निर्भया गैंगरेप

निर्भया दुष्कर्म केस में दोषी मुकेश की याचिका पर फैसला सुरक्षित

150 0

नई दिल्ली। निर्भया दुष्कर्म के एक दोषी मुकेश ने दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में याचिका दायर करके कहा है कि वह घटना वाले दिन दिल्ली में नहीं था। मुकेश के वकील मनोहर लाल शर्मा ने याचिका दायर कर कहा है कि मुकेश को 17 दिसंबर 2012 को राजस्थान में गिरफ्तार किया गया था। कोर्ट ने मुकेश की याचिका पर फैसला सुरक्षित रख लिया है।

सुनवाई के दौरान मनोहर लाल शर्मा ने साक्ष्य अधिनियम की धारा 44 का हवाला दिया

सुनवाई के दौरान मनोहर लाल शर्मा ने साक्ष्य अधिनियम की धारा 44 का हवाला दिया। कोर्ट ने पूछा कि क्या आपका वकालतनामा है, तब मनोहर लाल शर्मा ने कहा कि हां। मनोहर लाल शर्मा ने कहा कि मुकेश को गिरफ्तार करने का मूल दस्तावेज नहीं दाखिल किया गया और न ही समय का उल्लेख किया गया है। मनोहर लाल शर्मा ने कहा कि मुकेश को राजस्थान के करौली से 17 दिसंबर को गिरफ्तार किया गया और बाद में समय 16 दिसंबर का डाल दिया गया।

कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते शिरडी सांई मंदिर अनिश्चितकाल के लिए बंद

मनोहर लाल शर्मा ने कहा कि ट्रायल पूरा हो चुका है और अगर कोई आदेश लेने के लिए कुछ छिपाया

मनोहर लाल शर्मा ने कहा कि ट्रायल पूरा हो चुका है और अगर कोई आदेश लेने के लिए कुछ छिपाया गया तो उस आदेश को निरस्त करना चाहिए। पुलिस ने पूरे मामले में फर्जीवाड़ा करके मुकेश को झूठे तरीके से फंसाया है। तब कोर्ट ने कहा कि हम कानून के किस प्रावधान के तहत आपको राहत दें। तब मनोहर लाल शर्मा ने कहा कि साक्ष्य अधिनियम की धारा 44 के तहत है।

सरकारी वकील ने मनोहर लाल शर्मा की दलीलों का विरोध करते हुए कहा कि यह याचिका सुनवाई योग्य नहीं

सरकारी वकील ने मनोहर लाल शर्मा की दलीलों का विरोध करते हुए कहा कि यह याचिका सुनवाई योग्य नहीं है। ये फांसी में देरी करवाने का एक तरीका है। कोर्ट ने कहा कि हाईकोर्ट ने मुकेश के करोली से गिरफ्तारी की बात खारिज कर दी थी। तब सरकारी वकील ने कहा कि इस कोर्ट को अपीलीय क्षेत्राधिकार नहीं है।

निर्भया के चारों दोषियों को 20 मार्च को सुबह 5.30 बजे फांसी देने के लिए डेथ वारंट है जारी 

मनोहर लाल शर्मा ने कहा कि मुकेश को करोली से गिरफ्तार करने की बात सब-इंस्पेक्टर अरविंद ने अपनी गवाही में कबूल की थी लेकिन अभियोजन ने इस बात को छिपाया था। याचिका में कहा गया है कि उसकी मौत की सजा को निरस्त किया जाए। निर्भया के चारों दोषियों को 20 मार्च को सुबह 5.30 बजे फांसी देने के लिए डेथ वारंट जारी किया गया है।

Loading...
loading...

Related Post

परिवहन मंत्री नितिन गडकरी एक कार्यक्रम में हुए बेहोश, फिलहाल हालत स्थिर

Posted by - December 7, 2018 0
मुंबई।अभी -अभी आई खबर के मुताबिक केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता नितिन गडकरी की आज अचानक एक कार्यक्रम…

फोन पर रैली संबोधित करते हुए बोले योगी, ममता ने नहीं दी हेलीकॉप्टर उतारने की मंजूरी

Posted by - February 3, 2019 0
नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के सीएम योगी के हेलीकॉप्टर उतरने के लिए बंगाल सरकार ने मंजूरी नहीं दी। सीएम उत्तर…
काजोल की बेटी नीसा

बेटी नीसा की ट्रोलिंग पर मां काजोल का जबरदस्त जवाब, कहा- ‘भगवान का शुक्र है’

Posted by - March 10, 2020 0
एंटरटेनमेंट डेस्क। बॉलीवुड दुनिया की सुपरहिट्स जोड़ियों में से अभिनेता अजय देवगन और अभिनेत्री काजोल भी एक माने जाते हैं।…