एमपी : बच्चे को बचाने के लिए इकट्ठा हुए 30 लोग कुएं में गिरे, 4 की मौत, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

21 0

मध्य प्रदेश के विदिशा जिले से एक दर्दनाक खबर सामने आई है जहां कुएं में गिरे एक बच्चे को बचाने इकट्ठा हुए दर्जनों लोग कुएं में गिर गए। मिली जानकारी के अनुसार गंजबासौदाके लाल पठार गांव में एक बच्चा कुएं में गिर गया, उसे निकालने के लिए बड़ी संख्या में लोग इकट्ठा हो गए। इसी दौरान कुए के किनारे बना सीमेंटेड स्लैब टूट गया और 30 लोग कुएं के भीतर चले गए, मौके पर ही एनडीआरएफ-एसडीआरएफ की टीम पहुुंच गई।

अब तक 4 लोगों की मौत हो चुकी है, 16 लोग बाहर निकाल लिए गए हैं, 13 अभी भी लापता हैं, सीएम शिवराज चौहान ने दुख जताया है। सीएम के निर्देश के बाद विदिशा जिले के प्रभारी मंत्री विश्वास सारंग भी घटना स्थल के लिए रवाना हो चुके हैं, राहत कार्य में तेजी लाई जा रही है।

विदिशा जिले के प्रभारी मंत्री विश्वास सारंग भी मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद भोपाल से रवाना होकर मौके पर पहुंचे और लगातार राहत और बचाव कार्य निगरानी करते रहे। इस हादसे के बाद मुआवजे का ऐलान किया गया है। मृतकों के परिजनों को 5 लाख रुपये की आर्थिक सहायता, घायलों को 50 हज़ार रुपये और निशुल्क: इलाज की घोषणा की गई है।

दरअसल, गंजबासौदा के लाल पठार गांव में शाम 6:00 बजे 14 साल का लड़का एक कुएं में गिर गया था। तकरीबन 30 फीट गहरे कुएं में 10 से 15 फीट तक पानी था। बच्चे के गिरने के बाद लोगों की भीड़ उसे बचाने के लिए कुएं के आस-पास पहुंच गई। कुएं को ऊपर सीमेंटेड स्लैब से ढका गया था।

जमानत मिलते ही चोकसी ने भारतीय एजेंसियों पर लगाया ‘किडनैपिंग’ का आरोप

लोगों की भीड़ के वजन से अचानक स्लैब टूट गया और कुआं धंस गया। इसके चलते 30 से ज्यादा लोग कुएं में गिर गए। घटना की जानकारी मिलते ही प्रशासन के तमाम अधिकारी मौके पर पहुंचे जेसीबी समेत अन्य मशीनों के जरिए राहत और बचाव कार्य शुरू किया. उधर, रात तकरीबन 11 बजे राहत कार्य में लगा एक ट्रैक्टर भी जमीन के धंसने से गिर गया।

Divyansh Singh

मिट्टी का तन, मस्ती का मन; छड़ भर जीवन, मेरा परिचय।

Related Post

भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम की वीरांगना के बारे में जानें कुछ रोचक बातें

Posted by - May 23, 2019 0
डेस्क। रानी लक्ष्मीबाई मराठा शासित झाँसी राज्य की रानी थीं और 1857 के प्रथम भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम में अंग्रेजी हुकुमत…