cm yogi

सीएम योगी ने कहा- ‘सेक्युलरिज्म’ शब्द भारत की परंपराओं को आगे बढ़ाने में सबसे बड़ा खतरा

478 0

लखनऊ । रामायण विश्वमहाकोश के विमोचन अवसर पर सीएम योगी आदित्यनाथ (cm yogi adityanath) ने भारत और भारतीय संस्कृति पर सवाल खड़े करने वालों पर जमकर हमला किया। योगी ने कहा कि भारत की समृद्ध परंपराओं को आगे बढ़ाने में सेक्युलरिज्म शब्द ही सबसे बड़ा खतरा है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (cm yogi adityanath) ने कहा कि भारत की समृद्ध परंपराओं को आगे बढ़ाने में सेक्युलरिज्म शब्द ही सबसे बड़ा खतरा है। शनिवार को मुख्यमंत्री योगी रामायण विश्वमहाकोश के रूप में विमोचन किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि सेक्युलरिज्म शब्द भारत की इन समृद्ध परंपराओं को आगे बढ़ाने और वैश्विक मंच पर स्थान दिलाने में सबसे बड़ी बाधा और खतरा है। कहा कि हमें इससे उबर कर बहुत शुद्ध और सात्विक मन से प्रयास करने होंगे।

केंद्रीय मंत्री डॉ संजीव बालियान ने कहा- अगर छीनी गई किसान की जमीन तो दे दूंगा पद से इस्तीफा:

संत गाडगे प्रेक्षा गृह में आयोजित समारोह में योगी ने कहा कि यह विश्वमहाकोश हमें अयोध्या जाने के लिए बाध्य करेगा। विज्ञान और आध्यात्म के अनछुए पहलुओं से परिचय कराएगा। इस दौरान मुख्यमंत्री भारत और भारतीय संस्कृति पर सवाल खड़े करने वालों पर हमलावर रहे।

अपनी कंबोडिया यात्रा के दौरान अंकोरवाट मंदिर में मिले एक बौद्ध गाइड का उदाहरण देते हुए सीएम ने हिंदू संस्कृति पर सवाल उठाने वालों को करारा जवाब दिया। योगी ने कहा कि मंदिर का गाइड बौद्ध था, लेकिन उसको यह भी पता था कि बौद्ध धर्म की उत्पत्ति हिंदू धर्म से हुई है। यह बात वह निश्चिंत होकर बोल सकता है, लेकिन भारत में यह बोलेंगे, तो बहुत सारे लोगों के सेक्युलरिज्म को खतरा पैदा हो जाएगा।

मानवता की अमूर्त धरोहर कुंभ

उन्होंने कहा कि कुंभ ने भारत की संस्कृति, स्वच्छता, सुव्यवस्था और सुरक्षा का एक नया मानक प्रस्तुत किया। पूरी दुनिया और यूनेस्को को भी कहना पड़ा कि दुनिया की मानवता की अमूर्त धरोहर है कुंभ।

योगी ने कहा कि भारत की परम्परा पर कौन सा ऐसा देश है जो गौरव की अनुभूति न करता हो। इंडोनेशिया, थाईलैंड, लाओस, कंबोडिया ये सभी देश बहुत विश्वास के साथ उस परंपरा और संस्कृति के साथ जुड़े रहे हैं। रामायण और महाभारत की कहानियां हमें बहुत कुछ सिखाती हैं।

विपक्ष को आड़े हाथों लेते हुए योगी बोले कि कुछ लोगों ने तो राम के अस्तित्व और अयोध्या पर ही सवाल उठाने का प्रयास किया था। उस समय भी, जब श्रीराम जन्म भूमि के लिए आंदोलन चल रहा था कई इतिहासकार थे जो सवाल खड़े करने का प्रयास कर रहे थे। बहुत सारे लोगों ने तो यह कह दिया कि ये वो अयोध्या ही नहीं, जहां राम पैदा हुए थे। यही विकृत मानसिकता भारत को अपने गौरव से सदैव वंचित करती रही है।

‘जूठन के रूप में चंद पैसे मिल जाते हैं’

मुख्यमंत्री ने कहा कि जो चंद लोग भारत के खिलाफ वातावरण खड़ा करते हैं उन्हें जूठन के रूप में चंद पैसे मिल जाते हैं। लेकिन दुनिया में इनकी कदर कुछ भी नहीं। लोग मानते हैं कि ये अपने देश में गद्दारी कर रहे हैं। ये लोग बिकाऊ हैं, ये चंद पैसों के लिए अपनी आत्मा बेच चुके होते हैं।

अयोध्या शोध संस्थान की तारीफ करते हुए योगी ने कहा कि 2 वर्ष पूर्व ही मेरे सामने यह प्रस्ताव रखा था। योगी ने कहा कि यह गौरव की बात है कि, भारत की सनातन हिंदू धर्म परंपरा में जो सात पवित्र नगरियां हैं उनमें से तीन अयोध्या, मथुरा और काशी उत्तर प्रदेश में हैं। सनातन हिंदू धर्म की आत्मा यहां निवास करती है।

 

Related Post

यूपी में नई जनसंख्या नीति का विमोचन करेंगे सीएम योगी, दो से अधिक बच्चों वालों की कटेंगी सुविधाएं

Posted by - July 11, 2021 0
सीएम योगी आदित्यनाथ रविवार को यूपी जनसंख्या नीति 2020-21 शुरुआत करेंगे, जनसंख्या स्थिरता पखवाड़े की गतिविधियां भी शुरु हो जाएंगी।…
cm yogi

गुरूद्वारे में लंगर की परम्परा सेवा के साथ समरसता का संदेश देता है : सीएम योगी

Posted by - July 30, 2022 0
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) ने श्री गुरू तेग बहादुर जी के प्रकाश उत्सव कार्यक्रम को संबोधित…
sanjay raut

‘युद्ध जैसे हालात’, Covid-19 की स्थिति पर चर्चा के लिए संसद का विशेष सत्र बुलाया जाए- संजय राउत

Posted by - April 19, 2021 0
ऩई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस के रिकॉर्ड 2,73,810 नए मामले दर्ज किए गए हैं। लगातार दूसरे दिन संक्रमण के…

लखीमपुर हिंसा की एसटीएफ करेगी जांच, मामले से जुड़े 24 लोगों की हुई शिनाख्त

Posted by - October 4, 2021 0
लखीमपुर खीरी। यूपी के लखीमपुर खीरी में रविवार शाम किसानों और केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा…