delhi high court

दिल्ली हाई कोर्ट ने दिए सऊदी अरब में दफन व्यक्ति की अस्थियां लाने के आदेश

285 0
नई दिल्ली। दिल्ली हाई कोर्ट (Delhi High court) आज सऊदी अरब की रहने वाली महिला के पति की अस्थियों को भारत वापस लाने की मांग पर सुनवाई करेगी।

 दिल्ली हाईकोर्ट(Delhi High court) आज सऊदी अरब की रहनेवाली महिला की उसके मृत पति की अस्थियों को भारत वापस लाने की मांग पर सुनवाई करेगी। पिछली सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट ने विदेश मंत्रालय को निर्देश दिया था कि वो सऊदी अरब की रहनेवाली महिला के पति की अस्थियों को भारत वापस लाने के दूसरे कानूनी उपाय करे। जस्टिस प्रतिभा सिंह की बेंच सुनवाई करेगी।

सऊदी अधिकारियों ने कोई जवाब नहीं किया

सुनवाई के दौरान विदेश मंत्रालय के पासपोर्ट और वीसा डिवीजन के डायरेक्टर विष्णु कुमार शर्मा ने कहा था कि मंत्रालय ने अस्थियों को भारत वापस लाने के लिए सऊदी अरब के अधिकारियों से कहा है। उन्होंने कहा था कि सऊदी अरब के अधिकारियों को फोन, व्हाट्स ऐप और ई-मेल के जरिये भी संपर्क साधने का प्रयास किया गया लेकिन कोई उत्तर नहीं मिला।

उन्होंने कोर्ट से कहा था कि इस संबंध में कोई टाइमलाइन तय नहीं की गई है लेकिन विदेश मंत्रालय अपनी ओर से कोशिशें कर रहा है। उन्होंने कहा था कि इसके लिए हमारे पास राजनयिक प्रयास करने के अलावा कोई विकल्प नहीं है।

याचिकाकर्ता ने जताई आपत्ति

सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता की ओर से वकील सुभाष चंद्रण केआर ने विदेश मंत्रालय की इस दलील का विरोध किया। उन्होंने कहा कि विदेश मंत्रालय ने कुछ भी ठोस नहीं किया है। तब कोर्ट ने कहा कि विदेश मंत्रालय की कोशिशों का कुछ भी सकारात्मक नतीजा नहीं आया है। ऐसे में विदेश मंत्रालय को दूसरे विकल्पों पर विचार करना चाहिए ताकि अस्थियां जल्द वापस लायी जा सकें।

मृत्यु प्रमाण-पत्र में गलती से लिख दिया गया था मुस्लिम 

पिछले 24 मार्च को विदेश मंत्रालय ने दिल्ली हाईकोर्ट से कहा था कि उसने सऊदी अरब के उच्चाधिकारियों से हाल ही में मुलाकात की है और वह मृतक की अस्थियों को जल्द भारत लाने की लगातार कोशिशें कर रहे हैं। 18 मार्च को कोर्ट ने विदेश मंत्रालय को निर्देश दिया था कि वो कार्रवाई में तेजी लाएं।

सुनवाई के दौरान विदेश मंत्रालय के पासपोर्ट और वीसा डिवीजन के डायरेक्टर विष्णु कुमार शर्मा ने हाईकोर्ट को बताया था कि महिला के पति संजीव कुमार के मृत्यु प्रमाण-पत्र में मुस्लिम होने की गलती उनके नियोजक सालेम अब्दुल्ला साद अल सकर की तरफ से की गई थी।

प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया गया

शर्मा ने बताया था कि सऊदी अरब में जब भी किसी भारतीय की मौत की खबर भारतीय कांसुलेट को दी जाती है तो बिना भारतीय कांसुलेट के अनापत्ति प्रमाण पत्र के उसके शव को दफनाने की अनुमति नहीं होती है, लेकिन संजीव कुमार की मौत के मामले में ऐसा नहीं किया गया। संजीव कुमार का अंतिम संस्कार 17 फरवरी को बिना भारतीय कांसुलेट को बताए गैर मुस्लिम कब्रिस्तान में किया गया।

भारतीय कांसुलेट को इसकी जानकारी 18 फरवरी को मिली। उसके बाद भारतीय कांसुलेट ने सऊदी अरब के विदेश मंत्रालय को 21 और 24 फरवरी और 7 मार्च को इस संबंध में पत्र लिखा। शर्मा ने बताया था कि भारतीय विदेश मंत्रालय के अधिकारी संजीव कुमार की अस्थियों को निकालने की प्रक्रिया में तेजी लाने के लिए सऊदी अरब के प्रशासन के साथ लगातार संपर्क बनाए हुए हैं।

Related Post

pm narendra modi

शिक्षा को रोजगार और उद्यमशीलता की क्षमताओं से जोड़ने का हो रहा प्रयास : PM मोदी

Posted by - March 3, 2021 0
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) आज आत्मनिर्भर भारत के लिए शिक्षा, कौशल विकास पर सत्र को संबोधित कर…
महाराष्ट्र सरकार

महाराष्ट्र सरकार : शिवसेना को गृह, एनसीपी और कांग्रेस के हिस्से में जानें क्या आए मंत्रालय?

Posted by - December 12, 2019 0
मुंबई। महाराष्ट्र में सरकार गठन के करीब तीन हफ्तों बाद विभागों का बंटवारा गुरुवार को हुआ है। शिवसेना के एकनाथ…
विनेश फौगाट

विनेश फौगाट रोम रैंकिंग सीरीज कुश्ती चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता

Posted by - January 19, 2020 0
दादरी। भारतीय पहलवान विनेश फौगाट ने 53 किग्रा भार वर्ग में रोम रैंकिंग सीरीज कुश्ती चैंपियनशिप का फाइनल जीत लिया…

अटल जी को सम्मान देते हुए पीएम मोदी ने जारी किया सौ रुपये का सिक्का

Posted by - December 24, 2018 0
नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का जीवन सभी के लिए प्रेरणा स्रोत है उनका व्यक्तित्व भी अपने आप…
फिल्म 'गुंजन सक्सेना' का ट्रेलर

जाह्नवी कपूर की फिल्म ‘गुंजन सक्सेना’ का ट्रेलर रिलीज, देखें Video

Posted by - August 1, 2020 0
मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री जाह्नवी कपूर की आने वाली फिल्म ‘गुंजन सक्सेना: द करगिल गर्ल’ का ट्रेलर शनिवार को रिलीज कर…