जी एस लक्ष्मी

Flashback 2019: ICC में पहली महिला रेफरी बन जी एस लक्ष्मी रचा इतिहास

460 0

नई दिल्ली। भारत की पूर्व महिला क्रिकेटर जी एस लक्ष्मी पुरुषों के वर्चस्व वाले अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल ( ICC ) मैच की रेफरी चुनी गई। यह उपलब्धि हासिल कर जी एस लक्ष्मी ने एक नया इतिहास रच दिया है। लक्ष्मी को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल यानि आईसीसी ने मैच रेफरी के अंतरराष्ट्रीय पैनल में शामिल किया है। इस तरह के पैनल में शामिल होने वाली वह पहली भारतीय महिला बनी हैं।

जी एस लक्ष्मी रेलवे की तरफ से शुरू किया था खेलना

जी एस लक्ष्मी देश की सबसे सफल घरेलू महिला क्रिकेट टीम रेलवे के साथ खेलती रही हैं। उन्हें अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर भले ही देश का प्रतिनिधित्व करने का मौका नहीं मिला, लेकिन वह 1999 में इंग्लैंड के दौरे पर गई महिला क्रिकेट टीम की सदस्य थीं। आंध्र प्रदेश के राजामुंदरी में 23 मई 1968 को जन्मीं लक्ष्मी जमशेदपुर में पली और बड़ी हुईं। उनको क्रिकेट खेलने में रुचि के कारण 1986 में दसवीं की परीक्षा में वह बेहतर अंक नहीं ला पाईं। इस कारण उन्हें कॉलेज में दाखिला मिलना मुश्किल हो गया। तब उनके पिता ने क्रिकेट के खेल में उनकी महारत के दम पर खेल कोटे से उनका दाखिला कराया। इसके साथ ही कॉलेज प्रशासन को यह विश्वास दिलाया कि वह उनकी प्रमुख तेज गेंदबाज हो सकती हैं।

पिता के वादे को पूरा करके दिखाया जी एस लक्ष्मी ने

जी एस लक्ष्मी ने अपने पिता द्वारा कॉलेज प्रशासन से किए गए वादे को पूरा करते हुएअपनी गेंदबाजी से सबको प्रभावित किया। इसी का नतीजा था कि 1989 में उन्हें दक्षिण मध्य रेलवे में नौकरी मिली और वह हैदराबाद चली गईं। यहां से उनका रेलवे की टीम के साथ खेलने का सिलसिला शुरू हुआ। साल 2008 में बीसीसीआई ने महिला रेफरियों को घरेलू क्रिकेट में मौका देना शुरू किया और लक्ष्मी इस काम के लिए चुने गए पांच महिला रेफरी के शुरूआती समूह का हिस्सा बनीं। 2014 में बीसीसीआई ने 120 मैच रेफरी के लिए अपनी तरह की पहली योग्यता परीक्षा का आयोजन किया और लक्ष्मी सहित 50 रेफरी का चयन किया, जिन्हें लड़कों और पुरुषों के घरेलू मैचों में अपनी सेवाएं देनी थीं।

भारत-पाक के 1971 युद्ध ने इंदिरा गांधी को लोकप्रियता के शिखर पर पहुंचाया 

साल 2004 में क्रिकेट से ले लिया था संन्यास

साल 2004 में जीएस लक्ष्मी ने संन्यास ले लिया था। इसके बाद लक्ष्मी ने कोचिंग का रूख किया। इसके बाद दक्षिण मध्य रेलवे में अपनी सेवाएं देती रहीं। उसके बाद से लक्ष्मी 19 वर्ष से कम उम्र के खिलाड़ियों की कूच बिहार ट्राफी में अपनी सेवाएं दे रही हैं। इसके अलावा वह महिलाओं के तीन एक दिवसीय अन्तरराष्ट्रीय मैचों और महिलाओं के तीन टी20 मैचों में रेफरी रहीं। महिलाओं के टी20 चैलेंज मुकाबले में भी वह सभी चार मैचों में रेफरी रहीं। क्रिकेट के मैदान में दोनो टीमों के 11-11 खिलाड़ियों, अंपायर और हजारों दर्शकों के अलावा रेफरी एक ऐसा शख्स होता है, जो खेल की तमाम बारीकियों का जानकार होता है और मैच के दौरान होने वाले नियमों के किसी भी उल्लंघन पर नजर रखता है।

मैच रेफरी की होती है बड़ी जिम्मेदारी

क्रिकेट के खेल में मैच रेफरी मैदान में एक क्षण के लिए भी नजर नहीं आता, लेकिन मैच की हर छोटी-बड़ी गतिविधि पर नजर बनाए रखता है। वह मैच के दौरान न तो खेल को प्रभावित कर सकता है और न ही नतीजे को, लेकिन मैच रेफरी यह सुनिश्चित करता है कि मैच के दौरान दोनों ही टीमों के खिलाड़ी आईसीसी की क्रिकेट आचार संहिता का पूरी तरह से पालन करें। अगर किसी खिलाड़ी द्वारा इसका उल्लंघन किया जाता है। तो उसके लिए सजा का निर्धारण करना मैच रेफरी का काम होता है। प्रत्येक मैच के बाद मैच के रेफरी द्वारा आईसीसी को एक रिपोर्ट सौंपी जाती है, जिसके अंतर्गत मैच में खेलने वाले सभी प्लेयर्स व अंपायर की ऐसी गतिविधियों व घटनाक्रमों का विशेष रूप से उल्लेख होता है।

Related Post

कोलकाता बनाम मुंबई

IPL 2019: मुंबई ने जीता टॉस, कोलकाता ने लिया पहले बल्लेबाजी का फैसला

Posted by - May 5, 2019 0
स्पोर्ट्स डेस्क।  मुंबई और कोलकाता के बीच रविवार यानी आज इंडियन टी-20 लीग का 56वां मुकाबला मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम…
पीएम मोदी

पीएम मोदी सोशल मीडिया को करेंगे गुडबाय, बॉलीवुड सेलेब्स बोले- ‘एक और सर्जिकल स्ट्राइक’

Posted by - March 3, 2020 0
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोशल मीडिया छोड़ने पर विचार कर रहे हैं। इस बाता की जानकारी पीएम मोदी ने…
सोफी डिवाइन

न्यूजीलैंड क्रिकेट : सोफी डिवाइन महिला क्रिकेट टीम की स्थायी कप्तान नियुक्त

Posted by - July 9, 2020 0
नई दिल्ली। न्यूजीलैंड क्रिकेट ने सोफी डिवाइन को महिला क्रिकेट टीम की स्थायी कप्तान नियुक्त किया है। सोफी एमी सैटर्थवेट…
महाराष्ट्र सरकार

महाराष्ट्र सरकार पर SC का फैसला, बुधवार शाम पांच बजे तक हो बहुमत परीक्षण

Posted by - November 26, 2019 0
नई दिल्ली। महाराष्ट्र सरकार गठन पर चल रहे सियासी ड्रामा पर सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को बड़ा फैसला सुनाया है।…