CM Yogi

पीएम मोदी के नेतृत्व में देश में बना खेलों का शानदार माहौल : सीएम योगी

41 0

गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पिछले नौ-दस वर्षों में देश के अंदर खेलों की गतिविधियों का शानदार माहौल बना है। इन गतिविधियों का परिणाम है कि देश खेल के क्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तेजी से आगे बढ़ रहा है। ओलंपिक, एशियन गेम्स, कॉमनवेल्थ गेम्स में प्रतिभागी खिलाड़ियों और उनके द्वारा जीते जा रहे पदकों की संख्या से इसका अंदाजा लगाया जा सकता है।

सीएम योगी (CM Yogi) सोमवार को उत्तर प्रदेश ग्रामीण खेल लीग के शुभारंभ एवं ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ स्मृति अखिल भारतीय प्राइजमनी कबड्डी प्रतियोगिता के समापन-पुरस्कार वितरण समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने ग्रामीण खेल लीग की मशाल को प्रज्ज्वलित कर लीग का शुभारंभ किया और कबड्डी प्रतियोगिता का फाइनल मुकाबला समाप्त करने के बाद खिलाड़ियों को पुरस्कृत किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि खेलो इंडिया, फिट इंडिया मूवमेंट और सांसद खेल स्पर्धा से खेल और खिलाड़ियों को काफी प्रोत्साहन मिला है। इसे और गति देने के हर जिले में स्पोर्ट्स सेंटर बनाए जा रहे हैं।

खेल के संसाधनों और गतिविधियों को बढ़ा रही सरकार

सीएम योगी (CM Yogi) ने कहा कि प्रदेश में खेल के संसाधनों और गतिविधियों को बढ़ाने के लिए सरकार ने कई कदम उठाए हैं। इसके तहत हर गांव में खेल के मैदान व ओपन जिम विकसित किए जा रहे हैं। जिला स्तर पर स्टेडियम व ब्लॉक स्तर पर मिनी स्टेडियम बनाए जा रहे हैं। वर्तमान में उत्तर प्रदेश में 2 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम हैं। वाराणसी में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम का कार्य युद्ध स्तर पर जारी है। प्रदेश में 15 सिंथेटिक हॉकी ट्रैक, 3 सिंथेटिक रनिंग ट्रैक, 67 बहुउद्देश्यीय स्पोर्ट्स हाल, 15 इनडोर बास्केटबॉल हाल, 2 जुडो हाल, 6 शूटिंग रेंज बनाए जा चुके हैं। मेरठ में मेजर ध्यानचंद के नाम पर प्रदेश मैं पहका विश्व स्तरीय स्पोर्ट्स विश्वविद्यालय का निर्माण युद्ध स्तर हो रहा है।

खिलाड़ियों को दी जा रही भरपूर धनराशि और नौकरी

सीएम योगी (CM Yogi) ने कहा कि खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने के लिए प्रदेश सरकार भरपूर धनराशि देने के साथ उन्हें सरकारी नौकरी दे रही है। डेढ़ लाख रुपये मासिक मानदेय पर कई कोच नियुक्त किए गए हैं। एकलव्य क्रीड़ा कोष से भी खिलाड़ियों को मदद दी जा रही है। उन्होंने कहा कि ओलंपिक, एशियन गेम्स, कॉमनवेल्थ गेम्स, विश्व चैंपियनशिप में प्रतिभाग करने और पदक जीतने वाले प्रदेश के खिलाड़ियों को भरपूर पुरस्कार राशि तो दिया ही जा रहा है, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पदक जीतने वालों को राजपत्रित पदों पर नियुक्त किया जा रहा है। प्रदेश में 500 खिलाड़ियों को नियुक्ति दी जा चुकी है।

जीत से आगे बढ़ने की प्रेरणा तो हार कमियों को सुधारने का अवसर

महंत अवेद्यनाथ स्मृति अखिल भारतीय प्राइजमनी कबड्डी प्रतियोगिता में प्रतिभाग करने वाले सभी खिलाड़ियों को शुभकामना देते हुए मुख्यमंत्री (CM Yogi) ने कहा कि जीत से हमे और आगे बढ़ने की प्रेरणा मिलती है और हार से कमियों को परिमार्जित करने का अवसर मिलता है। उन्होंने कहा कि खिलाड़ी अपने मेहनत व पुरुषार्थ से अपनी पहचान बनाकर क्षेत्र व देश का नाम रोशन करता है। यदि अभ्यास पर ध्यान देते हुए टीम भावना से परिश्रम किया जाता है तो उसके सफल परिणाम आते हैं।

सभी विकास खंडों में होगी ग्रामीण खेल लीग प्रतियोगिता

मुख्यमंत्री (CM Yogi) ने उत्तर प्रदेश ग्रामीण खेल लीग का शुभारंभ करते हुए कहा कि यह प्रतियोगिता प्रदेश के सभी विकास खंडों में होगी। इसमें कई तरह की खेल प्रतियोगिताएं होंगी। ब्लॉक स्तर के बाद ग्रामीण खेल प्रतिभाओं को जनपद, जोन और प्रदेश स्तर पर मौका मिलेगा। इससे लाखों खिलाड़ी लाभान्वित होंगे। मुख्यमंत्री ने खेल विभाग को निर्देशित किया कि ग्रामीण खेल लीग में पुरस्कार राशि बेहतरीन होनी चाहिए।

अगले वर्ष दोगुनी होगी कबड्डी प्रतियोगिता की पुरस्कार राशि

इस अवसर पर मुख्यमंत्री (CM Yogi) ने ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ स्मृति अखिल भारतीय प्राइजमनी कबड्डी प्रतियोगिता में अगले वर्ष पुरस्कार राशि दोगुनी करने का निर्देश भी खेल विभाग को दिया। उन्होंने कहा कि कबड्डी भारत की पहचान रही है। उत्तर प्रदेश ने देश को कई उत्कृष्ट और अंतरराष्ट्रीय कबड्डी खिलाड़ी दिए हैं। इन खिलाड़ियों ने अपने सामर्थ्य से प्रदेश और देश को गौरवांवित किया है।

यूपी ने देश को दी हैं कई खेल विभूतियां

मुख्यमंत्री (CM Yogi) ने कहा कि उत्तर प्रदेश ने देश को कई खेल विभूतियां दी हैं। एशियन गेम्स में देश ने पहली बार पदकों का आंकड़ा सौ पार किया तो इसमें यूपी के खिलाड़ियों की भी बड़ी भागीदारी रही। देश मे गत एशियन गेम्स में मिले 70 पदक की तुलना में इस बार 107 पदक जीते।

सीएम के नेतृत्व में खेल विभाग ने लिए कई ऐतिहासिक निर्णय: खेल मंत्री

कार्यक्रम में खेल एवं युवा कल्याण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) गिरीश चंद्र यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में प्रदेश हर क्षेत्र में नित नई ऊंचाइयों को छू रहा है। सीएम योगी के नेतृत्व में प्रदेश में खेल विभाग ने कई ऐतिहासिक निर्णय लिए हैं। पहली बार खेल और खिलाड़ियों के प्रोत्साहन के लिए एक मुकम्मल खेल नीति बनाई गई। मुख्यमंत्री की मंशा है कि कोई भी प्रतिभावान खिलाड़ी किसी तरह के अभाव में न रहे। यूपी में खिलाड़ियों के लिए पुरस्कार राशि को दो स्व ढाई गुना तक कर दिया गया है।

इस अवसर पर गोरखपुर के सांसद रविकिशन शुक्ल, महापौर डॉ मंगलेश श्रीवास्तव, विधायक विपिन सिंह, प्रदीप शुक्ल, प्रदेश के खेल सचिव एलवाई सुहास, खेल निदेशक आरपी सिंह, यूपी कबड्डी संघ के अध्यक्ष विकास सिंह, महासचिव राजेश कुमार, यूपी कुश्ती संघ के उपाध्यक्ष दिनेश सिंह, जिला कबड्डी संघ के अध्यक्ष अरुणेश शाही, हॉकी की पूर्व ओलंपियन प्रेम माया, अंतरराष्ट्रीय पहलवान पन्नेलाल यादव, डॉ विभ्राट चंद कौशिक, महामंडलेश्वर सतुआ बाबा, महंत रविंद्रदास आदि मौजूद रहे। कार्यक्रम के दौरान उत्तर प्रदेश ग्रामीण खेल लीग पर एक शार्ट फिल्म का भी प्रदर्शन किया गया।

फाइनल मुकाबले में खिलाड़ियों का उत्साह बढ़ाया मुख्यमंत्री ने

कबड्डी प्रतियोगिता के फाइनल मुकाबले का आनंद उठाते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खिलाड़ियों का उत्साह बढ़ाया। सीएम ने दोनों टीमों यूपी और जेडी एकेडमी नई दिल्ली के खिलाड़ियों के बेहतर मूव्स पर ताली बजाकर उनकी हौसला बढ़ाया। मुकाबला समाप्त होने के बाद मुख्यमंत्री ने विजयी टीमों व खिलाड़ियों को पुरस्कृत किया।

यूपी की टीम ने किया खिताब अपने नाम

कबड्डी प्रतियोगिता के फाइनल मुकाबले में यूपी की टीम ने जेडी एकेडमी को 61-36 के अंतर से पराजित कर खिताब अपने नाम किया। विजेता टीम को सरकार की तरफ से दो लाख और उप विजेता को एक लाख रुपये का नकद पुरस्कार भी दिया गया। सेमी फाइनल खेलने वाली बाकी दो टीमों को भी पचास-पचास हजार रुपये का पुरस्कार मिला।

Related Post