Khelo India

सबसे बड़ी खेल मेजबानी को तैयार उत्तर प्रदेश

81 0

लखनऊ। उत्तर प्रदेश अपने अब तक के सबसे बड़े खेल आयोजन की मेजबानी करने को तैयार है। गुरुवार को लखनऊ की बीबीडी यूनिवर्सिटी में खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स 2022 (Khelo India University Games) का विधिवत शुभारंभ होगा। पीएम मोदी वर्चुअली केआईयूजी (Khelo India) का आधिकारिक उद्घाटन करेंगे, जबकि लखनऊ में सीएम योगी इस ऐतिहासिक अवसर पर खिलाड़ियों से मुलाकात करेंगे। 10 दिन तक चलने वाले इस आयोजन में 4000 से अधिक एथलीट 21 खेलों में 200 से अधिक यूनिवर्सिटीज को रिप्रजेंट करेंगे। 3 जून को इसका समापन बीएचयू वाराणसी में होगा। युवा खिलाड़ियों की संख्या के आधार पर यह प्रदेश का सबसे बड़ा आयोजन साबित होने वाला है। इस वजह से इसे खेलों का महाकुंभ कहा जा रहा है। इस अवसर पर केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर, केंद्रीय खेल राज्यमंत्री निसिथ प्रमाणिक समेत प्रदेश के तमाम मंत्री और अधिकारी मौजूद रहेंगे। शुभारंभ समारोह में मशहूर गायक कैलाश खेर अपनी प्रस्तुति भी देंगे।

लखनऊ में सबसे ज्यादा खेलों का आयोजन

खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स (Khelo India) 2022 उत्तर प्रदेश के चार शहरों (लखनऊ, वाराणसी, गोरखपुर और गौतमबुद्धनगर) में आयोजित किया जाएगा। राजधानी लखनऊ के अलावा, शूटिंग प्रतियोगिताओं का आयोजन नई दिल्ली में भी किया जाएगा। कार्यक्रम के अनुसार लखनऊ 8 स्थानों पर 12 खेलों (तीरंदाजी, जूडो, मल्लखंब, वॉलीबॉल, तलवारबाजी, बैडमिंटन, टेबल टेनिस, रग्बी, एथलेटिक्स, हॉकी, फुटबॉल की मेजबानी करेगा। गौतमबुद्धनगर (नोएडा) 03 स्थानों में 05 खेलों (बास्केटबॉल, कबड्डी, मुक्केबाजी, तैराकी और भारोत्तोलन) की मेजबानी करेगा। वाराणसी आईआईटी-बीएचयू, 02 खेलों (कुश्ती और योगासन) की मेजबानी करेगा, जबकि, गोरखपुर और दिल्ली क्रमशः रोइंग और शूटिंग इवेंट का आयोजन करेंगे। रोइंग को पहली बार इन गेम्स में शामिल किया गया है।

9 हजार किमी. का सफर तय कर लौटी मशाल

5 मई को लखनऊ से रवाना की गई खेलों की मशाल प्रदेश के 75 जिलो से होते हुए 8948 किमी. का सफर तय कर बुधवार को वापस लखनऊ पहुंची। गुरुवार को ये मशाल बीबीडी यूनिवर्सिटी पहुंचेगी। मालूम हो कि लखनऊ से चार मशालें रवाना की गई थीं, जिसके साथ इन खेलों का शुभंकर जीतू भी था। चारों मशालों ने उत्तर प्रदेश के विभिन्न हिस्सों को कवर किया और सभी जगह खिलाड़ियों व खेल प्रेमियों ने इसका भव्य स्वागत किया। इस दौरान साढ़े पांच लाख से ज्यादा लोगों ने अपनी मौजूदगी दर्ज कराकर खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स-2022 में भाग लेने वाले विभिन्न विश्वविद्यालय के प्रतिभागी खिलाड़ियों का उत्साह बढ़ाया।

23 मई से शुरू हुए कबड्डी के मुकाबले

खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स (Khelo India) का आधिकारिक उद्घाटन भले ही गुरुवार को होगा, लेकिन गौतमबुद्धनगर में कबड्डी के साथ गेम्स की शुरुआत 23 मई को ही हो चुकी है। एसवीएसपी स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में कबड्डी प्रतिस्पर्द्धा की पहले दिन सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ शुरुआत हुई। वहीं, दूसरे दिन यानी 24 मई को गौतमबुद्ध यूनिवर्सिटी इंडोर स्टेडियम में बास्केटबॉल की शुरुआत हुई, जबकि लखनऊ में मलखंभ, वॉलीबॉल, टेबल टेनिस, रग्बी, फुटबॉल (लड़के और लड़कियां) और टेनिस की प्रतिस्पर्धाएं शुरू हुईं।

प्रदेश में खेल संस्कृति को मिलेगा बढ़ावा

अपर मुख्य सचिव (खेल एवं युवा कल्याण), डॉ.नवनीत सहगल ने बताया कि इन खेलों का उद्घाटन समारोह इतना भव्य होगा कि पूरी दुनिया की निगाहें अवध पर टिकी होंगी। उन्होंने कहा कि यूपी में खेलों का माहौल अब पूरी तरह से बदल गया है। खिलाड़ियों को बढ़ावा देने के लिए हमेशा आगे रहने वाली योगी सरकार खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स-2022 (Khelo India) के सहारे विश्व खेल पटल पर अपनी छाप छोड़ने के लिए पूरी तरह से तैयार है। उन्होंने कहा कि हाल ही में लखनऊ में हुए आईपीएल के मुकाबलों में जो जोश दिखा था, वैसा ही जोश खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स को लेकर दिखेगा। उन्होंने कहा कि इन खेलों के आयोजन से यूपी का खेल ढाचा और मजबूत होगा। वहीं इन खेलों में प्रतिभागी खिलाड़ियों को उत्कृष्ट सेवाएं देने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार प्रतिबद्ध है। खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स के आयोजन से युवा छात्रों के साथ शिक्षक भी खेल से जुड़ेंगे और विश्वविद्यालय में खेल का एक नया इकोसिस्टम तैयार होगा। इस प्रकार की प्रतिस्पर्धाओं के आयोजन से प्रदेश में खेल संस्कृति को भी बढ़ावा मिलेगा।

Related Post

Brajesh Pathak

व्हील चेयर और दवाओं का करें इंतजाम, नहीं तो अस्पताल का होगा काम तमाम

Posted by - April 2, 2022 0
लखनऊ: योगी सरकार (Yogi government) की दूसरी पारी में उप मुख्यमंत्री का पद संभालने के बाद चिकित्सा शिक्षा एवं स्वास्थ्य…
CM YOGI

योगी आदित्यनाथ ने कहा – रेमडेसिवीर जैसी किसी भी जीवनरक्षक दवा का प्रदेश में अभाव नहीं

Posted by - April 27, 2021 0
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  (Yogi Adityanath) ने कहा है कि रेमडेसिवीर जैसी किसी भी जीवनरक्षक दवा का प्रदेश में अभाव…