CM Dhami

जीवन में सब कुछ लौट सकता है किंतु समय कभी नहीं लौटता: सीएम धामी

45 0

सागर। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (CM Dhami) ने कहा कि जीवन में संकल्प के आगे विकल्प न हो तो सिद्धि अपने आप मिलती है। ध्येय बनाकर काम किया जाए तो कठिन से कठिन मंजिल आसान होती है।

मुख्यमंत्री धामी (CM Dhami) अपने सागर प्रवास के दूसरे दिन मंगलवार को डीएनसीबी स्कूल में आयोजित शिक्षक-छात्र सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मैं अभी भी अपने बचपन की यादें नहीं भूला हूं ,जब साइकिल से स्कूल आता था। तब एक बार मेरा बस्ता साइकिल की चक्की में फंस जाने के कारण मैं गिर गया और हाथ में फैक्चर हो गया था। मेरे पिताजी तत्काल आर्मी अस्पताल ले गए एवं फैक्चर होने पर प्लास्टर चढ़ाया गया।

उन्होंने उस समय के दौरान स्कूल के पास की बाबा चाट की प्रशंसा करते हुए कहा कि हम लोग रिसेस होने पर बब्बा की चाट खाने जरूर जाते थे। उन्होंने अपनी बचपन की अनेक यादें शेयर की। मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि जीवन में संकल्प के साथ यदि विकल्प नहीं रहता है तो सिद्धि अपने आप प्राप्त होती है। दुनिया का कोई भी कार्य असंभव नहीं होता बस मन में संकल्प होना चाहिए और उसे करने की क्षमता। जीवन में यदि कोई भी कार्य ध्येय बनाकर किया जाए तो मंजिल अवश्य मिलती है। उन्होंने कहा कि समाज, प्रदेश, देश की भावनाओं का सम्मान करते हुए मैं आगे बढ़ा हूं और हमेशा सम्मान करता रहूंगा।

मुख्यमंत्री धामी (CM Dhami) ने कहा कि स्कूल की ख्याति प्रदेश, देश एवं विश्व के शिक्षा पटल पर अंकित हो, ऐसी मेरी कामना है। डीएनसीबी स्कूल के सभी बच्चे अच्छी से अच्छी जगह पहुंचे, इसके लिए मैं हमेशा आपके सहयोग के लिए तैयार हूं। उन्होंने कहा कि धरती से आसमान छूने एवं साधारण से असाधारण कार्य वही लोग करते हैं जिनके मन में संकल्प, प्रण एवं इच्छाशक्ति होती है।

उन्होंने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक साधारण परिवार से होते हुए भी आज एक कुशल शिल्पी की तरह नए भारत का निर्माण कर रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी के कारण ही पूरे देश का नाम पूरे विश्व में सम्मान के साथ लिया जाता है। उन्होंने कहा कि मैं डीएनसीबी स्कूल के कोने-कोने से अभिभूत हूं। उन्होंने भावुक शब्दों में कहा कि यह स्कूल बहुत ही असाधारण है। मैं कोई राजनीति का प्रोफ़ेसर नहीं हूं लेकिन इस स्कूल के संस्कार के कारण ही आगे बढ़ पाया हूं। इस स्कूल एवं सागर की भूमि को मैं नमन करता हूं और शीघ्र ही में अपने बच्चों के साथ अपने पिता एवं बच्चों के दादा की कर्म स्थली पर अवश्य आऊंगा।

मुख्यमंत्री धामी (CM Dhami) ने कहा कि जीवन में सब कुछ लौट सकता है किंतु समय कभी नहीं लौटता। मैं चाहूं तो मुख्यमंत्री होते हुए भी विद्यार्थी बनकर पढ़ाई नहीं कर सकता किंतु अन्य माध्यम से पढ़ाई अवश्य कर सकता हूं। उन्होंने कहा कि पढ़ाई के समय केवल पढ़ाई करें और खेल के समय केवल खेलें भी यदि पढ़ाई के साथ खेल आप करेंगे तो दोनों पर आगे नहीं बढ़ पाएंगे। उन्होंने कहा खूब पढ़े और खूब आगे बढ़े। उन्होंने अपने समस्त गुरुजनों से कहा कि आप सभी इसी प्रकार की अच्छी से अच्छी शिक्षा देकर विद्यार्थियों को खूब आगे बढ़ाएं।

मुख्यमंत्री धामी ने स्कूल की अटल टिंकरिंग लैब एवं स्मार्ट क्लास रूम पहुंचकर आवश्यक जानकारी प्राप्त की एवं छात्र-छात्राओं शिक्षकों से चर्चा की। इस अवसर पर विधायक प्रदीप लारिया, पूर्व विधायक हरवंश सिंह राठौर, प्रभु दयाल पटेल, लेफ्टिनेंट जनरल सी वंशी पोनप्पा, ब्रिगेडियर नवनीत जरियाल, ब्रिगेडियर साईं प्रसाद सिस्टला, कर्नल अविनाश, कमांडेंट उमंग कुमार चौधरी, मेजर नवजीत सिंह, कलेक्टर दीपक आर्य, पुलिस अधीक्षक तरुण नायक, छावनी परिषद की सीईओ श्रेया जैन सहित छावनी परिषद के अधिकारी, गणमान्य नागरिक, छात्र-छात्राएं, शिक्षक मौजूद थे।

Related Post

Yogi government

सीएम योगी का बड़ा एक्शन, भ्रष्टाचार मामले में उन्नाव के डीएम देवेंद्र पांडेय सस्पेंड

Posted by - February 22, 2020 0
लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने भ्रष्टाचार के खिलाफ बड़ा एक्शन लिया है। इसी क्रम में उन्नाव के डीएम…
pawandeep

इंडियन आइडल के पूर्व विजेता पवनदीप ने मुख्यमंत्री धामी से की मुलाकात

Posted by - May 21, 2022 0
देहरादून। इंडियन आइडल रियलिटी शो के विजेता रहे गायक पवनदीप राजन (Pawandeep) ने आज देहरादून में मुख्यमंत्री (CM Dhami) से…
तेलंगाना के छह लोगों की कोरोना वायरस से मौत

तेलंगाना में कोरोना से छह की मौत, निजामुद्दीन के जमात कार्यक्रम में हुए थे शामिल

Posted by - March 31, 2020 0
हैदराबाद । दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तब्लीगी जमात के मरकज में एक कार्यक्रम में शामिल हुए तेलंगाना के छह लोगों…