Kunwar Bechain

साहित्य का एक और सूरज अस्त, कुंवर बेचैन साहब का निधन

457 0

लखनऊ। साहित्य का एक और सूरज कोरोना के चलते अस्त हो गया। गुरुवार को कुंवर बेचैन का निधन (Kunwar Bechain dies of corona) हो गया, वह लंबे समय से संक्रमण से लड़ रहे थे।

हिंदी ग़ज़ल और गीत के महत्वपूर्ण हस्ताक्षर कुंवर बेचैन (Kunwar Bechain) का जन्म उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले के उमरी गांव में हुआ था। मुरादाबाद से उनका विशेष लगाव था। चंदौसी के मेला गणेश चौथ और मुरादाबाद के जिगर मंच और कलेक्ट्रेट मैदान के कवि सम्मेलनों और मुशायरों में वह हर वर्ष आते थे।

कुंवर बेचैन (Kunwar Bechain)साहब ने कई विधाओं में साहित्य सृजन किया। कवितायें भी लिखीं, ग़ज़ल, गीत और उपन्यास भी लिखे।

बेचैन’ उनका तख़ल्लुस है असल में उनका नाम डॉ. कुंवर बहादुर सक्सेना है। बेचैन जी गाजियाबाद के एम.एम.एच. महाविद्यालय में हिन्दी विभागाध्यक्ष रहे। उनका नाम सबसे बड़े गीतकारों और शायरों में शुमार किया जाता था। उनके निधन को साहित्य जगत को एक बड़ी क्षति पहुंची है। व्यवहार से सहज, वाणी से मृदु इस रचानाकार को सुनना-पढ़ना अपने आप में अनोखा अनुभव है। उनकी रचनाएं सकारात्मकता से ओत-प्रोत हैं।

‘पिन बहुत सारे’, ‘भीतर साँकलः बाहर साँकल’, ‘उर्वशी हो तुम, झुलसो मत मोरपंख’, ‘एक दीप चौमुखी, नदी पसीने की’, ‘दिन दिवंगत हुए’, ‘ग़ज़ल-संग्रह: शामियाने काँच के’, ‘महावर इंतज़ारों का’, ‘रस्सियाँ पानी की’, ‘पत्थर की बाँसुरी’, ‘दीवारों पर दस्तक ‘, ‘नाव बनता हुआ काग़ज़’, ‘आग पर कंदील’, जैसे उनके कई और गीत संग्रह हैं, ‘नदी तुम रुक क्यों गई’, ‘शब्दः एक लालटेन’, पाँचाली (महाकाव्य) कविता संग्रह हैं।

कवियों में शोक

उनके निधन पर उनकी समकालीन गीतकार डॉ. मधु चतुर्वेदी ने दुख प्रकट किया है। उन्होंने कहा कि कुंवर जी का जाना बहुत दुखद है। हिंदी गीतों की वाचिक परंपरा के हस्ताक्षर के जाने से आए अवकाश को भरा नहीं जा सकता। उन्होंने बताया कि लंदन के हाउस ऑफ़ लॉर्ड्स में दो भारतीय गीतकारों के सम्मान हुआ था। मेरा सौभाग्य है कि वह मैं और कुंवर जी थे। उनके साथ अनेक कार्यक्रम और यात्राएं की, जो अब यादों में हैं।

Related Post

indigo airlines

इंडिगो एयरलाइंस के एक विमान को स्टेयरिंग पायलट के बजाय संभाला एक यात्री ने

Posted by - December 2, 2019 0
नई दिल्ली। बीते शनिवार को दिल्ली एयरपोर्ट पर घनी धुंध से कम दृश्यता की परिस्थितियां के कारण  पुणे से दिल्ली…
Lucknow Journalists Association

LJA अध्यक्ष ने गौ-शाला परिसर में लगाया पीपल का पौधा

Posted by - August 6, 2021 0
लखनऊ। घुरघुरी तालाब-मोहन रोड स्थित मां गौशाला परिसर में “लखनऊ जर्नलिस्ट एसोसिएशन” (Lucknow Journalist Association) के अध्यक्ष एवं “उत्तर प्रदेश…
हिंदू महासभा नेता की हत्या

हिंदू महासभा नेता की हत्या: पोस्‍टमॉर्टम रिपोर्ट, हमलावरों ने नाक पर करीब से मारी थी गोली

Posted by - February 2, 2020 0
लखनऊ। अन्तरराष्ट्रीय हिंदू महासभा के अध्यक्ष रंजीत बच्चन की रविवार सुबह में गोली मारकर हत्या कर दी गई। अब मृतक…