आजमगढ़ में टला बड़ा हादसा, घाघरा नदी में पलटी नाव, सुरक्षित निकाले गए 12 बच्चें

74 0

आजमगढ़। यूपी के आजमगढ़ के बाढ़ प्रभावित देवारा में सोमवार सुबह एक बड़ा हादसा होते-होते बच गया। बेलहिया ढाला के पास स्कूली बच्चों से भरी नाव अचानक पलट गई, जिससे उस पर सवार बाइक के साथ ही 12 स्कूली बच्चे डूबने लगे। जिन्हें स्थानीय लोगों ने तत्काल नदी में छलांग लगा कर सुरक्षित निकाल लिया। नाव और उस पर लदी बाइक घाघरा नदी में समा गई।

रौनापार थाना क्षेत्र के बेलहिया ढाला के पास बना पुल 2020 में बह गया था। तब से यहां नाव के माध्यम से आवागमन होता आ रहा है। सोमवार सुबह करीब सवा आठ बजे अजगरा मगरवी, माधवपुरा, झंझनपुर, झगरहवा, गलसदिया आदि गांव के दर्जन भर बच्चों के साथ ही एक युवक बृजेश यादव अपनी बाइक लेकर नाव पर सवार हुआ।

ओवरलोड के कारण पलटी नाव

नाव अभी किनारे से थोड़ा ही आगे बढ़ी थी कि अचानक ओवरलोड होने के चलते पलट गई। इस घटना में नाव पर सवार दर्जन भर स्कूली बच्चों के साथ ही बाइक लेकर चढ़ा बृजेश नदी में गिर गए। आनन-फानन आसपास मौजूद लोगों ने नदी में कूद कर डूब रहे बच्चों को किसी तरह बाहर निकाला। जबकि बृजेश की बाइक और नाव घाघरा की जलधारा में समाहित हो गई।

पुलिस के सामने नहीं होती लापरवाही

अंगद यादव ने बताया कि यहां पुलिस होती तो नाव में असुरक्षा नहीं होती और लोग लापरवाही ना करते। नाव ओवरलोड होने के चलते पलट गई। गनीमत रही कि नदी किनारे कुछ लोग मौजूद थे, जिससे बड़ा हादसा होते-होते बच गया। सभी बच्चे अपने अपने घर वापस चले गए। यहां से प्रतिदिन नाव से सैकड़ों बच्चे महुला गढ़वल बांध के दक्षिण पढ़ने के लिए जाते हैं।

जलस्तर में कमी दर्ज की गई

घाघरा नदी के जलस्तर में कमी दर्ज की गई है लेकिन इसके साथ ही कटान में तेजी आई है। दो दिन से बढ़ रहे जलस्तर में रविवार को कमी आई। दोनों गेजों पर नदी का जलस्तर खतरा बिंदु से नीचे है। गांगेपुर श्मशान घाट के पास कटान होने लगा है।

तटवर्ती क्षेत्रों में कटान में आई तेजी

घाघरा का जलस्तर घटने के साथ ही नदी के तटवर्ती क्षेत्रों के गांवों के पास कटान हो रहा है। गांगेपुर और परसिया में कटान से किसान चिंतित हैं। कटान की चपेट में खेत और बाग बगीचे आ रहे हैं। कटान गांव के कई किसान भूमिहीन हो गए हैं। कुछ किसान भूमिहीन होने की कगार पर हैं। परसिया रिंग बंधा भी कटान की चपेट में है।

गांगेपुर के पास कुड़वा रिंग बंधा, गांगेपुर श्मशान घाट के पास कटान कर रही है। हालांकि पहले की अपेक्षा कटान अब कम हुई है। कटान को रोकने के लिए जो कार्य किया जा रहा था वह भी बंद चल रहा है। देवारा खास राजा के बगहवा का पूरा, झगरहवा, साधु का पूरा, बासु का पूरा के पास कृषि योग्य भूमि कटकर घाघरा में समाहित हो रही है।

देवारा क्षेत्र में आवागमन बाधित

देवारा क्षेत्र में जाने वाले संपर्क मार्गों से पानी हट गया है लेकिन कई संपर्क मार्ग कट गए हैं जिससे आवागमन बाधित हो रहा है । लोग दोपहिया, चार पहिया वाहन से नहीं जा पा रहे हैं। किसी की तबीयत खराब होने पर मरीजों को किसी तरह से अस्पताल पर पहुंचाया जा रहा है। सूचना देने पर स्वास्थ्य विभाग की 108 नंबर एंबुलेंस बंधे पर ही आकर रुक जा रही है।

शनिवार को डिघिया गेज पर घाघरा नदी का जलस्तर 70.36 मीटर दर्ज किया गया था जो रविवार को घटकर 70.24 मीटर हो गया। यहां पर नदी का खतरा बिंदू 70.40 मीटर है। वहीं बदरहुंआ गेज पर शनिवार को नदी का जलस्तर 71.34 मीटर दर्ज किया यगा था जो रविवार को घटकर 71.31 मीटर हो गया। यहां पर नदी का खतरा स्तर  71.68 मीटर है।

Related Post

सुलतानपुरः सीएम केजरीवाल को मिली जमानत, 3 नवंबर को होगी अगली सुनवाई

Posted by - October 25, 2021 0
सुल्तानपुर। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सोमवार सुल्तानपुर कोर्ट में पेश हुए। अरविंद केजरीवाल को कोर्ट में एक मुकदमे में…
एटीएस को सौदागार सदर की पत्नी की तलाश

एटीएस को सौदागार सदर की पत्नी की तलाश

Posted by - March 30, 2021 0
जाली नोटों का अवैध कारोबार करने वाले तस्करों ने लॉकाडाउन के बाद सूबे में एक बार फिर अपनी जड़ें मजबूत करनी शुरू कर दी है। इसका खुलासा आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) द्वारा पांच दिन पूर्व नोएडा से गिरफ्तार किये गये जाली नोटों के सौदागर सदर अली ने पूछताछ में किया है एटीएस को सदर की फरार पत्नी की सरगर्मी से तलाश है उस पर पच्चीस हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया है इसके साथ ही एटीएस सदर के अन्य साथियों की भी तलाश की जा रही है। पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह की ब्रेन हैमरेज से हुई मौत एटीएस के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक सदर अली की पत्नी मुमताज की तलाश में टीमें लगायी गयी हैं। गिरफ्तार किये गये सदर अली ने अपना नेटवर्क बरेली, कानपुर नगर व लखनऊ समेत अन्य शहरों में फैला रखा था। वह यूपी के कई तस्करों को पाकिस्तान से आने वाले जाली नोटों की सप्लाई करता था। बीते कुछ माह में भी नकली नोटों की सप्लाई किए जाने के तथ्य सामने आए हैं। सदर के जरिये इस गिरोह से जुड़े सप्लायरों की तलाश की जा रही है। पूर्व में पकड़े गए कई तस्करों के बारे में भी पड़ताल शुरू की गई है। गिरफ्तार किये गये तस्कर सदर से पूछताछ में खुलासा हुआ है कि यूपी में बांदा से जुड़े कई गिरोह पश्चिम बंगाल से जाली नोट लाकर उनकी सप्लाई लखनऊ समेत अन्य शहरों, एनसीआर व दिल्ली तक कर रहे हैं। पूर्व में इस गिरोह के कई सदस्य पूर्व में पकड़े भी जा चुके हैं। उनसे भी पूछताछ में सामने आया था कि जाली नोट पाकिस्तान से बंगलादेश व नेपाल के जरिये यहां सप्लाई किए जा रहे हैं।गौरतलब है कि जाली नोटों की तस्करी में वांछित चल रहे मालदा (पश्चिम बंगाल) निवासी 25 हजार रुपये के इनामी सदर अली को 24 मार्च को एटीएस ने नोएडा के महामाया फ्लाई ओवर के पास गरिफ्तार किया था। रेलवे ट्रैक पर मिला महिला का शव…
Crime

प्रधान उम्मीदवार को मारी गोली, जिला अस्पताल से ट्रॉमा सेंटर रेफर किया गया

Posted by - April 12, 2021 0
सुल्तानपुर । कोतवाली देहात थाना क्षेत्र के कमानगढ़ गांव के पूर्व प्रधान वा मौजूदा उम्मीदवार को बदमासो ने शनिवार रात…

अखिलेश यादव- किसानों-मजदूरों और छात्रों के साथ छल करने वाली भाजपा के दिन पूरे, सत्ता से विदाई तय।

Posted by - June 20, 2021 0
यूपी में विधानसभा चुनाव की सरगर्मी लगातार बढ़ती जा रही है, समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा- यूपी से…