UP: बीएससी पास कर रहा इलाज, OT में मिली बीयर की बोतल!

166 0

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में जिला प्रशासन ने एक साथ 45 निजी अस्पतालों पर छापेमारी की, जहां खुलाशा हुआ कि इलाज के नाम पर लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ हो रहा था। किसी अस्पताल में जांच टीम को डॉक्टर नहीं मिले तो किसी ऑपरेशन थियेटर में दवा की जगह बीयर की बोतलें मिली, ज्यादातर अस्पताल के पास लाइसेंस ही नहीं मिला। जिला प्रशासन की 6 टीमों ने छापेमारी थी जिसके बाद 29 अस्पतालों को नोटिस जारी किया गया है। एक स्पताल में बीएससी पास मरीजों का इलाज कर रहा था।

स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन की छापेमारी के बाद जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश के निर्देश पर सीएमओ डॉ. मनोज अग्रवाल यह कदम उठाया। सीएमओ डॉ. मनोज अग्रवाल ने कहा कि अगर अस्पताल मैनेजमेंट ने संतोषजनक जवाब नहीं दिया तो सीलिंग की कार्रवाई की जाएगी।

पेट्रोल-डीजल को GST के दायरे में लाने की कोई योजना नहीं- फिर बोली सरकार, आखिर क्या है मंशा?

दुबग्गा से हरादोई रूट पर एसीएम द्वितीय किंशुक श्रीवास्तव और डॉ. मिलिन्द की टीम ने पांच अस्पतालों पर छापे मारे। तुलसी एंड ट्रॉमा सेंटर के आईसीयू में चार बेड लेकिन कोई ईएमओ या डॉक्टर नहीं मिला। मेरिटस हॉस्पिटल में एएनएम और जीएनएम का कोर्स कर रहे छात्र छात्राएं नर्सिंग और ओटी टेक्नीशियन का कार्य करते मिले। आईसीयू के चार बेड लेकिन ईएमओ या कोई डॉक्टर नहीं था। अस्पताल की ओटी के रेफ्रिजिरेटर में बीयर की बोतलें मिलीं। अस्पताल के लाइसेंस की वैधता भी खत्म हो चुकी है। मॉर्डन हॉस्पिटल मैटरनिटी एंड ट्रॉमा सेंटर पर कोई डॉक्टर नहीं मिला।

Related Post