helicopter services in mathura vrindavan

.. तो अब हेलीकॉप्टर से कर सकेंगे मथुरा और वृंदावन कुंभ के दर्शन

652 0

मथुरा। जिले में सुविधाओं की उड़ान को लगातार पंख लग रहे हैं। काशी में आने वाले श्रद्धालु, पर्यटक अब शहर का हवाई दर्शन कर सकेंगे। काशी में हवाई दर्शन की व्यवस्था शुरू होने जा रही है।  यूपी के मथुरा में वृन्दावन कुंभ का आनन्द लेने के लिए प्राइवेट कम्पनी पारस एविएसन ने हेलीकॉप्टर सेवा शुरू कर दी गई है, जिसमें वृन्दावन परिक्रमा को भी शामिल किया गया है। कम्पनी के एमडी विशाल जैन ने आज यहां यह जानकारी दी।

Congress ने बजट पर सरकार को घेरा, कहा- इस बार का बजट सबसे निराशाजनक

उन्होंने बताया कि ज्वाय राइड के नाम से शुरू की गई यह सेवा वृन्दावन से शुरू होकर वृन्दावन पर ही समाप्त होगी। इसके तहत वृन्दावन के सभी प्रमुख मन्दिरों को शामिल किया गया है। प्रेम मन्दिर से शुरू की गई सेवा के तहत परिक्रमा मार्ग को भी लिया गया है, लेकिन कंपनी का मुख्य फोकस वृन्दावन कुंभ होगा, जिसमें श्रद्धालु न केवल कुंभ को देख सकेंगे बल्कि नवनिर्मित देवरहा घाट, शाही स्नान एवं यमुना महारानी के दर्शन भी कर सकेंगे।

UP Budget 2021-22 : निर्माणाधीन भगवान श्रीराम एयरपोर्ट के लिए 101 करोड़ रुपये

उन्होंने बताया कि पांच छह मिनट की यह सेवा विशेषकर उन लोगों के लिए शुरू की गई है जो वृद्ध हैं या आथ्रार्इटिस जैसे रोगों से ग्रसित होने के कारण न तो वृन्दावन की परिक्रमा कर सकते है और न ही वृन्दावन कुभ में पैदल चल सकते हैं। वृन्दावन कुंभ के लिए उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से मेला अधिकारी नागेन्द्र प्रताप ने इस बार आदर्श व्यवस्थाएं की हैं। अखाड़ों के महन्त भी स्वीकार करते हैं कि वृन्दावन कुंभ के लिए जिस प्रकार की व्यवस्थाएं की गई हैं ऐसी व्यवस्थाएं पूर्व में नहीं की गई हैं।

UP Budget 2021: धार्मिक पर्यटन को लेकर UP सरकार ने अयोध्या व वाराणसी के लिए खोला खजाना

विशाल जैन ने बताया कि टिकट हेलीपैड पर ही मिलेगा तथा एक बार में चार लोग ही इस सेवा का आनन्द ले सकेंगे। उन्होंने बताया कि सुबह दस से शाम छह 6 बजे तक चलने वाली यह सेवा युवाओं के लिए एक आकर्षक ज्वाय राइड सिद्ध होगी क्योंकि हेलीकॉप्टर पर बैठकर जमीन की चहल पहल देखने का अपना अलग ही आनन्द है तो सीनियर सिटीजन वृन्दावन कुंभ की भव्यता का आनन्द ले सकेंगे।

Related Post

यूपी : 5 महीने बीतने के बाद भी पंचायत चुनाव में जान गवाने वाले लोगों के परिजनों को नहीं मिली मदद

Posted by - August 28, 2021 0
उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के दौरान करीब 1600 कर्मचारियों की मौत हुई थी, इसके पीछे कोरोना के बीच चुनाव…