Aadhaar registration

परिषदीय विद्यालयों के हर बच्चे का होगा आधार पंजीकरण

142 0

लखनऊ। परिषदीय विद्यालयों (Schools) के कायाकल्प में जुटी योगी सरकार (Yogi Government) इन विद्यालयों को पाइप से शुद्ध पेयजल की आपूर्ति सुनिश्चित कराएगी । सरकार ने इसकी कार्ययोजना तैयार कर ली है। वहीं आगामी दो सालों में 50  हजार विद्यालयों में फर्नीचर और 42  हजार में स्मार्ट क्लास (Smart Class) की स्थापना की जाएगी। नामांकन में फर्जीवाड़ा रोकने की भी मुकम्मल व्यवस्था की गई है। इसके लिए चाइल्ड ट्रैकिंग सिस्टम लागू कर दिया है। साथ ही सभी विद्यार्थियों का शत प्रतिशत आधार पंजीकरण (Aadhaar registration) किया जाएगा ।

अगले छह माह में पाइप से जलापूर्ति सुनिश्चित कराने के साथ ही सरकार सभी परिषदीय विद्यालयों में शौचालय भी तैयार कराएगी । अभी तक इन विद्यालयों के विद्यार्थियों को पीने के पानी के लिए इंडिया मार्का हैंडपंप पर निर्भर होना पड़ता हैं। कुछ विद्यालयों में पानी की टंकियाँ भी लगीं हैं।   लेकिन अब सरकार ने पाइप से पेयजल की सप्लाई सुनिश्चित करने की कार्ययोजना तैयार की है।

दो करोड़ बच्चों के नामांकन का लक्ष्य

परिषदीय विद्यालयों में व्यापक सुधार के बाद परिषदीय स्कूलों के बच्चों के नामांकन में तेजी से सुधार हुआ है। सत्र 2016-17 में यह संख्या 1.52 करोड़ थी जो सेशन 2020-21 में बढ़कर एक करोड़ 73 लाख तक पहुँच गयी है। योगी सरकार 2.0 सत्र 2022-23 में दो करोड़ बच्चों के नामांकन के लक्ष्य को हासिल करने का निर्णय लिया है।

चाइल्ड ट्रैकिंग सिस्टम से रूकेगा पंजीकरण का फर्जीवाड़ा

परिषदीय विद्यालयों में नामांकन फर्जीवाड़ा रोकने के लिए प्रदेश सरकार ने चाइल्ड ट्रैकिंग सिस्टम लागू किया है। इस तकनीकी से अब फर्जी नामांकन नही हो सकेगा।

ई-बजट, ई-कैबिनेट के बाद अब विधानसभा में ई-विधान: सीएम योगी

सर्व शिक्षा अभियान के तहत लागू इस सिस्टम में छात्रों का पूरा रिकॉर्ड यू डायस के जरिये आनलाइन होगा।इस रिकॉर्ड के साथ विद्यार्थियों के आधार भी लिंक होंगे। अगले दो साल में इस सिस्टम से प्रदेश में पढ़ने वाले सभी छात्र/छात्राओं को जोड़ा जाएगा।

शिक्षकों को कैशलेस इलाज की सुविधा

योगी सरकार ने छह माह में परिषदीय शिक्षकों को कैशलेस इलाज की सुविधा देने का निर्णय लिया है।वहीं सरकार अगले छह माह तक  भी छात्र/ छात्राओं के यूनिफॉर्म, बैग, स्वेटर, जूता- मोजा का पैसा डीबीटी के माध्यम से उनके माता -पिता/ अभिभावक के खाते में ट्रांसफर करेगी।

ग्रामीण अर्थव्यवस्था का विकास यूपी सरकार की प्राथमिकता

वहीं लोक कल्याण संकल्प के वादे को पूरा करने के लिए  सभी परिषदीय विद्यालयों में फर्नीचर और स्मार्ट विद्यालयों के रूप में विकास किया जाएगा। सरकार की कार्ययोजना के मुताबिक अगले दो सालों में प्रति वर्ष 25 हजार विद्यालयों में फर्नीचर और 21 -21 हजार विद्यालयों में स्मार्ट क्लास की स्थापना की जाएगी।

Related Post

AMITABH THAKUR RETIRED

पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर ने कहा- गुपचुप तरीके से क्यों भेजा गया रिटायरमेंट का आदेश

Posted by - March 30, 2021 0
लखनऊ। पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर (Former IPS Amitabh Thakur) ने डीजीपी एचसी अवस्थी को पत्र लिखकर अपने अनिवार्य सेवानिवृति के…
घायल व्यक्ति ने तोड़ा दम

घायल व्यक्ति ने तोड़ा दम

Posted by - March 11, 2021 0
बीते पांच मार्च को गोसाईंगंज थाना क्षेत्र के सठवारा गांव हुई मारपीट में घायल हुए अंजनी द्विवेदी की बुधवार की…

सीएम योगी ने विरोधी दलों पर साधा निशाना, कहा- कुंभ मेलों को बदनाम करने की कोशिश

Posted by - September 28, 2021 0
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विरोधी दलों पर निशाना साधा है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को…