Holi

100 साल बाद होली पर चंद्र ग्रहण, इस दिन भूल कर न करें ये गलतियां

27 0

साल का पहला चंद्र ग्रहण होली (Holi)  के दिन 25 मार्च को लगने वाला है. लेकिन क्या आप जानतें हैं चन्द्र ग्रहण हो या सूर्य ग्रहण दोने के दौरान कई बातों का ध्यान रहना बेहद आवश्यक है. आपको बता दें, ज्योतिष शास्त्र में चंद्र ग्रहण का विशेष महत्व है. सूर्य और चंद्रमा के बीच जब पृथ्वी आ जाती है तो चंद्र ग्रहण लगता है. विज्ञान में इसे खगोलीय घटना माना जाता है, वहीं पौराणिक मान्यताओं में इसे राहु-केतु से जोड़कर देखा जाता है.

इस बार चंद्र ग्रहण फाल्गुन मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि यानी 25 मार्च को लगेगा. इसी दिन होली (Holi) भी मनाई जाएगी. होली पर चंद्र ग्रहण का ये संयोग करीब 100 साल बाद बना है. चंद्र ग्रहण सुबह 10:23 मिनट से लेकर दोपहर 03: 02 मिनट तक रहेगा. यह चंद्र ग्रहण कन्या राशि में लगेगा. यह एक उपच्छाया चंद्र ग्रहण होगा. यह चंद्र ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा.

होली (Holi)  पर नहीं पड़ेगा कोई प्रभाव 

भारत में दिखाई न देने की वजह से होली पर इस चंद्र ग्रहण का कोई प्रभाव नहीं होगा. हालांकि ग्रहण का प्रभाव हर राशियों पर पड़ता है. चंद्र ग्रहण के दौरान कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है.

गर्भवती महिलायें गहर से बहार न निकलें 

चंद्र ग्रहण के समय गर्भवती महिलाओं को भूलकर भी घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए. इस समय गर्भवती महिलाओं को किसी भी नुकीली चीज का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए. चंद्र ग्रहण के दौरान भूलकर भी देवी-देवताओं की प्रतिमाओं को स्पर्श नहीं करना चाहिए. ग्रहण की समाप्ति के बाद पूरे घर में गंगाजल का छिड़काव करना चाहिए.

खाने में रखें ये परहेज 

चंद्र ग्रहण के समय कुछ भी बनाने और खाने से बचना चाहिए क्योंकि माना जाता है कि ग्रहण के समय भोजन अशुद्ध हो जाता है. अगर भोजन पहले से बना है तो उसमें तुलसी के पत्ते डाल दें. चंद्र ग्रहण की रात श्मशान घाट या फिर नकारात्मक जगहों पर जाने से बचना चाहिए.

सोना वर्जित 

चंद्र ग्रहण के समय सोना वर्जित माना जाता है. इसलिए ग्रहण के समय बिल्कुल भी ना सोए इससे नकारात्मक प्रभाव पड़ता है. ग्रहण की अवधि में बाल, नाखून या दाढ़ी कटवाना अशुभ माना जाता है.

Related Post