नितिन गडकरी

CAA गांधी के सपनों को करेगा पूरा कांग्रेस बिगाड़ रही है देश का माहौल : नितिन गडकरी

124 0

नागपुर। केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने नागरिकता संशोधन एक्ट (CAA) के विरोध में हो रहे हिंसक आंदोलन की निंदा की है। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी ने कहा था कि मुस्लिम मुल्कों में रहने वाले अल्पसंख्यक लोग मुश्किल घड़ी में भारत आ सकते हैं। गांधी के वचन को पूरा करने के लिए मोदी सरकार CAA लाई है।

लोकाधिकार समिति की ओर से स्थानीय यशवंत स्टेडियम से CAA के समर्थन में रैली हुई

नागपुर में रविवार को लोकाधिकार समिति की ओर से स्थानीय यशवंत स्टेडियम से CAA के समर्थन में रैली हुई। इस रैली में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, भाजपा, विश्व हिन्दू परिषद, रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (आठवले), बजरंग दल, राष्ट्र सेविका समिति तथा कई स्वयंसेवी संगठन शामिल हुए। नितिन गडकरी ने कहा कि देश में कई लोग सीएए का बिना सोचे-समझे विरोध कर रहे हैं। इस अधिनियम का देश ले लोगों से सीधे तौर पर कोई संबंध नहीं है।

CAA के जरिए केन्द्र सरकार मुस्लिम देशों के अल्पसंख्यकों को गांधीजी के उसी आश्वासन की पूर्ति कर रही है

उन्होंने कहा कि भारत को आजादी मिलने के बाद 1947 में पाकिस्तान बना। बाद में 1971 में बांग्लादेश बनाया गया। अफगानिस्तान भी मुस्लिम देश के रूप में सामने आया। इन देशों में धार्मिक रूप से अल्पसंख्यक हिन्दू, जैन, सिख, पारसी, इसाई लोगों को प्रताड़ित किया जाने लगा। गडकरी ने कहा कि सीएए के जरिए केन्द्र सरकार मुस्लिम देशों के अल्पसंख्यकों को गांधीजी के उसी आश्वासन की पूर्ति कर रही है।

हिन्दू, सिख, जैन, बौद्ध, पारसी, इसाईयों के लिए भारत के अलावा अन्य कोई विकल्प नही

गडकरी ने कहा कि अन्य देशों से प्रताड़ित होकर भारत आने वाले हिन्दू, सिख, जैन, बौद्ध, पारसी, इसाईयों को डॉ. बाबासाहब आंबेडकर ने भारत के संविधान में शरणार्थी कहा है। पड़ोसी मुल्कों से भारत में घुसपैठ करने वाले मुस्लिमों को डॉ. आंबेडकर ने शरणार्थी के रूप में स्वीकारने से इन्कार किया है। बतौर डॉ. आंबेडकर इस्लामिक मुल्कों से प्रताड़ित होने वाले मुस्लिमों के लिए दुनिया में विकल्प के तौर पर कई देश हैं लेकिन हिन्दू, सिख, जैन, बौद्ध, पारसी, इसाईयों के लिए भारत के अलावा अन्य कोई विकल्प नही है। गडकरी ने सवाल किया कि ऐसे में इन नागरिकों को शरण देना और जीवन जीने का अधिकार मुहैया कराना क्या अपराध है?

हिन्दू होना अपराध है क्या?

गडकरी ने बताया कि वह सच्चे स्वयंसेवक हैं तथा आरएसएस कभी मुस्लिमों का द्वेष करने की शिक्षा नहीं देता। संघ सिखाता है कि देश हमारा घर है। इसमें रहने वाले सभी आपस में भाई-भाई हैं। इन्हीं संस्कारों के आधार पर हमारी पार्टी और सरकार चल रही है। पड़ोसी मुल्कों में धार्मिक आधार पर प्रताड़ित हुए लोगों को सहारा देना भी हमारी जिम्मेदारी है। राजस्थान में पड़ोसी मुस्लिम मुल्कों से आए हिन्दू शरणार्थियों की हालत बेहद खराब थी। इन लोगों ने अपना घर, पैसा, संपत्ति और मां-बहनों ने अपनी इज्जत खो दी। भारत आने के बाद उन्हें पीने का पानी और शौचालय के लिए मैंने पांच लाख रुपये की सहायता की थी। गडकरी ने सवाल पूछा कि भारत आए शरणार्थी भी क्या हमारी तरह इन्सान नहीं हैं? क्या उनकी सहायता नहीं की जानी चाहिए ? या हिन्दू होना अपराध है ?

SBI से NEFT करना हुआ आसान, जानें कितना देना होगा चार्ज 

मुस्लिमों के साथ भेदभाव नहीं

मुस्लिम समाज से मुखातिब होते हुए गडकरी ने कहा कि अभिनेत्री सलमा आगा, पृथ्वीराज कपूर के परिवार से हैं। बंटवारे के वक्त सलमा आगा के परिवार ने इस्लाम कबूल कर लिया था। फिलहाल सलमा मुंबई में रहती हैं। भारत सरकार ने उन्हें नागरिकता प्रदान की है। इसी तरह अदनान सामी को भी भारतीय नागरिकता प्राप्त है। हम किसी धर्म विशेष के खिलाफ नहीं है। दुश्मन की बहू को मां का दर्जा देने वाले छत्रपति शिवाजी महाराज हमारे आदर्श हैं। गडकरी ने कहा कि हिन्दू और मुस्लिम दोनों समुदाय हमारी सरकार के लिए एक समान है।

गडकरी ने कहा कि कांग्रेस बिगाड़ रही है देश का माहौल

गडकरी ने कांग्रेस पर जोरदार प्रहार करते हुए आरोप लगाया कि कांग्रेस की सरकारों ने घुसपैठियों के लिए रेड कार्पेट बिछाई थी। इन घुसपैठियों के लिए वोटर आईडी, राशन कार्ड मुहैया करवाए गए। कांग्रेस को बदले में केवल इन लोगों के वोट चाहिए थे। देश के मुसलमानों को कांग्रेस के कार्यकाल में चाय और पंचर की दुकानें मिली। नतीजतन यह समाज पिछड़ता रह गया। अब वोट बैंक की राजनीति के चलते कांग्रेस सीएए और एनआरसी का डर दिखाकर इन लोगों को गुमराह कर रही है। गडकरी ने सीधे तौर पर आरोप लगाया कि कांग्रेस देश में अराजकता और डर का माहौल पैदा कर रही है। इस अवसर पर गडकरी ने कहा कि भय, भूख और आतंक से मुक्ति हमारी सरकार का अजेंडा है तथा हम इसे पूरा करके रहेंगे।

Loading...
loading...

Related Post

कोरोना से जीतनी है जंग

कोरोना से बचने के लिए क्या आप भी बार-बार उबालकर पीते हैं पानी? तो जानें इसका नुकसान

Posted by - May 10, 2020 0
नई दिल्ली। कोरोना संक्रमण व अन्य बीमारियों से बचे रहने के लिए डॉक्टर लोगों को पानी उबालकर पीने की सलाह…
रोजगार मेला

एमआईटी मेरठ में आठ फरवरी को 8921 पदों पर भर्ती के लिए रोजगार मेला

Posted by - February 4, 2020 0
लखनऊ। सेवायोजन विभाग और मेरठ इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एमआईटी संयुक्त रूप से एक वृहद रोजगार मेला आठ फरवरी को एमआईटी…
Yes बैंक

Yes बैंक के जमाकर्ताओं की पूंजी पूरी तरह सुरक्षित, न करें चिंता : निर्मला सीतारमण

Posted by - March 6, 2020 0
नई दिल्ली। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को Yes बैंक के जमाकर्ताओं को भरोसा दिलाया है। उन्होंने कहा…