Dhumakote bus accident

धुमाकोट बस हादसे में 32 की मौत

38 0

देहरादून/पौड़ी। पौड़ी जिले के रिखणीखाल धुमाकोट में मंगलवार रात को बारातियों से भरी बस हादसे (Dhumakote bus accident) में रेस्क्यू कार्य को बुधवार को पूरा कर लिया गया है। अब तक कुल 32 लोगों की मौत हुई है और 18 घायल हुए हैं। बस में कुल 50 लोग सवार थे।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (CM Dhami) स्वयं रेस्क्यू कार्य के लिए मोर्चा संभाल रखा था। आपदा कंट्रोल रूम से लेकर घटना स्थल पर पहुंच जानकारी लेते रहे। सीएम ने पौड़ी और उत्तरकाशी के मृतकों के परिजनों, गम्भीर घायल और सामान्य घायल को आर्थिक सहायता देने का ऐलान किया है।

कोटद्वार-रिखणीखाल-बीरोंखाल मार्ग पर सिमड़ी गांव के पास बारातियों से भरी एक बस अनियंत्रित होकर पूर्वी नयार नदी की घाटी में जा गिरी थी। बस हरिद्वार जिले के लालढांग से बारात लेकर पौड़ी के बीरोंखाल गांव जा रही थी। इस हादसे के बाद मुख्यमंत्री अपने सभी कार्यक्रम स्थगित कर रेस्क्यू कार्य और घायलों के उपचार को सख्त हिदायत दी थी।

एसडीआरएफ और पुलिस के अनुसार बस दुर्घटना में 30 मृतकों और 20 घायलों को निकाला गया है। 20 घायलों में से 02 व्यक्तियों की हॉस्पिटल ले जाते समय मृत्यु हो गई थी। इस घटना में कुल 32 लोगों की मौत हुई है, जबकि 18 लोग घायल हैं। बस में सवार यात्रियों की संख्या 50 बताई गई है। एसडीआरएफ ने रेक्स्यू कार्य को पूरा करने की बात कही है।

सीएम धामी ने कोटद्वार बेस अस्पताल पहुंच घायलों की ली जानकारी

मंगलवार रात को पौड़ी में हुए बस हादसे के बाद मुख्यमंत्री धामी बुधवार को सांसद डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक के साथ बस हादस घटनास्थल और बेस अस्पताल कोटद्वार जाकर घायलों और परिजनों से मिल कर सरकार की ओर से पूरा सहयोग का भरोसा दिलाया। मुख्यमंत्री के सक्रियता का परिणाम ही रहा कि पौड़ी के अलावा नैनीताल और अल्मोड़ा के जिलाधिकारियों राहत बचाव कार्य के लिए मुस्तैद रखा था।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने पौड़ी जिले में बस हादसे से मतृकों के परिजनों को आर्थिक देने की घोषणा की है। उन्होंने दोनों घटनाओं में मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख,गम्भीर घायल को 1-1 लाख और सामान्य घायल को 50-50 हजार की आर्थिक सहायता देने का ऐलान किया है।

Related Post

15वें वित्त आयोग का कार्यकाल

15वें वित्त आयोग का कार्यकाल एक साल बढ़ाने पर केंद्रीय कैबिनेट की लगी मुहर

Posted by - November 27, 2019 0
नई दिल्ली। केंद्र और राज्यों के बीच संसाधन बंटवारे का फार्मूला तय कर रहे 15वें वित्त आयोग का कार्यकाल केंद्र…
प्रभावी जनसंख्या नियंत्रण कानून

राज्यसभा में प्रभावी जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने की मांग उठी

Posted by - March 13, 2020 0
नई दिल्ली। देश में बढ़ती आबादी और घटते संसाधन के मद्देनजर प्रभावी जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने की मांग शुक्रवार को…