प्रभावी साझेदारी से वैश्विक अर्थव्यवस्था को मजबूती दे सकता है भारत : Jaishankar

561 0

विदेश मंत्री एस जयशंकर (Jaishankar) ने बृहस्पतिवार को कहा कि जापान, आस्ट्रेलिया जैसे देशों के साथ लचीली आपूर्ति श्रृंखला पहल जैसे कदमों सहित अधिक प्रभावी साझेदारी करके भारत वैश्विक अर्थव्यवस्था को मजबूती प्रदान करने के साथ उसे खतरे की स्थिति से बाहर रख सकता है।

विदेश मंत्री (Jaishankar) ने निकेई द्वारा आयोजित 26वें फ्यूचर आॅफ एशिया सम्मेलन में अपने संबोधन में यह बात कही।

उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस महामारी (कोविड-19) ने देशों के बीच एक दूसरे के बारे में सोच और आकलन को लेकर परिवर्तन लाने का काम किया है और इस तरह दुनिया को नया स्वरूप प्रदान किया है। इसने दुनिया में विश्वसनीय आपूर्ति श्रृंखला के महत्व तथा विश्वास एवं पारदर्शिता की अहमियत को सामने लाने का काम किया है।

विदेश मंत्री (Jaishankar) ने कहा, ऐसे में हमें वृहद वैश्विक क्षमता सृजित करने की जरूरत है ताकि महामारी की चुनौतियों से अधिक प्रभावी ढंग से निपटा जा सके। ऐसा करने के लिये हमें वैश्वीकरण के विकेंद्रीकरण को बढ़ावा देने तथा लचीली आपूर्ति श्रृंखला स्थापित करके वैश्विक अर्थव्यवस्था को खतरे की स्थिति से बाहर रखने की जरूरत है।

जयशंकर (Jaishankar) ने कहा कि यह महामारी हमारी स्मृतियों में सबसे गंभीर हो सकती है लेकिन इसे आवर्ती चुनौती के रूप में देखा जाना चाहिए, न कि एक बार आने वाली चुनौती की तरह।

उन्होंने कहा इसके लिये ऐसे अंतरराष्ट्रीय सहयोग की जरूरत है जिसकी पहले कल्पना नहीं की गई। कोई भी राष्ट्रीय क्षमता, चाहे वह कितनी भी बड़ी क्यों न हो…वह पर्याप्त नहीं हो सकती।

विदेश मंत्री (Jaishankar) ने कहा कि अगर वर्तमान क्षमताओं को मिला दिया जाए तब भी सामूहिक प्रतिक्रिया कम पड़ सकती है,   ऐसे में अब हमें ऐसी उत्प्रेरक घटनाओं से निपटने को लेकर हमारी प्रतिक्रिया एवं वैश्विक तैयारी को लेकर नये सिरे से सोचने की जरूरत है।

उन्होंने कहा, कोविड-19 ने निश्चित तौर पर आपूर्ति श्रृंखला, वैश्विक शासन व्यवस्था, सामाजिक जिम्मेदारी, नैतिकता जैसे मुद्दों के बारे में चर्चा शुरू की है।

विदेश मंत्री (Jaishankar) ने कहा कि जापान, आस्ट्रेलिया जैसे देशों के साथ लचीली आपूर्ति श्रृंखला पहल जैसे कदमों के जरिये अधिक प्रभावी साझेदारी करके भारत वैश्विक अर्थव्यवस्था को मजबूती प्रदान करने के साथ उसे खतरे की स्थिति से बाहर रख सकता है।

उन्होंने कहा कि जहां तक क्वाड व्यवस्था का सवाल है और जिसमें अमेरिका भी शामिल है, इसका भी एजेंडा आज टीके को लेकर साझेदारी, महत्वपूर्ण एवं उभरती तकनीक, आपूर्ति श्रृंखला, सम्पर्क आदि पर केंद्रित है।

जयशंकर (Jaishankar) ने कहा कि हाल ही में यूरोपीय संघ और ब्रिटेन के साथ भारत के शिखर सम्मेलन में मुक्त व्यापार समझौते पर बातचीत को लेकर प्रगति दिखी जो उल्लेखनीय है।

Related Post

ममता का पीएम पर वार

पश्चिम बंगाल चुनाव : झारग्राम में कोरोना संकट को लेकर केंद्र पर बरसीं ममता

Posted by - March 17, 2021 0
कोलकाता। पश्चिम बंगाल चुनाव के मद्देनजर ममता बनर्जी (CM Mamata Banergee) ने आज झारग्राम में जनसभा की। उन्होंने कोरोना संकट…
up panchayat election

पंचायत चुनाव: कर्मचारियों में कोरोना का खौफ, संक्रमण के बावजूद ड्यूटी लगाने का आरोप, प्रशासन के पसीने छूटे

Posted by - April 22, 2021 0
लखनऊ।  पंचायत चुनाव (UP Panchayat Election) का तीसरा चरण 26 अप्रैल को है। इसके लिए मुसीबतें बढ़ती जा रही हैं।…
जम्मू- कश्मीर

जम्मू- कश्मीर : किश्तवाड़ आतंकी हमले में घायल आरएसएस नेता की मौत, लगा कर्फ्यू

Posted by - April 9, 2019 0
नई दिल्ली। जम्मू- कश्मीर के किश्तवाड़ जिले में मंगलवार को आतंकवादियों ने आरएसएस नेता के निजी सुरक्षा अधिकारी (पीएसओ) का…
up panchayat election

UP पंचायत चुनाव: बरेली में पूर्व प्रधान की हत्या, कई जिलों में पथराव-फायरिंग और हंगामा

Posted by - April 19, 2021 0
लखनऊ। पंचायत चुनाव ( up panchayat chunav) के दूसरे चरण में लखनऊ समेत 20 जिलों में वोटिंग जारी है। सुरक्षा…