Atal Residential Schools

अटल आवासीय विद्यालयों में हुआ सत्रारंभ, श्रमिकों के सपने हुए साकार

95 0

लखनऊ। माता-पिता की आंखों में आँसू, बच्चों के खिलखलाते चेहरे और हाथ में माला लेकर स्वागत करते शिक्षक। ये नजारा आज प्रदेश के सभी मंडलों में देखने को मिला। अवसर था अटल आवासीय विद्यालयों (Atal Residential Schools) के सत्रारंभ का, जहां निर्माण श्रमिकों, कोरोना काल में निराश्रित और मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के पात्र बच्चे नवोदय विद्यालय की तर्ज पर निःशुल्क गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त करने पहुंचे। अपने नौनिहालों का हाथ पकड़कर विद्यालय में आए अभिभावकों ने जब वहां की व्यवस्था देखी तो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) की यह पहल उन्हें किसी वरदान से कम नहीं लगी।

परिसर (Atal Residential Schools) में पहुंचे विद्यार्थी और उनके अभिभावक क्लास रूम, हॉस्टल रूम, मेस की व्यवस्थाओं को देख आश्चर्यचकित थे। उनके लिए अब तक इतनी शानदार व्यवस्था सिर्फ कल्पना की बात थी। बच्चे ये जानकर गदगद थे कि ये सभी इंतजाम उनके लिए किए गए हैं जबकि श्रमिक अभिभावकों की आंखों में खुशी के आँसू थे।

उन्होंने यह कभी नहीं सोचा था कि वह अपने बच्चों ऐसे किसी विद्यालय में पढ़ा पाएंगे। उनके लिए आज का दिन किसी पर्व से कम नहीं था। इस मौके पर अभिभावकों ने सीएम योगी का आभार जताया। वहीं बच्चों ने भी मन से पढ़ने और कुछ कर गुजरने का संकल्प लिया।

अधिकारियों ने बढ़ाया उत्साह

प्रदेश के अलग-अलग मंडलों में निर्मित इन विद्यालयों (Atal Residential Schools) में कक्षा छह में 80 विद्यार्थियों का प्रवेश परीक्षा के माध्यम से दाखिला हुआ है, जिसमें 40 बालिकाएं और 40 बालक हैं। आज इन विद्यालयों में आयोजित हुए सत्रारंभ के कार्यक्रम में जनपद और मंडलीय स्तर के अधिकारी भी शामिल हुए। उन्होंने विद्यार्थियों व अभिभावकों से संवाद कर उनका उत्साह बढ़ाया।

Atal Residential Schools

अधिकारियों ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) की मंशा है कि धन की वजह से गुणवत्तापूर्ण शिक्षा से कोई भी विद्यार्थी वंचित न रहे। यह विद्यालय श्रमिकों के बच्चों के साथ-साथ बेसहारा बच्चों के सपनों को नई उड़ान देगा और उन्हें एक अच्छा नागरिक बनाएगा, जो प्रदेश एवं देश के विकास में अपना योगदान दे सकेंगे।

गोरखपुर में मना प्रवेश उत्सव

गोरखपुर मंडल के सहजनवा में शुरू हुए अटल आवासीय विद्यालय (Atal Residential Schools) के प्रथम शैक्षणिक सत्र को उत्सव के रूप में मनाया गया। विद्यालय के शिक्षकों ने नव प्रवेशित बच्चों और उनके अभिभावकों का स्वागत किया। अपनी पुत्री गरिमा को विद्यालय पहुंचाने आए नौसढ़ निवासी मजदूर विकास जायसवाल ने कहा ”अपनी वर्तमान कमाई को कई गुना बढ़ा लेने पर भी वह इस तरह के स्कूल में बच्चों को पढ़ा नहीं पाते। पढ़ाई की चिंता दूर हो गई, अब बच्चों का भविष्य संवर जाएगा।” उन्होंने मजदूरों के बच्चों को भी कान्वेंट स्कूल जैसी सुविधा मुफ्त में देने के लिए सीएम योगी को धन्यवाद दिया।

वाराणसी के करसड़ा में शुरू हुआ विद्यालय

वाराणसी के करसड़ा में अटल आवासीय विद्यालय (Atal Residential Schools) 66.54 करोड़ रुपए की लागत से तैयार हुआ है। विद्यालय में गंगा, यमुना, सरस्वती और गोमती चार हाउस बनाए गए है। आज से यहां का भी पहला सत्र प्रारंभ हो गया। इस दौरान अपने बेटे को कंप्यूटर की शिक्षा दिलाने की चाह लेकर पहुंचे चंदौली के श्रमिक असलम ने कहा ”उनका बेटा अच्छे स्कूल में पढ़ना चाहता था लेकिन आय कम होने से ऐसा हो पाना कठिन था।”

आपदा प्रभावित क्षेत्रों में पूरी तेजी से हो राहत एवं बचाव कार्य: योगी

उन्होंने कहा ”सीएम योगी ने मेरे परिवार का सपना साकार कर दिया है। अब हम चिंता मुक्त हो गए हैं।” उल्लेखनीय है कि इस विद्यालय का आधिकारिक उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों 23 सितम्बर को प्रस्तावित है, लेकिन आज से यहां भी सत्र शुरू हो गया।

Related Post

किसान आंदोलन के नौ महीने पूरे, आज से दो दिवसीय अधिवेशन, आंदोलन तेज करने पर बनेगी रणनीति

Posted by - August 26, 2021 0
दिल्ली की सीमाओं पर अपनी मांगों के समर्थन में किसानों के आंदोलन के आज नौ महीने पूरे होने के बाद…
Renuka

कांग्रेस नेत्री रेणुका चौधरी ने प्रदर्शन के दौरान पुलिसकर्मी का पकड़ा कॉलर

Posted by - June 16, 2022 0
हैदराबाद: राहुल गांधी को प्रवर्तन निदेशालय (ED) के सम्मन पर कांग्रेस पार्टी (Congress party) के विरोध के दौरान नजरबंदी का…