Delhi High Court

ऐसा लगता है केंद्र चाहता है लोग मरते रहें : दिल्ली हाई कोर्ट

398 0
नई दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय ने बुधवार को कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि केंद्र चाहता है कि लोग मरते रहें (It seems the Center wants people to die)  क्योंकि कोविड-19 के उपचार में रेमडेसिविर के इस्तेमाल को लेकर नए प्रोटोकॉल के मुताबिक केवल ऑक्सीजन पर आश्रित मरीजों को ही यह दवा दी जा सकती है।

न्यायमूर्ति प्रतिभा एम सिंह ने केंद्र सरकार से कहा कि यह गलत है। ऐसा लगता है दिमाग का बिल्कुल इस्तेमाल नहीं हुआ है। अब जिनके पास ऑक्सीजन की सुविधा नहीं है उन्हें रेमडेसिविर दवा नहीं मिलेगी। ऐसा प्रतीत होता है कि आप चाहते हैं लोग मरते रहे।

उच्च न्यायालय ने कहा कि ऐसा लगता है कि केंद्र ने रेमडेसिविर की कमी की भरपाई के लिए प्रोटोकॉल ही बदल दिया है। अदालत ने कहा,’यह सरासर कुप्रबंधन है।’

अदालत कोविड-19 से संक्रमित एक वकील की याचिका पर सुनवाई कर रही थी। उन्हें रेमडेसिविर की छह खुराकों में केवल तीन खुराकें ही मिल पाई थी। अदालत के हस्तक्षेप के कारण वकील को मंगलवार (27 अप्रैल) रात बाकी खुराक मिल गई।

Related Post

ओवैसी

महाराष्ट्र सरकार गठन पर बोले ओवैसी : पहले निकाह होगा, उसके बाद सोचेंगे की बेटा होगा या बेटी

Posted by - November 12, 2019 0
मुंबई। महाराष्ट्र में सरकार गठन के लिए गहमा गहमी के बीच मंगलवार को ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के चीफ असदुद्दीन…
भारत को 173 रन का लक्ष्य

पाक ने फाइनल में पहुंचने के लिए भारत को दिया 173 रन का लक्ष्य

Posted by - February 4, 2020 0
नई दिल्ली। दक्षिण अफ्रीका में मंगलवार को अंडर-19 विश्व कप के पहले सेमीफाइनल में भारतीय गेंदबाजों के आगे पाकिस्तान ने…

दिल्ली दंगा: उमर खालिद पर लगे आरोपों को वकील ने नकारा, कहा- पुलिस के पास साबित करने को कुछ नहीं

Posted by - September 3, 2021 0
दिल्ली में पिछले साल हुए दंगो के मामले में जेल में बंद जेएनयू के छात्र नेता उमर खालिद की जमानत…