Panchayat Election

पंचायत चुनाव : पहले चरण में 71 फीसदी मतदान

545 0

लखनऊ। सूबे में गुरुवार को हुए पहले चरण के त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों के दौरान आगरा व झांसी में जमकर बवाल हुआ। पहले चरण के 18 जिलों में कुल मिलाकर 71 फीसदी मतदान हुआ। मतदान के दौरान वोटरों ने कोरोना संक्रमण की दहशत को पूरी तरह मात दी। आयोग के मुताबिक मतदान शांतिपूर्वक सम्पन्न हुआ, कहीं कोई बड़ी अप्रिय घटना नहीं हुई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मतदान सकुशल होने पर मतदाताओं को हार्दिक बधाई देते हुए कहा कि कोरोना कालखंड की विषम परिस्थितियों के बावजूद मतदाताओं ने उत्साहपूर्वक चुनाव में शामिल होकर लोकतंत्र को सुदृढ़ बनाने का कार्य किया है।

आगरा, झांसी में जमकर हुआ बवाल

राज्य निर्वाचन आयोग के मुताबिक सबसे ज्यादा झांसी में 80 प्रतिशत मतदान हुआ। इसके अलावा अयोध्या में 70, आगरा में 71.61, कानपुर नगर में 75, गाजियाबाद में 74.33, गोरखपुर में 70, जौनपुर में 63.15,  प्रयागराज में 79, बरेली में 73.30, भदोही में 63.81, महोबा में 78, रामपुर में 71, रायबरेली में 68, श्रावस्ती में 64, संत कबीरनगर में 79, सहारनपुर में 74.63, हरदोई में 79 व हाथरस में 79.55 प्रतिशत मतदान हो चका था।

झांसी में कहीं फाडे बैलेट पेपर तो कहीं मतपेटियों में डाला पानी

इस बीच, झांसी में बड़ागांव ब्लॉक स्थित जौरी बुजुर्ग मतदान केंद्र में तैनात चुनाव अधिकारी निर्मला साहू की बेचैनी महसूस होने के बाद मृत्यु हो गई। अपर पुलिस अधीक्षक (नगर) विवेक त्रिपाठी ने बताया कि महिला चुनाव अधिकारी को बेचैनी महसूस हुई और अस्पताल ले जाने से पहले ही उनकी मृत्यु हो गई। उनकी मौत का कारण पोस्टमार्टम के बाद ही पता लग पाएगा।

फतेहाबाद में 2 मतपेटिकाएं लूट ले गये अराजकतत्व

उधर, आगरा में आगरा ग्रामीण क्षेत्र में चुनाव के दौरान रिहावली गांव से दो मत पेटियां चोरी हो गई। पुलिस अधीक्षक (पूर्वी) अशोक वेंकट ने बताया कि ग्राम प्रधान पद के दो उम्मीदवारों के समर्थकों के बीच हिंसक झड़प हो गई जिसके बाद दो मत पेटियां चोरी हो गईं। उन्होंने बताया कि इस झड़प में चार लोग जख्मी हो गए जिन्हें मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है।

यूपी  में कोरोना संक्रमण के 22439 नए केस, 114 मरीजों की मौत

आगरा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मुनिराज जी. ने बताया इस हिंसक टकराव के मामले में अब तक 26 लोगों को गिरफतार किया गया है और मामले की जांच की जा रही है। आगरा के जिलाधिकारी प्रभु नारायण सिंह ने कहा कि वह प्रभावित बूथ पर पुनर्मतदान के लिए आयोग से गुजारिश करेंगे। पंचायत चुनाव के पहले चरण में जिला पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत सदस्य, ग्राम प्रधान और ग्राम पंचायत वार्ड सदस्य की दो लाख 21000 से अधिक सीटों के लिए तीन लाख 33 हजार से ज्यादा उम्मीदवार मैदान में थे।

पहले चरण में जिला पंचायत सदस्य के 779 पदों के लिए 11442 प्रत्याशी, क्षेत्र पंचायत सदस्य के 19313 पदों के लिए 81747 उम्मीदवार, ग्राम प्रधान के 14789 पदों के लिए 114142 प्रत्याशी तथा ग्राम पंचायत वार्ड सदस्यों के 186583 पदों के लिए 126613 उम्मीदवार मैदान में थे। मतदान कोविड-19 संबंधित कड़े प्रोटोकॉल के बीच हो रहा है। इस दौरान मतदाताओं को मास्क लगाना और सामाजिक दूरी के नियमों का अनुपालन अनिवार्य किया गया है। मतगणना आगामी दो मई को की जाएगी।

मतदान के दौरान गुरुवार को आगरा और झांसी जिले में जमकर बवाल हुआ। आगरा के फतेहाबाद तहसील के रिहावली मतदान केंद्र प्राथमिक विद्यालय के एक बूथ से उपद्रवी  दो मतपेटिका लूट ले गए। इससे पहले फर्जी वोटिंग को लेकर दो पक्षों के समर्थक आमने-सामने आए थे। मतपेटी लूट की जानकारी मिलते ही पुलिस फोर्स सहित जिला अधिकारी और एसएसपी मौके पर पहुंचे।

वहीं, झांसी जिले के ककरबई थाना क्षेत्र अंतर्गत गांव कैरोखर में बनाए गए बूथ संख्या 1, 2 पर जमकर उपद्रव हुआ। मतदान केन्द्र पर रखे बैलेट पेपर फाड़ डाले। कुर्सियां तोड़ डाली, जमकर पथराव किया। जिससे कई घंटे मतदान बाधित रहा। घटना के बाद केन्द्र छावनी में तब्दील हो गया। करीब एक घंटे के बाद भारी पुलिस बल की मौजूदगी में दोबारा मतदान शुरू हुआ।

इसी बीच झांसी कोतवाली थाना क्षेत्र अंर्गत मोहल्ला दतिया गेट बाहर निवासी निर्मला साहू (56) का बड़ागांव के सिविल विद्यालय गांव जौरी बुजुर्ग बूथ नंबर 61 पर मतदान अधिकारी के रूप में ड्यूटी लगाई थी। सुबह करीब 11 बजे अचानक निर्मला को उल्टियां हुई। आनन-फानन से डॉक्टरों की टीम बुलाई गई। इसी बीच निर्मला ने दम तोड़ दिया, जिससे मतदान में व्यवधान हुआ।

वहीं, बरेली के क्यारा ब्लॉक के अंगूरी प्राथमिक विद्यालय में दोपहर 11:30 बजे मतदान करने में हुई गलती को लेकर दंपत्ति के बीच मतदान स्थल पर ही झगड़ा होने लगा। महिला का विरोध भी सही था। क्योंकि उसका पति उसके नाम की पर्ची लेकर वोट डालकर लौट आया। जब महिला वोट डालने पहुंची वहां मतदान केंद्र पर कर्मचारियों ने वोट डलवाने से मना कर दिया। पर्ची देने वाले एजेंट और मतदान केंद्र पर मौजूद वोट डलवाने वाले कर्मचारियों की गलती थी। दंपति का झगड़ा होते देखकर कुछ लोग पहुंचे। दोनों को समझाकर घर भेजा।

मतदान सकुशल होने पर मुख्यमंत्री ने दी मतदाताओं को हार्दिक बधाई

इस बार चुनाव मैदान में भाजपा, सपा और कांग्रेस के साथ-साथ, आम आदमी पार्टी, आजाद समाज पार्टी तथा असदुद्दीन ओवैसी की अगुवाई वाली आॅल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन भी है। हालांकि, प्रत्याशी किसी पार्टी के चिन्ह पर चुनाव नहीं लड़ेंगे बल्कि उन्हें आयोग द्वारा स्वतंत्र चुनाव निशान दिए गए हैं।

Related Post

उद्धव ठाकरे

कांग्रेस-एनसीपी के साथ कॉमन मिनिमम प्रोग्राम पर कर रहे हैं काम : उद्धव ठाकरे

Posted by - November 12, 2019 0
मुंबई। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि हम तीन पार्टी साथ आना चाहते हैं, लेकिन हमें वक़्त नहीं दिया…
Harak Singh Rawat

सिविल और रिजर्व वन क्षेत्र के फेर में न पड़ें, जिम्मेदारी समझें-मंत्री हरक सिंह

Posted by - April 5, 2021 0
श्रीनगर। वनाग्नि की घटनाओं को देखते हुए वन मंत्री हरक सिंह रावत  (Harak Singh Rawat) ने वन विभाग के अधिकारियों…
अभिनेत्री भाग्‍यश्री

लोहरदगा: अभिनेत्री भाग्‍यश्री ने कांग्रेस के लिए मांगा वोट, झलक पाने को बेताब दिखे लोग

Posted by - November 26, 2019 0
लोहरदगा। लोहरदगा से कांग्रेस प्रत्याशी डॉ. रामेश्वर उरांव के पक्ष में मंगलवार को दो अलग-अलग स्थानों पर फिल्म अभिनेत्री भाग्यश्री…
Kamdhenu Chair

यूपी के विश्वविद्यालयों में कामधेनु पीठ स्थापना के लिए गोसेवा आयोग अध्यक्ष ने लिखा पत्र

Posted by - December 29, 2020 0
लखनऊ। उत्तर प्रदेश गो सेवा आयोग के अध्यक्ष प्रो. श्याम नन्दन सिंह ने प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों के कुलपतियों से…