Election commission

19 मई से पहले रिलीज़ न हो ‘पीएम नरेंद्र मोदी’ फिल्म : चुनाव आयोग

674 0

नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जीवन पर बनी फिल्म ‘पीएम नरेंद्र मोदी’ को 19 मई तक रिलीज नहीं किया जाना चाहिए। आयोग के अधिकारियों का कहना है कि स्वतंत्र और निष्पक्ष लोकसभा चुनावों के लिए रिलीज में देरी करना ही सही होगा।

चुनाव आयोग ने 19 मई को सुप्रीम कोर्ट की पीठ को 20 पृष्ठों की अपनी एक रिपोर्ट सौंपी

बता दें कि चुनाव आयोग ने 19 मई को चुनाव समाप्त होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बायोपिक की रिलीज का विरोध करते हुए सुप्रीम कोर्ट से कहा है कि इस बायोपिक में विषय के प्रति अनावश्यक भक्ति दिखाई गई है। चुनाव प्रचार के दौरान इसकी सार्वजनिक स्क्रीनिंग चुनावी संतुलन को एक ओर झुका देगी। चुनाव आयोग ने अभिनेता विवेक ओबराय अभिनीत फिल्म ‘पीएम नरेंद्र मोदी’ पर प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली सुप्रीम कोर्ट की पीठ को 20 पृष्ठों की अपनी एक रिपोर्ट सौंपी है।

ये भी पढ़ें :-अखिलेश ने पूछा ‘भागती जनता पार्टी’ के प्रधान जी क्यूं भागते हैं प्रेस वार्ता से ? 

आयोग ने रिपोर्ट में कहा है कि ‘बायोपिक’ में एक व्यक्ति की महिमा का गुणगान 

आयोग ने रिपोर्ट में कहा है कि ‘बायोपिक’ में एक ऐसा राजनीतिक माहौल तैयार किया गया है, जिसमें एक व्यक्ति की महिमा का गुणगान किया गया है। चुनाव आचार संहिता लागू रहने के दौरान इसकी सार्वजनिक स्क्रीनिंग एक खास राजनीतिक पार्टी को फायदा पहुंचाएगी। चुनाव आयोग ने कहा है कि ऐसे कई दृश्य हैं जिसमें एक बड़ी विपक्षी पार्टी को खराब तरीके से दिखाया गया है। उसके नेताओं को इस तरह से चित्रित किया गया है कि उनकी पहचान दर्शकों को साफ तौर पर जाहिर होगी।

ये भी पढ़ें :-बीजेपी ने पीएम पद उम्मीदवार पूछकर किया 130 करोड़ मतदाता का अपमान : मायावती 

पीएम नरेंद्र मोदी फिल्म की पब्लिक स्क्रीनिंग की इजाजत चुनाव के आखिरी दिन 19 मई तक नहीं देनी चाहिए

सुप्रीम कोर्ट ने 15 अप्रैल की सुनवाई में चुनाव आयोग को अपने पहले के आदेश पर फिर से विचार करने और बायोपिक देखने के बाद उसकी रिलीज पर देश भर में प्रतिबंध लगाने पर एक फैसला करने का निर्देश दिया था। रिपोर्ट में कहा गया है कि यह (बायोपिक) जीवनी से कहीं अधिक है और यह संतचरित है। रिपोर्ट में कहा गया है कि पीएम नरेंद्र मोदी फिल्म की पब्लिक स्क्रीनिंग की इजाजत चुनाव के आखिरी दिन 19 मई तक नहीं देनी चाहिए।

Related Post

President

कमजोरों के प्रति संवेदना और असहायों की सेवा से ही बढ़ेगी समरसता: राष्ट्रपति

Posted by - June 6, 2022 0
मगहर (संतकबीरनगर): राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ram Nath Kovind) ने कहा कि समाज के कमजोर लोगों के प्रति संवेदना रखे…

135 करोड़ में 80 करोड़ लोगों को मुफ्त राशन की जरूरत, मोदी सरकार के विकास का दर्दनाक उदाहरण – राहुल गांधी

Posted by - June 20, 2021 0
कोरोना संकट के बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी केंद्र सरकार की नीतियों को लेकर लगातार हमलावर रहे हैं, उन्होंने एकबार…