धर्मांतरण केस: उमर गौतम की बेटी ने पिता को बताया बेकसूर, बोली- चुनाव आते ही ये मुद्दे क्यों उठते हैं?

185 0

धर्मांतरण मामले में यूपी पुलिस की एटीएस द्वारा गिरफ्तार किए गए धर्मगुरु उमर गौतम की बेटी जरीना ने अपने पिता को बेकसूर बताया है। उन्होंने कहा- पिता को बेवजह फंसाया जा रहा है, पुलिस के पास उनके पिता के खिलाफ कोई सबूत नहीं है।

बेटी ने कहा- ये मुद्दा तभी क्यों सामने आया जब चुनाव करीब है?, पुलिस ने पिता को धोखे से थाने बुलाकर गिरफ्तार किया है।बता दें कि यूपी एटीएस ने दो मुसलमान धर्मगुरुओं को हिंदुओं का धर्म परिवर्तन कराने के आरोप में गिरफ्तार किया है।

दोनों पर यह भी आरोप है कि वे पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई और विदेशों से फंडिंग लेते हैं। आईएसआई और विदेशों से फंडिंग लेने का आरोप लगा है। इतना ही नहीं इनपर मूक-बधिर छात्रों और कमजोर आय वर्ग के लोगों को धन नौकरी और शादी का लालच देकर मुसलमान बनाने का भी आरोप लगा है।

पुलिस द्वारा दावा किया जा रहा है कि, ये सब एक बड़ी साजि़श के तहत किया जा रहा था। वहीं इस मसले पर उत्तर प्रदेश सरकार ने भी सख्त रुख अपना लिया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने साफ कर दिया है कि, एजेंसियां इस मामले की तह में जाएं, जो भी इसमें शामिल हैं उनपर कड़ा एक्शन लिया जाए।

उमर गौतम की बेटी जरीना ( बदला हुआ नाम) ने आईएएनएस से कहा कि, मेरे पिता को गिरफ्तार नहीं किया है, मेरे पिता को पुलिस स्टेशन बुलाया गया था। अगले दिन जब फिर बुलाया गया तो उसके बाद हमें पता लगा कि एटीएस उन्हें लखनऊ लेकर गई है।

हमारी पिता से कोई बात नहीं हो सकी, फिर एटीएस द्वारा उनके ऊपर अलग-अलग आरोप लगाए गए, जो की गलत है। धर्मान्तरण मामले में मेरे पिता का कोई भूमिका नहीं है। जो भी वीडियो के जरिए दावा किया जा रहा है उन्हें ध्यान से सुना जाना चाहिए। उन वीडियो में कहीं भी ये नहीं कहा गया है कि उनका धर्मान्तरण किया गया है। किसी भी व्यक्ति को आप जबरन कन्वर्ट नहीं कर सकते, ये सब आस्था की बात होती है। यदि किसी के साथ जबरन ऐसा हुआ है तो वो शख्स मुकद्दमा दर्ज कराता। एक हजार व्यक्तियों में से 10 मामले तो सामने आते।

दूसरी ओर यदि ये दो साल से रैकेट चल रहा था तो अब तक सरकार क्या कर रही थी। सरकार सत्ता में है। जब चुनाव करीब हैं तभी ये मामला सामने क्यों आया। मेरे पिता को फंसाया जा रहा है, उनपर सभी आरोप गलत और बेबुनियाद हैं।

उन्होंने आगे कहा कि, हमारा पाकिस्तान से कोई कनेक्शन भी नहीं है। मेरे पिता कभी पाकिस्तान नहीं गए, वो कजाकिस्तान गये थे। वहां उन्हें कजाकिस्तान एम्बसी द्वारा एक काय्र्रकम में बुलाया गया था। जानकारी के मुताबिक उमर गौतम ने साल 2010 में दिल्ली के जामिया नगर में इस्लामी दावा सेंटर के नाम से एक केंद्र शुरू किया था, जिसके जरिए वो धर्म बदलकर मुसलमान होने वाले लोगों की मदद करते थे।

Divyansh Singh

मिट्टी का तन, मस्ती का मन; छड़ भर जीवन, मेरा परिचय।

Related Post

पूर्णा सुंदरी

मेहनत व हौंसले से पूर्णा सुंदरी ने शारीरिक दुर्बलता को दी मात, UPSC में मिली 286वीं रैंक

Posted by - August 6, 2020 0
नई दिल्ली। पूर्णा सुंदरी न सिर्फ अपने परिवार, बल्‍क‍ि पूरे समाज के लिए एक प्रेरणा बनकर उभरी हैं। आंखों में…
CJI यौन उत्‍पीड़न मामला

CJI यौन उत्‍पीड़न मामला : पीड़िता ने इन्‍क्‍वारी पैनल के सामने पेश होने से किया इनकार

Posted by - April 30, 2019 0
नई दिल्ली। देश के मुख्य न्यायाधीन रंजन गोगोई के खिलाफ यौन उत्‍पीड़न का मामला दर्ज कराने वाली महिला ने मंगलवार…
पीएम मोदी

पीएम मोदी बोले- कोरोना पर रहने की जरूरत, सार्क देश मिलकर करेंगे सामना

Posted by - March 15, 2020 0
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कोरोना वायरस को लेकर सार्क देशों के प्रतिनिधियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग…

Narad Sting मामले में गिरफ्तार दो मंत्रियों समेत चार नेताओं को मिली जमानत

Posted by - May 18, 2021 0
कोलकाता। नारद स्टिंग (Narad Sting) मामले में सीबीआई द्वारा सोमवार को गिरफ्तार किये गए पश्चिम बंगाल के दो मंत्रियों, टीएमसी…