CM Dhami

समान नागरिक संहिता का ड्राफ्ट जून तक हो जाएगा तैयार: सीएम धामी

127 0

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (CM Dhami)  ने कहा कि सशक्त उत्तराखण्ड बनाना हमारी प्रतिबद्धता है। राज्य के व्यापक हित में कठोर निर्णय लेने में भी पीछे नहीं हटते। राज्य की जनता ने उम्मीद के साथ एक ही दल की सरकार को दोबारा न चुनने के मिथक को तोड़ा।

रविवार को मालसी स्थित एक होटल में कार्यक्रम में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने यह बातें कही। इस दौरान मुख्यमंत्री ने एक बार फिर जोर देते हुए कहा कि समान नागरिक संहिता का ड्राफ्ट जून तक हो तैयार हो जाएगा। उत्तराखण्ड देश में इस कानून को लागू करने वाला पहला प्रदेश होगा। देश के अन्य राज्य भी इस दिशा में आगे आएंगे।

मुख्यमंत्री (CM Dhami) ने कहा कि कार्य व्यवहार सौम्यता है लेकिन राज्य की जनता हित में बड़े से बड़े निर्णय लेने में संकोच नहीं की जा रही है। सरकार 2025 तक उत्तराखण्ड को देश के अग्रणी राज्यों में सम्मिलित करने के लिए वे प्राण प्रण से जुटे हैं। सशक्त उत्तराखण्ड बनाने की हमारी प्रतिबद्धता है, इसके लिए प्रदेश में समावेशाी विकास एवं सुदृढ़ अर्थव्यवस्था के लिए अनुकूल माहौल तैयार किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री (CM Dhami) ने कहा कि आगामी 10 साल का रोडमैप तैयार करने के निर्देश सभी विभागों को दिए गए हैं। कृषि, बागवानी आदि के साथ प्राथमिक सेक्टरों को भी इसमें सम्मिलित किया जा रहा है। एक लाख पोली हाउसों के निर्माण से 05 लाख लोगों को रोजगार देने की योजना पर भी कार्य हो रहा है। सरकारी नौकरियों से बेरोजगारी दूर नही की जा सकती, इसके लिए स्वरोजगार की योजनाओं को बढ़ावा दिया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि जोशीमठ भू-धसाव से हुए प्रभावितों के साथ राज्य सरकार पूरी तरह सहयोगी के रूप में खड़ी है। इस कठिन दौर में राज्य एवं केन्द्र सरकार द्वारा पूरी मदद दी जा रही है। जोशीमठ को बचाना हमारी प्राथमिकता है।

पीएम का वचन प्रेरणादायी, ‘मन की बात’ से जन-जन जुड़ा: सीएम धामी

मुख्यमंत्री (CM Dhami) ने कहा कि चारधाम में हो रही वर्षा एवं बर्फबारी के बावजूद यात्रा अपने चरम पर है। लोगों की सुरक्षित एवं सुगम यात्रा के लिए कारगर व्यवस्था की जा रही है। जोशीमठ का कुछ क्षेत्र ही भू-धसाव से प्रभावित है। जोशीमठ में यात्रियों के लिए आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध हो, इसपर भी ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि चारधाम यात्रा के लिए देवभूमि के द्वार सभी के लिये खुले हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड धर्म, संस्कृति एवं आध्यात्म के साथ गंगा एवं यमुना का प्रदेश है। राज्य की सीमाएं दो देशों से जुड़ी है। सैन्य बाहुल्य इस देवभूमि में रहने वाले सभी जाति, पंथ, संप्रदाय के लोगों के लिए बिना किसी तुष्टिकरण के सबका साथ, सबका विकास एवं सबका विश्वास की भावना के अनुरूप समान नागरिक संहिता बनाए जाने पर तेजी से कार्य हो रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में सरकारी भूमि पर किसी भी प्रकार का अतिक्रमण नही होने दिया जाएगा। साथ ही ऐसे अतिक्रमणों को स्वयं हटाने के लिए सभी संबंधित से अपेक्षा भी की गई है। तय समय सीमा में अतिक्रमण न हटाए जाने पर उन्हें हटाए जाने की कार्यवाही के भी सख्त निर्देश अधिकारियों को दिए गए हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का उत्तराखण्ड के प्रति विशेष लगाव राज्य के विकास से जुड़ी योजनाओं में साफ झलकता है। शीघ्र ही ऋषिकेश, कर्णप्रयाग रेल लाइन का सपना साकार होने वाला है। इस मौके पर महानिदेशक सूचना बंशीधर तिवारी भी मौजूद थे।

Related Post

दिल्ली दंगाः सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज बोले, ‘शहंशाह’ फिल्म के अमिताभ की तरह काम कर रही दिल्ली पुलिस

Posted by - June 24, 2021 0
सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश, न्यायमूर्ति मदन बी लोकुर ने दिल्ली पुलिस को दिल्ली दंगे को लेकर सख्त टिप्पणी की…
Bengluru night curfew

 कर्नाटक के 7 जिलों में लगाया गया कोरोना कर्फ्यू

Posted by - April 10, 2021 0
बेंगलुरु । कर्नाटक राज्य में कोरोना कर्फ्यू के अंदर बेंगलुरु, मैसूरु, मंगलुरु, कालाबुरागी, बीदर, तुमकुरु, उडुपी-मणिपाल शहर को शामिल किया…
Adi Swarupa

मेंगलुरु की आदि स्वरूपा ने एक मिनट में लिख डाले 40 शब्द, बनाया विशेष रिकॉर्ड

Posted by - September 16, 2020 0
लखनऊ। मेंगलुरु की 16 वर्षीय छात्रा आदि स्वरूपा ने एक मिनट में 40 शब्द लिखकर एक अनोखा वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया…