VTS

वीटीएस से मिली पीएमजीएसवाई में एफडीआर टेक्नोलॉजी को रफ्तार

108 0

लखनऊ। योगी सरकार (Yogi Government) की ओर से व्हीकल ट्रैकिंग सिस्टम (VTS) के जरिए प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना की गुणवत्ता, समयबद्धता और कार्य में पारदर्शिता की मॉनीटरिंग का असर दिखने लगा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) किसानों की आय कई गुना बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। ऐसे में उन्होंने पीएमजीएसवाई को रफ्तार देने के लिए जीपीएस लैस वीटीएस को अपनाने के लिए विभाग को निर्देश दिये थे ताकि गांवों की सड़कों की लाइफ लंबी हो और इसकी लागत काफी कम हो। मालूम हो कि विभाग पहले से ही इस पर काम कर रहा है। विभाग गांवों की सड़क बनाने में फुल डेप्थ रिक्लेमेशन (FDR) तकनीक का इस्तेमाल कर रहा है। उत्तर प्रदेश इस तकनीक का इस्तेमाल करने वाला देश का पहला राज्य है। विभाग की यह तकनीक पूरे देश में मॉडल के रूप में उभरी है।

अब तक 950 से अधिक उपकरण और मशीनरी में लगाए गए वीटीएस (VTS) 

उप्र ग्रामीण सड़क विकास अभिकरण के निदेशक भानू चंद्र गोस्वामी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर अब तक पीएमजीएसवाई के तहत गांव की सड़कों को बनाने में प्रयोग में लाई जा रहे करीब 950 से अधिक उपकरण और मशीनरी पर जीपीएस आधारित वीटीएस (VTS) को लगाया जा चुका है। वहीं इसकी मॉनिटरिंग के लिए यूपीआरआरडीए में सेंट्रल कमांड सेंटर की स्थापना की गई है, जहां से पल-पल की जानकारी अपडेट होती है जैस किस साइट पर कौन सी मशीन से काम किया गया, कितने घंटे काम किया गया, किए गए काम की गुणवत्ता ठीक है या नहीं, निश्चित समय सीमा के तहत काम हो रहा है या नहीं आदि।

भारत के आखिरी गांव की उम्‍मीदों को सींच रहा जल जीवन मिशन

यह डिवाइस पूरी तरह से मेड इन इंडिया है, जो एम्बेडेड सिम और आंतरिक एंटीना के साथ एमटी 6260 चिपसेट से लैस है। डिवाइस आईपी65 रेटिंग के साथ आती है और बैटरी ऑफलाइन मोड में 6 से 8 घंटे का बैकअप देती है। इस डिवाइस से वाहन, स्थानों को ट्रैक करने, एकत्र करने और नियंत्रित करने में काफी सफलता मिली है। यह डिवाइस एक वेब एप्लिकेशन पर आधारित है, जो वाहन के स्थान की डिटेल, जगह, निष्क्रिय समय, चौकियों आदि की पहचान करती है।

किसानों को यह हो रहा फायदा

– किसानों की आय बढ़ाने और रोजगार के अवसर पैदा करने में सारथी बन रही पीएमजीएसवाई
– खाद्य प्रसंस्करण केंद्रों, मंडी (कृषि बाजारों) और अन्य किसान संबंधित उद्यमों से आसान और तेज आवाजाही की सुविधा मिल रही
– कृषि उत्पादों के आयात निर्यात को मिल रहा बढ़ावा
– जल्द खराब होने वाले उत्पाद जैसे सब्जी और फलों को कम समय में मंडी में पहुंचाया जा रहा

एफडीआर तकनीक में इन उपकरणों और मशीनों का होता है उपयोग

मृदा कम्पेक्टर
बिटुमेन प्रेशर स्प्रेडर
चिप स्प्रेडर
पेवर
रिक्लेमर
सीमेंट स्प्रेडर
पैडफुट रोलर

Related Post

राहुल ने कांग्रेस सह प्रभारियों से कहा- आपको पार्टी को जितवाने भेजा है न कि हरवाने

Posted by - November 3, 2018 0
जयपुर। चुनाव की खींच तान के बीच सभी पार्टियां जहाँ अपने-अपने स्तर पर जुटी हुई हैं वही कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष…
न्यूनतम साझा कार्यक्रम जारी

‘महा विकास अघाड़ी’ गठबंधन का न्यूनतम साझा कार्यक्रम जारी

Posted by - November 28, 2019 0
मुंबई। महाराष्ट्र में नए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के शपथ ग्रहण से पहले शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस के गठबंधन ‘महा विकास अघाड़ी’ ने गुरुवार…

आसान नहीं सिद्धू की राह! सुनील जाखड़ ने कल बुलाई इमरजेंसी मीटिंग

Posted by - July 18, 2021 0
पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ (Sunil Jakhar) ने कल चंडीगढ़ में पार्टी विधायकों और जिलाध्यक्षों की एक महत्वपूर्ण बैठक बुलाई…