राफेल मुद्दे पर फिर राहुल में किया सवाल कहा अपने कमरे में छुपकर बैठे हैं प्रधानमंत्री

833 0

नई दिल्ली। राफेल डील को लेकर बार बार कांग्रेस अध्यक्ष प्रधानमंत्री को घेर रहे हैं इसे क्रम में राहुल गाँधी ने एक बार फिर से मोदी जी को घेरा दरअसल लोकसभा में बुधवार को राफेल डील के मुद्दे पर चर्चा हुई। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 1 जनवरी को दिया इंटरव्यू पूर्व नियोजित था। इसमें प्रधानमंत्री ने राफेल डील से जुड़े कई अहम सवालों के जवाब नहीं दिए। आज भी लोकसभा में प्रधानमंत्री नहीं आए। उनमें यहां आकर हमारा सामना करने की हिम्मत नहीं है। वे अपने कमरे में छुपकर बैठे हैं। चर्चा के दौरान विपक्षी सांसदों ने कागज के हवाई जहाज बनाकर वेल की तरफ उड़ाए। इस पर स्पीकर ने कांग्रेस के कुछ सांसदों को कड़ी चेतावनी भी दी।

साथ ही राहुल चर्चा के दौरान गोवा के एक मंत्री का एक कथित ऑडियो टेप भी सुनाना चाहते थे, लेकिन लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने उन्हें इसकी इजाजत नहीं दी। राहुल का दावा था कि यह ऑडियो टेप गोवा के स्वास्थ्य मंत्री का है, जिन्होंने एक कैबिनेट बैठक का जिक्र किया था। इस बैठक में पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने दावा किया था कि उनके घर में राफेल डील के राज से जुड़ी फाइलें मौजूद हैं। इस पर स्पीकर ने कहा, ‘‘राहुल जी आप ऐसा नहीं कर सकते। आप इस तरह के आरोप नहीं लगा सकते। क्या आप ऑडियो टेप की प्रामाणिकता की पुष्टि करते हैं? क्या आप लिखित में इन आरोपों की प्रामाणिकता की पुष्टि करते हैं?’’वहीँ बाद में राहुल ने टेप सुनाने से खुद ही मना कर दिया। दरअसल ऑडियो टेप सुनाने की राहुल की मांग के बाद हंगामा होता रहा और पांच मिनट के लिए लोकसभा की कार्यवाही काे स्थगित कर दिया गया। इसके बाद जब दोबारा कार्यवाही शुरू हुई तो राहुल ने कहा कि अब वे टेप नहीं सुनाना चाहते। इस पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि राहुल जानते हैं कि यह टेप मनगढ़ंत है और कांग्रेस के लोगों ने इसे फैब्रिकेट किया है।

राहुल गाँधी ने कहा, ‘‘मेरा काम सरकार पर सवाल उठाना है। मैंने प्रधानमंत्री के साक्षात्कार का कुछ हिस्सा सुना। उन्होंने करीब डेढ़ घंटे तक विभिन्न मुद्दों पर बात की। राफेल पर मोदी पर किसी ने सवाल नहीं पूछा, उन पर आरोप नहीं लगाया। मैं सदन में कहना चाहता हूं कि पूरा देश उनसे राफेल पर सवाल पूछ रहा है। सीधे प्रधानमंत्री से सवाल कर रहा है। उन्होंने अपने साक्षात्कार में राफेल के सवाल पर जवाब क्यों नहीं दिया।’’कांग्रेस अध्यक्ष ने आगे कहा कि,” वायुसेना को 126 विमानों की जरूरत थी और इसे 36 विमानों तक सीमित कर दिया गया। किसने वायुसेना की जरूरत को बदला? 36 एयरक्राफ्ट के लिए तर्क दिया जा रहा है कि ये जहाज हमें तुरंत चाहिए। तब सवाल ये है कि अभी तक एक भी जहाज देश में लैंड क्यों नहीं हुआ। तत्कालीन रक्षा मंत्री से पूछा गया कि नए सौदे के बारे में आपको क्या पता है, उन्होंने खुद कहा कि हमें कुछ नहीं पता। राहुल गाँधी यहीं नहीं रुके बल्कि उन्होंने कहा कि, ”एचएएल 70 साल से विमान बना रहा है। एविएशन इंडस्ट्री के फ्यूचर में एचएएल के पास पोटेंशियल है। दूसरी तरह अनिल अंबानी की कंपनी है। 10 दिन पहले उन्होंने कंपनी बनाई थी, जिसके बाद उन्हें डील मिल गई थी। फ्रांस के राष्ट्रपति ने कहा था कि भारत के प्रधानमंत्री ने हमें यह डील अनिल अंबानी को देने का निर्देश दिया था। आपने यह कॉन्ट्रैक्ट अपने मित्र अनिल अंबानी को क्यों दे दिया? आपने यह कॉन्ट्रैक्ट एचएएल से क्यों छीना?”

Related Post

Sheesham

शीशम के 4.52 तो सागौन के 4.37 करोड़ पौधरोपण कर यूपी ने रचा कीर्तिमान

Posted by - August 18, 2023 0
लखनऊ। उत्तर प्रदेश को हरा-भरा करने की योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) की पहल रंग लाई। योगी आदित्यनाथ ने वृक्षारोपण महाअभियान-2023…
पीएम मोदी

पीएम मोदी ने शेयर ये फोटो, लिखा ‘हिंदुस्‍तान जिंदाबाद था,है और रहेगा’

Posted by - April 28, 2019 0
नई दिल्ली। बीजेपी में शामिल होने के बाद फिल्म अभिनेता सनी देओल अब गुरदासपुर से चुनाव लड़ रहे हैं। नामांकन…