील मनोहर लाल शर्मा ने याचिका दायर कर कहा है कि मुकेश को 17 दिसंबर 2012 को राजस्थान में गिरफ्तार किया गया था। कोर्ट ने मुकेश की याचिका पर फैसला सुरक्षित रख लिया है।

सुनवाई के दौरान मनोहर लाल शर्मा ने साक्ष्य अधिनियम की धारा 44 का हवाला दिया

सुनवाई के दौरान मनोहर लाल शर्मा ने साक्ष्य अधिनियम की धारा 44 का हवाला दिया। कोर्ट ने पूछा कि क्या आपका वकालतनामा है, तब मनोहर लाल शर्मा ने कहा कि हां। मनोहर लाल शर्मा ने कहा कि मुकेश को गिरफ्तार करने का मूल दस्तावेज नहीं दाखिल किया गया और न ही समय का उल्लेख किया गया है। मनोहर लाल शर्मा ने कहा कि मुकेश को राजस्थान के करौली से 17 दिसंबर को गिरफ्तार किया गया और बाद में समय 16 दिसंबर का डाल दिया गया।

कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते शिरडी सांई मंदिर अनिश्चितकाल के लिए बंद

मनोहर लाल शर्मा ने कहा कि ट्रायल पूरा हो चुका है और अगर कोई आदेश लेने के लिए कुछ छिपाया

मनोहर लाल शर्मा ने कहा कि ट्रायल पूरा हो चुका है और अगर कोई आदेश लेने के लिए कुछ छिपाया गया तो उस आदेश को निरस्त करना चाहिए। पुलिस ने पूरे मामले में फर्जीवाड़ा करके मुकेश को झूठे तरीके से फंसाया है। तब कोर्ट ने कहा कि हम कानून के किस प्रावधान के तहत आपको राहत दें। तब मनोहर लाल शर्मा ने कहा कि साक्ष्य अधिनियम की धारा 44 के तहत है।

सरकारी वकील ने मनोहर लाल शर्मा की दलीलों का विरोध करते हुए कहा कि यह याचिका सुनवाई योग्य नहीं

सरकारी वकील ने मनोहर लाल शर्मा की दलीलों का विरोध करते हुए कहा कि यह याचिका सुनवाई योग्य नहीं है। ये फांसी में देरी करवाने का एक तरीका है। कोर्ट ने कहा कि हाईकोर्ट ने मुकेश के करोली से गिरफ्तारी की बात खारिज कर दी थी। तब सरकारी वकील ने कहा कि इस कोर्ट को अपीलीय क्षेत्राधिकार नहीं है।

निर्भया के चारों दोषियों को 20 मार्च को सुबह 5.30 बजे फांसी देने के लिए डेथ वारंट है जारी 

मनोहर लाल शर्मा ने कहा कि मुकेश को करोली से गिरफ्तार करने की बात सब-इंस्पेक्टर अरविंद ने अपनी गवाही में कबूल की थी लेकिन अभियोजन ने इस बात को छिपाया था। याचिका में कहा गया है कि उसकी मौत की सजा को निरस्त किया जाए। निर्भया के चारों दोषियों को 20 मार्च को सुबह 5.30 बजे फांसी देने के लिए डेथ वारंट जारी किया गया है।

Loading...
loading...

Related Post

नेपोटिज्म पर तापसी का बड़ा बयान

नेपोटिज्म पर तापसी का बड़ा बयान, बोलीं- स्टार किड्स की वजह से कई फिल्में हाथों से निकलीं

Posted by - July 5, 2020 0
मुंबई । सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद से ही बॉलीवुड इंडस्ट्री में खेमेबाजी और भाई-भतीजावाद (नेपोटिज्म) को लेकर…
बांग्लादेश विदेश मंत्री की यात्रा

भारत ने नागरिकता संशोधन पर अमेरिकी आयोग की टिप्पणी को बताया पूर्वाग्रह से ग्रसित

Posted by - December 10, 2019 0
  नई दिल्ली । भारतीय विदेश मंत्रालय ने मंगलवार को ‘अमेरिकी अंतर्राष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता आयोग’ के नागरिकता संशोधन विधेयक और…
दिया मिर्जा

जानें क्यूं फूट-फूटकर रोने लगीं दीया मिर्जा, वीडियो हुआ वायरल

Posted by - January 28, 2020 0
मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री दीया मिर्जा काफी समय से ज्यादा फिल्में नहीं कर रही हैं, लेकिन वह सामाजिक मुद्दों में अपनी…