PM Vishwakarma scheme

सभी पात्र शिल्पकारों, कारीगरों को पीएम विश्वकर्मा योजना से जोड़ेगी योगी सरकार

105 0

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश में पांच साल पहले से संचालित विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के साथ ही अब यहां के शिल्पकारों और कारीगरों को मोदी सरकार की पीएम विश्वकर्मा योजना (PM Vishwakarma scheme)  से भी आच्छादित कर उनके कारोबार को नई ऊंचाई तक पहुंचाया जाएगा।

आधिकारिक प्रवक्ता ने मंगलवार को यहां बताया कि योगी सरकार कारीगरों और शिल्पकारों का जीवन स्तर समुन्नत करने के लिए सितंबर 2018 से ही विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना चला रही है। इसके तहत कारीगरों एवं शिल्पकारों को निशुल्क प्रशिक्षण देने के साथ ही सरकार उनके पेशे से संबंधित टूलकिट भी मुफ्त देती है। साथ ही पारंपरिक पेशे को उद्यम का रूप देने के लिए 10 हजार से लेकर 10 लाख रुपये तक कि आर्थिक सहायता भी मुहैया कराई जाती है।

उन्होंने बताया कि आगामी 17 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों लांच होने वाली पीएम विश्वकर्मा योजना (PM Vishwakarma scheme)  के दायरे में 18 प्रकार के पारंपरिक कार्यों से जुड़े शिल्पकार और कारीगर आएंगे। सभी पात्र शिल्पकारों एवं कारीगरों को योजना का लाभ मिल सके इसके लिए योजना की लांचिंग से पूर्व उनके पंजीकरण का कार्य युद्ध स्तर पर शुरू किया गया है।

गोरखपुर में जिलाधिकारी कृष्णा करुणेश ने उपायुक्त उद्योग, उपायुक्त स्वतः रोजगार, सहायक श्रमायुक्त, जिला पंचायत राज अधिकारी, सभी विकास खंड अधिकारियों और नगरीय निकायों के सभी अधिशासी अधिकारियों को योजना लांचिंग से पूर्व पात्र कारीगरों और शिल्पकारों के पंजीकरण की जिम्मेदारी सौंपी है। ये अधिकारी शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के शिल्पकारों और कारीगरों का पंजीकरण योजना की वेबसाइट पर 17 सितंबर से पहले कराना सुनिश्चित करेंगे।

योगी कैबिनेट में 16 प्रस्तावों पर लगी मुहर, धान का MSP प्रति क्विंटल 143 रुपये बढ़ाया

उन्होंने बताया कि बढ़ई, लोहार, कुम्हार, सुनार, ताला, पाश साज, राजमिस्त्री, हथौड़ा एवं अन्य औजार साज, धोबी, कश्ती निर्माण करने वाले, शस्त्र साज, मछली पकड़ ;मछुवाही, जाल निर्माता, दर्जी, मूर्तिकार, डलिया, चटाई, झाड़ू बुनकर, काथी साज, मोची, चर्म साज, गुड़िया व खिलौना निर्माता ;पारंपरिक, नाईहज्जाम व ,मालाकार इसमें शामिल हैं।

प्रवक्ता ने आगे बताया कि पीएम विश्वकर्मा योजना (PM Vishwakarma scheme) से आच्छादित शिल्पकारों व कारीगरों को 15 हजार रुपये टूलकिट खरीदने के लिए मिलेंगे। इसके साथ ही पेशे को विस्तार देने के लिए काफी कम ब्याज दर पर एक लाख रुपये का लोन मिलेगा। पहला लोन चुकता करने पर दो लाख रुपये का दूसरा लोन भी मिल सकेगा।

Related Post

CM Pushkar Dhami

राज्य का समग्र विकास हमारा लक्ष्य : सीएम पुष्कर धामी

Posted by - December 29, 2021 0
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (CM Pushkar Dhami) मंगलवार को देर सायं आईएसबीटी स्थित स्थानीय होटल में आयोजित पंचायत उत्तराखण्ड कार्यक्रम…
Governor

राज्यपाल से मिस उत्तराखंड-2022 ऐश्वर्या बिष्ट ने की मुलाकात

Posted by - May 6, 2022 0
देहारादून। राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) (Governor) से मुलाकात करती हुईं मिस उत्तराखण्ड-2022 ऐश्वर्या बिष्ट (Aishwarya Bisht) व…
Electricity Department

उपभोक्ताओ को अक्टूबर माह में 1,28,381 नये विद्युत कनेक्शन स्वीकृत

Posted by - November 2, 2022 0
लखनऊ। प्रदेश के मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार एवं ऊर्जा मंत्री एके शर्मा (AK Sharma) के कुशल नेतृत्व में उ0प्र0 पावर कारपोरेशन…

किसानों पर रहा राहुल का फोकस, पुरानी पेंशन बहाली का दिलाया भरोसा

Posted by - January 24, 2019 0
अमेठी। सांसद राहुल गांधी अमेठी में अपने दौरे के पहले दिन किसानों पर फोकस करते दिखे।राहुल गांधी अमेठी दौरे के…