मानसून सत्र में विपक्ष के हंगामे को प्रधानमंत्री मोदी ने बताया संविधान और लोकतंत्र का अपमान

117 0

विपक्ष के हंगामे के कारण संसद का मानसून सत्र बुरी तरह प्रभावित हो रहा है और लगातार कार्यवाही टालने की नौबत आ रही है। इस बीच बीजेपी संसदीय दल की बैठक में प्रधानमंत्री ने विपक्ष द्वारा संसद न चलने देने को संविधान और लोकतंत्र का अपमान बताया। पीएम ने कहा- सरकार और पार्टी सांसदों को हर वो कदम उठाना चाहिए, जिससे सदन को सुचारु रूप से चलाया जा सके।

बैठक के बाद जानकारी देते हुए केंद्रीय मंत्री वी. मुरलीधरन ने कहा- दोनों सदनों में विपक्ष का हंगामा संसद का अपमान है। बैठक में पीएम मोदी के साथ केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और अन्य नेता भी शामिल हुए।

BJP संसदीय दल की बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी ने संसद में विपक्ष के हंगामे को लेकर कहा कि यह लोकतंत्र और जनता दोनों का अपमान है।  पिछले हफ्ते बीजेपी सांसदों को संबोधित करते हुए भी प्रधानमंत्री ने कहा था कि विपक्षी दल जानबूझकर ऐसा व्यवहार कर रहे हैं ताकि सरकार गतिरोध दूर करने के अपने प्रयासों में सफल ना हो पाए। पीएम ने कहा था कि कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों के इस रवैये की जनता के समक्ष पोल खोलने की आवश्यकता है।

विपक्षी दल पेगासस जासूसी विवाद और तीन कृषि कानूनों सहित अन्य मुद्दों पर संसद के दोनों सदनों में लगातार हंगामा कर रहे हैं। 19 जुलाई को जब से संसद का मानसून सत्र शुरू हुआ है, तब से ही विपक्ष लगातार पेगासस और किसानों के मुद्दों पर लोकसभा और राज्यसभा में निरंतर विरोध कर रहा है।  हालांकि इस विरोध के बीच कुछ विधेयकों को पारित कर दिया गया है। लेकिन इसके अलावा सदन कोई भी अन्य महत्वपूर्ण कार्य करने में विफल रहा है. बता दें कि संसद का मानसून सत्र 13 अगस्त को समाप्त होगा।

इस बीच, केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी ने कहा, ‘प्रधानमंत्री मोदी ने आज कहा कि हम शुरू से कह रहे हैं कि हम चर्चा के लिए तैयार हैं।  एक माहौल बनाने की कोशिश की जा रही है यह कहकर कि बिल सरकार के हैं. जबकि ये गलत है बिल गरीब लोगों के कल्याण के​ लिए हैं।  प्रधानमंत्री की इच्छा है कि सार्थक और समृद्ध चर्चा होनी चाहिए। ’ 

देश में चल रहे 24 फर्जी विश्वविद्यालयों में 8 यूपी में, वाराणसी संस्कृत विश्वविद्यालय फर्जी

वहीं, केंद्र के खिलाफ विपक्षी एकता को मजबूती देने के लिए राहुल गांधी ने लोकसभा और राज्यसभा के 100 से ज्यादा सांसदों को नाश्ते पर बुलाया. दिल्ली के कन्स्टीट्यूशनल क्लब में 17 पार्टियों के 150 नेता मौजूद रहे. जिनके साथ राहुल गांधी की बैठक हुई।  ब्रेकफास्ट मीट के बाद विपक्षी फ्लोर लीडर्स की बैठक होगी। जिसमें मानसून सत्र के बाकी बचे दिनों के लिए रणनीति तय की जाएगी।

Divyansh Singh

मिट्टी का तन, मस्ती का मन; छड़ भर जीवन, मेरा परिचय।

Related Post

कोरोना वैक्सीन

कोरोना वैक्सीन की ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय में क्वालिटी तय करती है भारत की ये बेटी

Posted by - May 31, 2020 0
नई दिल्ली। ब्रिटेन का ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने का काम तेजी से चल रहा है। वैक्सीन की…
SC ईडी को फटकारा

SC ईडी को फटकारा, कहा आप शिवकुमार मामले में चिदंबरम की दलील कॉपी-पेस्ट की

Posted by - November 15, 2019 0
नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक कांग्रेस के पूर्व मंत्री डीके शिवकुमार को नोटिस जारी की है। ये नोटिस उन्हें…

अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज चेलमेश्वर का बड़ा बयांन

Posted by - November 3, 2018 0
मुंबई। सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज जस्टिस चेलमेश्वर बयां जारी करते हुए कहा है कि,अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को…
टुकड़े-टुकड़े गैंग

गृह मंत्रालय बोला-‘टुकड़े-टुकड़े गैंग’के बारे में नहीं है कोई जानकारी

Posted by - January 21, 2020 0
नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह सार्वजनिक सभाओं में अक्सर…