Kannauj's Perfume

कन्नौज की गलियों से यूरोप और मिडिल ईस्ट तक पहुंचेगा कन्नौज का इत्र

52 0

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार (Yogi Government) एमएसएमई (MSMR) के तहत एक जिला, एक उत्पाद (ODOP) को अब वैश्विक स्तर पर ले जाने को बेताब है। इसके तहत पहली बार प्रदेश में इंटरनेशनल इत्र फेस्टिवल (International Perfume Festival) का आयोजन किया जा रहा है। अगले साल फरवरी में होने वाले इस आयोजन में इत्र या परफ्यूम बनाने वाले यूरोपीय और मिडिल ईस्ट समेत तमाम अग्रणी देशों के प्रतिनिधिमंडल को आमंत्रित किया जाएगा। इस प्रतिनिधिमंडल को कन्नौज के इत्र (Kannauj’s Perfume) कारोबारियों से मिलने का मौका मिलेगा। साथ ही उन्हें कन्नौज के इत्र की खूबियों, इसके निर्माण की प्रक्रिया से भी परिचित कराया जाएगा। इसके जरिए कन्नौज के इत्र (Kannauj’s Perfume) कारोबारियों को भी अपने उत्पादों को विदेशी खरीदारों के समक्ष प्रदर्शित करने व वैश्विक व्यापार की संभावनाओं को टटोलने का मौका मिलेगा। गौरतलब है कि पूरी दुनिया में कन्नौज के इत्र की चर्चा होती है। ऐसा कहा जाता है कि कन्नौज की गलियों, यहां की मिट्टी से भी इत्र की महक आती है। अब ये महक पूरी दुनिया में महकने को तैयार है।

विदेशी मेहमान करेंगे कन्नौज का दौरा

जानकारी के मुताबिक, इंटरनेशनल इत्र फेस्टिवल के लिए विदेशी प्रतिनिधिमंडल को लाने की जिम्मेदारी कंफेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री (सीआईआई) की होगी। इस आयोजन के तहत लखनऊ में एक दिन का कार्यक्रम होगा, जिसमें विभिन्न सेमिनार का आयोजन किया जाएगा। इसके बाद सभी विदेशी मेहमानों को कन्नौज ले जाया जाएगा। यहां उन्हें इत्र के उद्यमियों, इत्र निर्माताओं व निर्यातकों से मिलने का मौका मिलेगा। यह एक से दो दिन का टूर होगा, जिसमें विदेशी मेहमान कन्नौज के इत्र (Kannauj’s Perfume) की खूबियों को जानेंगे और विदेशों में इसकी बिक्री की संभावनाओं को परख सकेंगे।

यूरोप समेत कई देश लेंगे हिस्सा

इंटरनेशनल इत्र फेस्टिवल में दुनिया भर के उन देशों के प्रतिनिधि शिरकत करेंगे, जो इत्र, परफ्यूम से जुड़े उद्योंगों से संबंधित हैं। इनमें निर्माता, उद्यमी और विक्रेता सभी शामिल होंगे। खासतौर पर यूरोपीय देश फ्रांस, जर्मनी, स्विट्जरलैंड जैसे देशों के प्रतिनिधि उपस्थित रहेंगे। इसके अलावा दुबई समेत मिडिल ईस्ट के भी कई देश इसमें हिस्सा लेंगे। इन सभी देशों में फ्रांस सबसे अहम है, क्योंकि उसे परफ्यूम इंडस्ट्री में अग्रणी माना जाता है। उसके आसपास के देशों में भी परफ्यूम का काफी काम होता है।

ऑर्गेनिक इत्र को मिलेगा बड़ा बाजार

इंटरनेशनल इत्र फेस्टिवल के आयोजन का मुख्य उद्देश्य दुनिया के इत्र निर्माता देशों व कंपनियों को भारत के, खासतौर पर कन्नौज के इत्र से जोड़ना है। कन्नौज के इत्र (Kannauj’s Perfume) की सबसे खास बात ये है कि यहां इत्र के निर्माण में एसेंसियल ऑयल का इस्तेमाल होता है। यह पूरी तरह ऑर्गेनिक होता है और इसके उपयोगकर्ता को किसी तरह का कोई साइड इफेक्ट या नुकसान नहीं होता। वहीं, ज्यादातर देशों में इत्र या परफ्यूम के निर्माण में एल्कोहल का अधिकाधिक इस्तेमाल होता है। धीरे-धीरे दुनिया का मार्केट एसेंसियल ऑयल की ओर जा रहा है। ऐसे में ये देश भारत की ओर देख रहे हैं। यही वजह है कि इन देशों के परफ्यूम निर्माताओं को इस फेस्टिवल में लाने का लक्ष्य रखा गया है, ताकि अगर वो एसेंसियल ऑयल पर आधारित इत्र की ओर रुख करें तो कन्नौज उनके दिमाग में हो।

Hotel Lavana: आग से हुई जनहानि पर सीएम योगी ने जताया दु:ख, संयुक्त जांच के दिए आदेश

विदेशी मेहमानों को भाएगा इत्र पार्क (Perfume Park) 

विदेशी मेहमानों को लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे पर बन रहे इत्र पार्क में भी ले जाया जाएगा। प्रदेश सरकार 57 एकड़ के क्षेत्र में इत्र पार्क का निर्माण कर रही है। इसका उद्घाटन नवंबर के अंत तक होने की संभावना है। तब तक इसका प्रथम चरण पूर्ण हो जाएगा। पहले चरण में 30 एकड़ पर निर्माण होगा, जबकि दूसरे चरण में बाकी 27 एकड़ पर पार्क का निर्माण किया जाएगा। इत्र पार्क में कन्नौज के छोटे इत्र कारोबारियों को प्लॉट उपलब्ध कराए जाएंगे। यहां पर वो अपने उत्पादों की बड़े स्तर पर प्रदर्शित कर पाएंगे। ये थीमेटिक पार्क होगा। जो लोग एक्सप्रेस-वे से गुजरते हैं या बाहर से आते हैं, उनके लिए टूर की भी सुविधा होगी। इस इत्र पार्क के जरिए सरकार का उद्देश्य है कि यहां जो इंडस्ट्रीज छोटे-छोटे स्केल पर घरों या दुकानों से काम कर रही हैं, उन्हें निकालकर एक ऐसी जगह पर लाया जाएगा जहां उन्हें एडवांस मशीनरी के साथ सामान्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जा सकें।

Related Post

Kanpur

कानपुर हिंसा पर बोले इंस्पेक्टर- शेर हैं बिल्ली नहीं, यूपी है दिल्ली नहीं…

Posted by - June 6, 2022 0
उन्नाव: उन्नाव (Unnao) जिले में तैनात पुलिस इंस्पेक्टर धर्मराज उपाध्याय ने अब कानपुर (Kanpur) के उपद्रवियों को अपनी कविता से…