कोरोना टीकाकरण प्रमाणपत्र के बाद अब गरीबों के राशन पर भी छाप दी गई पीएम मोदी की तस्वीर

135 0

कोरोना टीकाकरण प्रमाणपत्र के बाद अब गरीबों को दिए जाने वाले राशन पर भी पीएम मोदी की तस्वीर छाप दी गई है। भाजपा शासित राज्यों में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत राशन देते समय दुकानों पर पीएम मोदी और मुख्यमंत्रियों की तस्वीर वाले बैनर लगाने का निर्देश जारी हुआ है। इसके साथ ही जिस थैले में पांच किलो अनाज दिया जाएगा उस पर बीजेपी का चुनाव चिन्ह कमल लगाने का निर्देश जारी किया गया है।

बीजेपी महासचिव अरुण सिंह की ओर से सभी प्रदेश इकाइयों को पत्र लिख कहा गया है कि इस योजना का जम कर प्रचार होना चाहिए। गौरतलब है कि अभी देश भर में चलाए जा रहे वैक्सीन अभियान में वैक्सीन प्रमाणपत्र पर पीएम नरेंद्र मोदी की तस्वीर लगाई जा रही है।

गौरतलब है कि अभी देश भर में चलाए जा रहे वैक्सीन अभियान में वैक्सीन प्रमाणपत्र पर पीएम नरेंद्र मोदी की तस्वीर लगाई जा रही है। इसका विपक्षी दलों ने विरोध भी किया है। बीते दिनों कुछ राज्यों में, जैसे छत्तीसगढ़ और पश्चिम बंगाल में कोविड वैक्सीन प्रमाणपत्र पर पीएम मोदी की तस्वीर हटाकर राज्य के मुख्यमंत्रियों की तस्वीर लगाने की खबरें भी सामने आई थीं।

यह भी कहा गया है कि सभी जनप्रतिनिधि राशन की दुकानों पर जाकर लाभार्थियों से मिलें। यह ध्यान रखा जाए कि राशन बैग प्लास्टिक रहित हो. प्रत्येक राशन की दुकान के बाहर यह प्रिंटेड बैग बांटने का लक्ष्य रखा गया है और यह जिम्मेदारी कार्यकर्ताओं की है कि वे इसकी निगरानी करें। पार्टी की ओर से नवंबर 2021 तक यह प्रचार योजना जारी रखने को कहा गया है. इस योजना के तहत 80 करोड़ देशवासियों को नवंबर 2021 तक हर महीने पांच किलो अनाज मुफ्त दिया जा रहा है।

Divyansh Singh

मिट्टी का तन, मस्ती का मन; छड़ भर जीवन, मेरा परिचय।

Related Post

एकेटीयू स्वच्छ कैंपस रैंकिंग 2019 में नंबर 1

एकेटीयू स्वच्छ कैंपस रैंकिंग 2019 में देश का नंबर 1 संस्थान

Posted by - December 3, 2019 0
लखनऊ। डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय ने स्वच्छ कैंपस रैंकिंग 2019 ऑफ़ हायर एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन्स में पूरे देश में…

छठ महापर्व में शामिल हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, कही ये बात

Posted by - November 3, 2019 0
रायपुर। बीरगांव और हीरापुर में आयोजित छठ महापर्व में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल भी शामिल हुए हैं। भोजपुरी समाज सहित…