उत्तराखंड के बाड़ाहोती में चीनी सैनिकों की घुसपैठ, राहुल गांधी ने सरकार पर साधा निशाना

519 0

देहरादून। उत्तराखंड के बाड़ाहोती में चीनी सैनिकों की घुसपैठ की खबरों ने राज्य की खुफिया एजेंसियों के होश उड़ा दिये हैं। खबर है कि चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के सैनिकों ने भारतीय सीमा में बाड़ाहोती क्षेत्र के पास बनी अवस्थापना और एक पुल को क्षतिग्रस्त कर दिया।

रिपोर्ट के मुताबिक, ये घटना 30 अगस्त की है। चीनी सेना के 100 से अधिक जवान बॉर्डर पार कर भारत में घुस आए थे। ये सैनिक उत्तराखंड के बाराहोती इलाके में घुसे थे। ये चीनी सैनिक भारत की सीमा के पांच किलोमीटर अंदर घुसे थे और इनके पास 50 से अधिक घोड़े भी थे। इस घुसपैठ के कुछ घंटों के बाद उत्तराखंड के बाराहोती क्षेत्र से चीनी सैनिक वापस लौट गए थे। एक रिपोर्ट के अनुसार, तुन जुन ला पास को पार करने के बाद चीन के 100 से अधिक सैनिक भारतीय क्षेत्र में पांच किलोमीटर से भी ज्यादा अंदर पहुंच गए थे। रिपोर्ट में ये भी दावा किया गया है कि इन सैनिकों ने लौटने से पहले इस क्षेत्र में स्थित एक पुल पर हमला करते हुए उसे ध्वस्त कर दिया था।

राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर साधा निशाना

इस रिपोर्ट को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए मोदी सरकार पर निशाना साधा है।

हालांकि उत्तराखंड सरकार ने इसकी जानकारी होने से इनकार किया है। इस संबंध में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि अभी ऐसी कोई बात नहीं है। यदि आगे कोई ऐसी जानकारी आएगी तो उसके बारे में बताएंगे। वहीं, अपर मुख्य सचिव गृह आनंद बर्द्धन ने भी कहा कि बाड़ाहोती में घुसपैठ की उन्हें कोई जानकारी नहीं है। राज्य के पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने कहा कि ऐसी कोई जानकारी नहीं मिली है। जबकि चमोली के जिलाधिकारी हिमांशु खुराना और पुलिस अधीक्षक यशवंत सिंह चौहान ने भी मामले में कुछ भी कहने से इनकार कर दिया।

आईटीबीपी और सेना को जानकारी नहीं

कुछ सैनिक घोड़ों पर सवार थे और कुछ पैदल। स्थानीय लोगों से आईटीबीपी को इसकी खबर मिली। सूत्रों के मुताबिक, भारतीय गश्ती दल (आईटीबीपी और सेना) के वहां पहुंचने से पहले ही चीनी सैनिक उस क्षेत्र को खाली कर लौट चुके थे। हालांकि आईटीबीपी और सेना की ओर से भी इस संबंध में कोई अधिकृत जानकारी नहीं दी गई।

स्थानीय लोगों से मिली जानकारी

खबरों के मुताबिक, चीनी घुसपैठ की जानकारी स्थानीय लोगों से आईटीबीपी को मिली। इसके बाद गश्ती दल वहां पहुंचा, लेकिन तब तक चीनी सैनिक वहां से जा चुके थे।

चीन ने कई बार की घुसपैठ की कोशिश

चीन अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। इससे पहले भी वह उत्तराखंड के बाड़ाहोती क्षेत्र में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) को लांघने की गुस्ताखी कर चुका है। सितंबर 2018 में खबरें आई थीं कि चीनी सैनिकों ने बाड़ाहोती में तीन बार घुसपैठ की है।

Related Post

संसद को RSS की शाखा की तरह चलाने की कोशिश करती है भाजपा- बृंदा करात

Posted by - August 14, 2021 0
संसद के काम-काज को लेकर कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (मार्क्सवादी) पोलित ब्यूरो बृंदा करात ने नरेंद्र मोदी सरकार पर जुबानी…
Rajinikanth

रजनीकांत सक्रिय राजनीति के लिए तैयार, 31 दिसंबर को उरतेंगे मैदान में

Posted by - December 3, 2020 0
चेन्नई। तमिल फिल्मों के सुपरस्टार रजनीकांत (rajinikanth) ने अंतत: गुरुवार को तमाम अटकलों को विराम लगा दिया है। उन्होंने आज…
Sanjeeev baliyan

मस्जिदों से एलान कराकर मेरे खिलाफ जुटाई गई भीड़: संजीव बालियान

Posted by - February 23, 2021 0
मुज़फ्फरनगर । जिले के बुढ़ाना विधानसभा इलाके के गांव सौरम में रविवार दोपहर संजीव बालियान (Sanjeev Baliyan) और रालोद समर्थकों…