Sharad pawarSharad pawar

फरवरी में वाजे और देशमुख के मुलाकात की बात सरासर गलत : शरद पवार

430 0
मुंबई। शरद पवार  (Sharad Pawar) ने कहा है कि अनिल देशमुख और अनिल वाजे बीच फरवरी माह में हुई मुलाकात की बात गलत है। उन्होंने कहा कि अनिल वाजे और देशमुख की मुलाकात की जो बात कही गई है, इसमें यह महत्वपूर्ण है कि देशमुख फरवरी में अस्पताल में थे।

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह द्वारा लिखे गए पत्र के बाद अनिल देशमुख को लेकर कई सवाल खड़े किए जा रहे हैं. इसी बीच महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री शरद पवार ने कहा है कि देशमुख कोरोना संक्रमण के कारण 16 से 27 फरवरी तक घर में आइसोलेट थे। इससे पहले वे अस्पताल में थे।

मुंबई पुलिस के पूर्व आयुक्त परमबीर सिंह के पत्र के बाद से महाराष्ट्र सरकार में उथल पुथल मची हुई है। पूरा विपक्ष राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख के इस्तीफे की मांग पर अड़ा हुआ है। इस बीच एनसीपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद पवार ने दिल्ली में आयोजित एक प्रेसवार्ता में महाराष्ट्र के गृहमंत्री का बचाव किया है।

उन्होंने कहा कि देशमुख पांच से 15 फरवरी तक कोरोना संक्रमित होने की वजह से अस्पताल में भर्ती थे। इस वजह से वाजे से उनकी बातचीत का सवाल ही नहीं उठता है। बकौल पवार फरवरी में अनिल देशमुख और वाजे की बात होने का तथ्य पूरी तरह से गलत है।

उन्होंने कहा कि परमबीर सिंह जांच की दिशा को भटकाने के लिए इस तरह के गलत आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि चिट्ठी में उल्लेखित समय के दौरान वाजे और देशमुख बातचीत होने का कोई सबूत नहीं है।

दूसरी ओर एनसीपी के नेता और महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने कहा है कि जांच के बाद ही सच सामने आएगा और तब तक देशमुख के इस्तीफे का सवाल ही नहीं उठता है। मलिक ने कहा कि सबसे पहले तो यह पता लगाया जाना चाहिए कि आखिर परमबीर सिंह ने अपने ट्रांसफर के बाद यह चिट्ठी क्यों लिखी। उन्होंने भी चिट्ठी की विश्वसनीयता पर सवाल उठाते हुए कहा कि जिस समय पैसे मांगे जाने का उल्लेख है, उस समय देशमुख अस्पताल में थे। तो बात कैसे और कब हुई, इस बारे में परमबीर ने कुछ नहीं बताया है।

भाजपा आईटी सेल प्रभारी ने जारी किया 15 मार्च की प्रेसवार्ता का वीडियो

शरद पवार  (Sharad Pawar) की प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान भाजपा आईटी सेल प्रभारी अमित मालवीय ने अनिल देशमुख का 15 फरवरी का एक ट्वीट शेयर किया है, जिसमें वो प्रेस कॉन्फ्रेंस करते नजर आ रहे हैं। अमित मालवीय ने सवाल किया है कि अगर 5-15 फरवरी अनिल देशमुख अस्पताल में भर्ती थे तो उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस कैसे की?

Related Post

कोरोनावायरस

कोरोनावायरस : 81 हजार शिक्षकों को दिया जाएगा ऑनलाइन प्रशिक्षण

Posted by - March 14, 2020 0
नई दिल्ली। केरल इंफ्रास्ट्रचर एंड टेक्नोलॉजी फॉर एजुकेशन (केआईटीई) ने कोरोनावायरस के मद्देनजर राज्य के 81 हजार से अधिक प्राथमिक…
PM Modi

भाजपा का मतलब है विकास, समाधान, कांग्रेस का मतलब है देश की हर बीमारी की जड़: पीएम मोदी

Posted by - April 2, 2024 0
जयपुर। भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Modi) ने कहा कि इस लोकसभा चुनाव में देश की…