विधुत विभाग पर लापरवाही का आरोप लगाकर -आक्रोशित लोगों ने किया रोड़ जाम

विधुत विभाग पर लापरवाही का आरोप लगाकर -आक्रोशित लोगों ने किया रोड़ जाम

338 0

विद्युत विभाग की लापरवाही के चलते बंथरा इलाके में शनिवार को खेत में टूटे पड़े हाई टेंशन लाइन के तार की चपेट में आकर एक महिला की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई। घटना से गुस्साए ग्रामीणों ने मुआवजे की मांग को लेकर बनी – मोहान रोड को जाम कर दिया। बाद में सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने उन्हें काफी समझाने बुझाने का प्रयास किया, लेकिन ग्रामीण विद्युत विभाग के अधिकारियों को मौके पर बुलाने की बात पर अड़े रहे, बाद में मौके पर पहुंचे अधिशासी अभियंता ने मृतक के परिजनों को विभाग की ओर से उचित मुआवजा दिलाने का आश्वासन देकर उन्हें शांत किया। करीब 2 घंटे तक रोड पर चले जाम प्रदर्शन से सड़क पर दोनों ओर वाहनों की लंबी-लंबी कतारें लग गई। बताते हैं कि बंथरा के तारा खेड़ा गांव निवासी महेश लोधी की पत्नी राजकुमारी उर्फ राजवती 40 शनिवार सुबह अपने खेत में हरी धनिया लेने गई थी। लेकिन काफी देर तक वापस नहीं लौटी।

 काफी देर तक घर न लौटने पर जब महेश उसे तलाशने खेत पहुंचा तो वहां खेत में जमीन पर टूटे पड़े 11 हजार वोल्टेज विद्युत लाइन के तार से चिपकी राजकुमारी मृत हालत में पड़ी मिली। घटनास्थल देखकर महेश के होश उड़ गए। घटना की जानकारी परिजनों और ग्रामीणों को हुई तो मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने इसकी सूचना गहरू पावर हाउस पर दी, लेकिन सूचना के काफी देर बाद तक विद्युत सप्लाई नहीं ठप की गई जिससे ग्रामीण नाराज हो गए और पास में ही मौजूद बनी – मोहान रोड पर पहुंचकर जाम प्रदर्शन शुरू कर दिया। ग्रामीणों का कहना था कि घटना की सूचना तुरंत बंथरा थाने पर दी गई, लेकिन पुलिस भी काफी देर तक नहीं पहुंची। नाराज ग्रामीणों ने रोड पर बांस बल्ली डालकर आवागमन पूरी तरह बंद कर दिया। वह मृतक के परिजनों को बिजली विभाग द्वारा मुआवजा दिए जाने की मांग कर रहे थे।

गौमांस से लदी कार ने दो युवकों को रौंदा

 सूचना के काफी देर बाद पहुंची बंथरा पुलिस ने उन्हें काफी समझाया बुझाया, लेकिन ग्रामीण विद्युत अधिकारियों को बुलाने की मांग पर अड़े रहे। ग्रामीणों में बिजली विभाग के प्रति इतना गुस्सा था कि वह किसी कीमत पर सड़क से हटने को तैयार नहीं थे। हालाकि बाद में सूचना पाकर सरोजनीनगर तहसीलदार ज्ञानेंद्र सिंह और मध्यांचल विद्युत वितरण खंड प्रथम के अधिशासी अभियंता संदीप तिवारी मौके पर पहुंचे। जहां उन्होंने पीड़ित परिवार को 10 हजार रुपये नगद देने के साथ ही विभाग द्वारा जल्द ही आर्थिक मदद के रूप में उचित मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया। जिसके बाद ग्रामीण शांत हुए और जाम प्रदर्शन भी खत्म कर दिया। करीब 2 घंटे तक रोड पर चले ग्रामीणों के जाम प्रदर्शन से रोड जाम होने के कारण सड़क पर दोनों ओर वाहनों की लंबी-लंबी कतारें लग गई। फिलहाल बाद में पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

15 दिनों से खेत में टूटा पड़ा था तार

ग्रामीणों का कहना था कि हाईटेंशन विद्युत लाइन का यह तार पिछले 15 दिनों से यहां पर टूटा पड़ा है। इसको लेकर कई बार गहरू पावर हाउस के अधिकारियों से शिकायत की गई, लेकिन बिजली विभाग द्वारा बिल्कुल ध्यान नहीं दिया गया, नतीजा यह हुआ कि आज अचानक यह घटना हो गई। उनका कहना था कि अगर बिजली विभाग के अधिकारी पहले ही चेत गए होते, तो शायद यह घटना नहीं होती।

Related Post

ममता बनर्जी

‘बरमूडा’ वाले बयान पर ममता का पलटवार- कोई क्या पहनता है ये उसकी मर्जी

Posted by - March 25, 2021 0
कोलकाता। पश्चिम बंगाल के पाथरप्रतिमा में बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) ने गुरुवार को चुनावी सभा को संबोधित…