इन महिलाओं ने अपने क्षेत्र में कमाया नाम, स्त्री पुरूष के भेद को मिटाने में की कड़ी मेहनत

31 0

लखनऊ डेस्क। इतिहास उन महिलाओं से भरा है जिन्होंने अपने अधिकार के लिए स्त्री पुरूष के भेद को मिटाने में कड़ी मेहनत की। आज हम ऐसी ही कुछ भारतीय महिलाओं के विषय में बताने जा रहे हैं, जो अपने क्षेत्र की प्रथम महिला हैं-

1-मिताली राज भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान है। ये टेस्ट क्रिकेट में दोहरा शतक बनाने वाली पहली महिला हैं। 1999 में मिताली ने एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मैच से अपने खेल की शुरूआत की। जिसमें उन्होंने 114 रन बनाए। वह पहली महिला क्रिकेटर हैं जिन्होंने अंतर्राष्ट्रीय एक दिवसीय मैच में सात बार अर्द्ध शतक बनाए हैं।

2-भारतीय पुलिस की प्रथम वरिष्ठ महिला अधिकारी का नाम किरण बेदी है। ये दिल्ली के खुफिया पुलिस आयुक्त के पद पर भी कार्य कर चुकी हैं। इन्होंने 1972 में पुलिस अधिकारी के रूप में कार्य शुरू किया और 2007 में सेवानिवृत्ति ले ली। ये लोकप्रिय टी.वी. शो ‘आपकी कचहरी’ की मेजबान भी रह चुकी हैं। वर्तमान समय में यह पुड्डूचेरी की उपराज्यपाल हैं।

3-साइना नेहवाल विश्व स्तर पर शीर्ष स्थान की महिला बैडमिंटन खिलाड़ी हैं। इस स्थान पर पहुँचने वाली वह प्रथम भारतीय महिला हैं। लंदन ओलंपिक 2012 में कांस्य पदक हासिल करने के पश्चात 2008 में ओलंपिक खेलों में क्वार्टर फाइनल तक पहुँची। इनका विवाह बैडमिंटन खिलाड़ी पी. कश्यप से हुआ है। इन्हें ‘पद्मश्री’ और ‘राजीव गांधी खेल रत्न’ से सम्मानित किया गया है।

4-अरूणिमा सिन्हा राष्ट्रीय स्तर की पूर्व वालीबॉल खिलाड़ी हैं। 12 अप्रैल 2011 को लखनऊ से दिल्ली जाते समय कुछ अपराधियों ने उन्हें ट्रेन से नीचे फेंक दिया, जिसके कारण वह अपना एक पैर गंवा बैठीं। लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और एवरेस्ट शिखर पर चढ़ने वाली पहली भारतीय दिव्यांग महिला बनीं।

loading...
Loading...

Related Post

असद मजीद खान

अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने का नहीं पड़ेगा कोई प्रभाव -असद मजीद खान

Posted by - May 4, 2019 0
इस्लामाबाद। आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा वैश्विक आतंकवादी घोषित किए जाने का पाकिस्तान…