धर्मांतरण केस: उमर गौतम की बेटी ने पिता को बताया बेकसूर, बोली- चुनाव आते ही ये मुद्दे क्यों उठते हैं?

125 0

धर्मांतरण मामले में यूपी पुलिस की एटीएस द्वारा गिरफ्तार किए गए धर्मगुरु उमर गौतम की बेटी जरीना ने अपने पिता को बेकसूर बताया है। उन्होंने कहा- पिता को बेवजह फंसाया जा रहा है, पुलिस के पास उनके पिता के खिलाफ कोई सबूत नहीं है।

बेटी ने कहा- ये मुद्दा तभी क्यों सामने आया जब चुनाव करीब है?, पुलिस ने पिता को धोखे से थाने बुलाकर गिरफ्तार किया है।बता दें कि यूपी एटीएस ने दो मुसलमान धर्मगुरुओं को हिंदुओं का धर्म परिवर्तन कराने के आरोप में गिरफ्तार किया है।

दोनों पर यह भी आरोप है कि वे पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई और विदेशों से फंडिंग लेते हैं। आईएसआई और विदेशों से फंडिंग लेने का आरोप लगा है। इतना ही नहीं इनपर मूक-बधिर छात्रों और कमजोर आय वर्ग के लोगों को धन नौकरी और शादी का लालच देकर मुसलमान बनाने का भी आरोप लगा है।

पुलिस द्वारा दावा किया जा रहा है कि, ये सब एक बड़ी साजि़श के तहत किया जा रहा था। वहीं इस मसले पर उत्तर प्रदेश सरकार ने भी सख्त रुख अपना लिया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने साफ कर दिया है कि, एजेंसियां इस मामले की तह में जाएं, जो भी इसमें शामिल हैं उनपर कड़ा एक्शन लिया जाए।

उमर गौतम की बेटी जरीना ( बदला हुआ नाम) ने आईएएनएस से कहा कि, मेरे पिता को गिरफ्तार नहीं किया है, मेरे पिता को पुलिस स्टेशन बुलाया गया था। अगले दिन जब फिर बुलाया गया तो उसके बाद हमें पता लगा कि एटीएस उन्हें लखनऊ लेकर गई है।

हमारी पिता से कोई बात नहीं हो सकी, फिर एटीएस द्वारा उनके ऊपर अलग-अलग आरोप लगाए गए, जो की गलत है। धर्मान्तरण मामले में मेरे पिता का कोई भूमिका नहीं है। जो भी वीडियो के जरिए दावा किया जा रहा है उन्हें ध्यान से सुना जाना चाहिए। उन वीडियो में कहीं भी ये नहीं कहा गया है कि उनका धर्मान्तरण किया गया है। किसी भी व्यक्ति को आप जबरन कन्वर्ट नहीं कर सकते, ये सब आस्था की बात होती है। यदि किसी के साथ जबरन ऐसा हुआ है तो वो शख्स मुकद्दमा दर्ज कराता। एक हजार व्यक्तियों में से 10 मामले तो सामने आते।

दूसरी ओर यदि ये दो साल से रैकेट चल रहा था तो अब तक सरकार क्या कर रही थी। सरकार सत्ता में है। जब चुनाव करीब हैं तभी ये मामला सामने क्यों आया। मेरे पिता को फंसाया जा रहा है, उनपर सभी आरोप गलत और बेबुनियाद हैं।

उन्होंने आगे कहा कि, हमारा पाकिस्तान से कोई कनेक्शन भी नहीं है। मेरे पिता कभी पाकिस्तान नहीं गए, वो कजाकिस्तान गये थे। वहां उन्हें कजाकिस्तान एम्बसी द्वारा एक काय्र्रकम में बुलाया गया था। जानकारी के मुताबिक उमर गौतम ने साल 2010 में दिल्ली के जामिया नगर में इस्लामी दावा सेंटर के नाम से एक केंद्र शुरू किया था, जिसके जरिए वो धर्म बदलकर मुसलमान होने वाले लोगों की मदद करते थे।

Divyansh Singh

मिट्टी का तन, मस्ती का मन; छड़ भर जीवन, मेरा परिचय।

Related Post

चिता भस्म होली

वाराणसी : मणिकर्णिका घाट पर शिव भक्तों ने खेली चिता भस्म होली

Posted by - March 7, 2020 0
वाराणसी। उत्तर प्रदेश की धार्मिक व सांस्कृतिक नगरी वाराणसी में शुक्रवार को गंगा तट के मणिकर्णिका एवं राजा हरिश्चंद्र श्मशान…
Supreme Court on Corona

आखिर कौन देगा जवाब

Posted by - April 27, 2021 0
सर्वोच्च न्यायालय (Supreme Court) ने केंद्र सरकार से पूछा है कि कोरोना (Corona Virus) से निपटने की उसकी राष्ट्रीय कार्य…
लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले 1352 लोगों को चालान

लखनऊ : लॉकडाउन के दौरान नियमों का उल्लंघन करने वाले 1352 लोगों को चालान

Posted by - April 6, 2020 0
लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कोरोना वायरस के संक्रमण के बचाव के चलते जारी देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान…

अफगानिस्तान में कवरेज करने पहुंचे भारतीय पत्रकार की दानिश सिद्दीकी की हत्या

Posted by - July 16, 2021 0
अफगानिस्तान में लगातार बिगड़ते हालात के बीच कवरेज करने गए रॉयटर्स के पत्रकार दानिश सिद्दिकी की गोली मारकर हत्या कर…