हौंसले को सलाम

हौंसले को सलाम : बरेली की साफिया ऑक्सीजन सिलेंडर संग दे रही है यूपी हाईस्कूल परीक्षा

202 0

बरेली। बरेली की हाईस्कूल की छात्रा साफिया जावेद के भले ही फेफड़े कमजोर पड़ चुके हैं, लेकिन उसका पढ़ाई के प्रति जुनून यथावत बना हुआ है। बता दें कि पिछले पांच वर्ष से बीमार चल रही साफिया जावेद को हर वक्त ऑक्सीजन के सहारे ही रहना पड़ता है। वह ऑक्सीजन सिलेंडर के सहारे बैठकर परीक्षा दे रहीं हैं। शिक्षा विभाग ने भी उसकी लगन देखकर हर प्रकार की सुविधा प्रदान की है।

साफिया ने कहा कि वह बीमार जरूर है पर कमजोर नहीं और वह अपनी मंजिल पाकर रहेगी

यूपी बोर्ड की परीक्षा में लाखों छात्र-छात्राओं के बीच बरेली की साफिया जावेद भी शामिल हुई हैं। वह ऑक्सीजन सिलेंडर लगाकर परीक्षा केंद्र पहुंचती है। अपनी परीक्षा देने के बाद वापस घर का रुख कर लेती हैं। परीक्षा केंद्र के अध्यापक के साथ ही बच्चे तथा अन्य अभिभावक उसके जज्बे की तारीफ करते नहीं थक रहे हैं। फेफड़ों की बीमारी के चलते छात्रा को डॉक्टर्स ने 24 घंटे ऑक्सीजन सिलेंडर के सहारे रहने की बात कही है। साफिया ने कहा कि वह बीमार जरूर है पर कमजोर नहीं और वह अपनी मंजिल पाकर रहेगी।

साफिया जावेद बरेली के राजकीय बालिका इंटर कॉलेज से हाईस्कूल की दे रही है प्राइवेट परीक्षा 

साफिया जावेद बरेली के राजकीय बालिका इंटर कॉलेज से हाईस्कूल की प्राइवेट परीक्षा दे रही है। साफिया को बीते पांच वर्ष से बीमारी ने जकड़ रखा है। फेफड़ों की परेशानी के साथ-साथ टीबी की बीमारी भी हो गई है। फेफड़े कमजोर होने के चलते उसका सांस लेना काफी मुश्किल है। डॉक्टरों ने छात्रा को 24 घंटे ऑक्सीजन पर रहने की सलाह दी है। और उसी के सहारे वह पिछले एक साल से जीवन जी रही है।

जानें कौन हैं भागीरथी अम्मा? जिनके पीएम नरेंद्र मोदी हुए मुरीद 

साफिया ने अपनी बीमारी को कमजोरी न बनाते हुए ऑक्सीजन सिलेंडर के सहारे ही परीक्षा कक्ष में बैठकर परीक्षा देने की ठान ली

बता दें कि साफिया जावेद ने हाईस्कूल का प्राइवेट फॉर्म भरा था और जब परीक्षा देने का समय आया तो उसकी हिम्मत जवाब दे रही थी कि वह ऑक्सीजन सिलेंडर के सहारे परीक्षा कक्ष में बैठकर तीन घंटे परीक्षा कैसे दे पाएगी? ऐसे में घरवालों ने भी उसका साथ दिया। घर के लोगों की हौंसला अफजाई से साफिया में भी परीक्षा देने की हिम्मत आई और उसने अपनी बीमारी को कमजोरी न बनाते हुए ऑक्सीजन सिलेंडर के सहारे ही परीक्षा कक्ष में बैठकर परीक्षा देने की ठान ली।

अब हर परीक्षा में साफिया ऑक्सीजन सिलेंडर के सहारे बैठकर तीन घंटें की  देती हैं परीक्षा

साफिया जावेद के घर वालों ने लिखित प्रार्थना पत्र देकर कॉलेज प्रशासन से उसको परीक्षा कक्ष में ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ बैठने की अनुमति ले ली। कॉलेज प्रशासन ने भी छात्रा के जज्बे को देखते हुए परीक्षा कक्ष ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ उसको परीक्षा की अनुमति दे दी। अब हर परीक्षा में साफिया ऑक्सीजन सिलेंडर के सहारे बैठकर तीन घंटें की परीक्षा देती हैं।

Loading...
loading...

Related Post

रामनाथ कोविंद

कानपुर में तकनीक का बहुत पहले से किया जा रहा है बेहतर प्रयोग: रामनाथ कोविंद

Posted by - November 30, 2019 0
कानपुर। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा है कि कानपुर आने पर मुझे बहुत खुशी मिलती है। उन्होंने कहा कि यह…