GBC 4.0

GBC 4.0: 5 हजार करोड़ से अधिक के निवेश से बदलेगी सहारनपुर मंडल की तस्वीर

25 0

लखनऊ । प्रदेश में ₹10 लाख करोड़ के निवेश धरातल पर उतारे जा चुके हैं। गत माह आयोजित हुए ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी (GBC 4.0) के बाद प्रदेश के सभी 18 मंडलों में बड़े पैमाने पर निवेश को धरातल पर उतारा गया है। हजारों करोड़ रुपए की विभिन्न परियोजनाओं से मंडलों में न केवल उद्योग का वातावरण बनेगा, बल्कि बड़े पैमाने पर रोजगार भी सृजित होंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) की स्पष्ट मंशा है कि प्रदेश के नौजवानों को नौकरी की तलाश में प्रदेश से बाहर न जाना पड़े, ऐसे में राज्य के विभिन्न मंडलों में हो रहे हजारों करोड़ रुपए के निवेश से नई उम्मीद जगी है।

बात करें सहारनपुर मंडल (Saharanpur Division) की तो इसमें शामिल तीन जिलों, मुजफ्फरनगर, शामली और सहारनपुर में ₹50 करोड़ से अधिक की 14 बड़ी परियोजनाओं पर सबकी निगाहें टिकी हैं। ₹5435 करोड़ की ये परियोजनाएं अपने साथ 10 हजार से अधिक रोजगार भी लेकर आ रही हैं। इन परियोजनाओं में इथनॉल प्लांट, सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट, विद्युत ट्रांसमिशन, प्राइवेट इंडस्ट्रियल प्लांट, वुडेन हैंडिक्राफ्ट, होटल इंडस्ट्री, डिस्टलरी और सरिया निर्माण जैसे उद्योग शामिल हैं।

मुजफ्फरनगर जिले में सर्वाधिक निवेश

GBC 4.0 के जरिए सहारनपुर मंडल अंतर्गत तीनों जिलों में मुजफ्फरनगर जनपद में सर्वाधिक निवेश धरातल पर उतारने में सफलता मिली है। 50 करोड़ से अधिक का निवेश करने वाली पांच परियोजनाओं से ₹2,811 करोड़ का निवेश धरातल पर उतर रहा है। इससे 1,420 रोजगार सृजित होंगे। मुजफ्फरनगर में जो बड़े उद्योग समूह निवेश कर रहे हैं उनमें सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट में जीसी इंडिया सॉल्यूशन प्रा.लि. की ओर से ₹1480 करोड़ का निवेश किया जा रहा है, इससे लगभग 500 रोजगार सृजित होंगे।

इसी प्रकार दीपावली पूजा बॉक्स निर्माण के लिए रेशु एडवर्टाइजिंग प्रा.लि. की ओर से ₹600 करोड़ का निवेश हो रहा है, जिससे 150 रोजगार सृजित होंगे। वहीं वुड बेस्ड प्रॉडक्ट मैन्यूफैक्चरिंग में सप्तम डिकोर प्रा.लि. की ओर से ₹301 करोड़ का निवेश हुआ है, जिससे 300 रोजगार सृजित होंगे। वहीं टीएमटी सरिया निर्माण के लिए स्वरूप स्टील इंडस्ट्री प्रा.लि. की ओर से ₹270 करोड़ का निवेश किया गया है। इससे 325 रोजगार के अवसर बनेंगे। इसके अलावा डिस्टलरी निर्माण के लिए अल्कोबुल्स लि. ने ₹160 करोड़ का निवेश किया है, जिससे 145 रोजगार के अवसर सृजित होंगे।

सहारनपुर में सबसे ज्यादा रोजगार

सहारनपुर मंडल के तीनों जनपदों में से मुख्यालय जनपद यानी सहारनपुर में सर्वाधिक रोजगार सृजित होने की संभावना है। यहां ₹1,314 करोड़ की परियोजनाओं से 7249 रोजगार के अवसर पैदा होंगे। ₹50 करोड़ से अधिक की चार परियोजनाएं यहां मूर्त रूप ले रही हैं। इनमें लकड़ी के हैंडिक्राफ्ट के एक्सपोर्ट के लिए सहारनपुर हैंडिक्राफ्ट डेवलपमेंट सेंटर की ओर से ₹604 करोड़ का निवेश हुआ है, जिससे 2000 रोजगार के अवसर पैदा होंगे।

सीएम योगी ने एक्स पर बदला अपना बायो, जोड़ा- ‘मोदी का परिवार’

इसी प्रकार पुलत्स्य इंडस्ट्रियल पार्क लिमिटेड की ओर से प्राइवेट इंडस्ट्रियल पार्क के लिए ₹500 करोड़ का निवेश किया गया हे। इससे 5000 रोजगार के अवसर सृजित होंगे। इसी के साथ कॉमर्शियल प्लॉट डेवलपमेंट के क्षेत्र में कॉस्मोस इन्फ्रा इंजीनियरिंग इंडिया प्रा.लि की ओर से ₹130 करोड़ का निवेश किया गया है, जिससे 150 रोजगार सृजित होंगे। वहीं सीबीजी प्लांट के लिए सिनर्जी टेलटेक प्रा.लि. की ओर से ₹80 करोड़ का निवेश हुआ है, जिससे तकरीबन 100 की संख्या में रोजगार के अवसर पैदा होंगे।

शामली में दो हजार नौकरियां देंगी ये पांच परियोजनाएं

सहारनपुर मंडल के तीसरे जिले शामली में भी निवेशकों ने रुचि दिखाते हुए ₹1,310 करोड़ का निवेश किया है। ₹50 करोड़ से अधिक का निवेश करने वाली पांच कंपनियों के जरिए शामली में दो हजार नौकरियों के अवसर सृजित होंगे। इनमें पेपर एंड पेपर क्रेप्ट के क्षेत्र में सिक्का पेपर प्रा.लि. की ओर से ₹400 करोड़ का निवेश किया गया है, यहां 300 की संख्या में रोजगार का सृजन होगा। इसी प्रकार ज्ञानचेतना एजुकेशनल सोसाइटी की ओर से मेडिकल कॉलेज के लिए ₹300 करोड़ का निवेश किया गया है, यहां 1200 लोगों को रोजगार मिलेगा।

वहीं 400 केवी मेरठ-शामली डीसी लाइन बिछाने के लिए मेसर्स मेघा इंजीनियरिंग एंड इन्फ्रास्ट्रक्चर लि. की ओर से ₹165 करोड़ का निवेश किया जाएगा, इसके लिए 50 की संख्या में रोजगार सृजित होगा। इसके अलावा इथनॉल प्लांट के लिए सुपीरियर बायोफ्यूल्स प्रा.लि. की ओर से ₹125 करोड़ का निवेश किया जाएगा, जिससे 350 लोगों को काम मिलेगा। यही नहीं रेडिसन पैलेस ग्रुप की ओर से ₹110 करोड़ से होटल का निर्माण होगा, जहां 100 लोगों को प्रत्यक्ष रोजगार के अवसर मिलेंगे।

Related Post