Aircraft fue

महंगाई के बीच राहत भरी खबर, विमान ईंधन की कीमत में कटौती

90 0

नई दिल्ली: देश में बढ़ रही महंगाई के बीच आज शनिवार को विमान ईंधन (Aircraft fue) (एटीएफ) की कीमत में गिरावट आई है। अंतरराष्ट्रीय तेल कीमतों में गिरावट की वजह से विमान ईंधन की कीमत में 2.2 प्रतिशत की कटौती हुई है। पेट्रोलियम कंपनियों की मूल्य के मुताबिक, एटीएफ के दाम में 3,084.94 रुपये प्रति किलोलीटर या 2.2 प्रतिशत की कटौती करके इसे 1,38,147.93 रुपये प्रति किलोलीटर कर दिया गया है।

एटीएफ के दाम पिछले पखवाड़े अंतरराष्ट्रीय तेल कीमतों के आधार पर हर महीने की पहली और 16वीं तारीख को संशोधित किए जाते हैं, इससे पहले एक जुलाई को कीमत में कोई बदलाव नहीं किया गया था। इस साल एटीएफ की कीमत में दूसरी बार कटौती हुई है। पिछले महीने इसकी कीमत 1,41,232.87 रुपये प्रति किलोलीटर (141.23 रुपये प्रति लीटर) पहुंच गई थी।

विमान संचालन में ATF पर होने वाले खर्च की हिस्‍सेदारी 40 फीसदी रहती है, यही कारण है कि हवाई ईंधन के दाम बढ़ने से यात्रियों के लिए यात्रा महंगी पड़ती है। 1 अप्रैल को भी कीमतों में 2 फीसदी बढ़ोतरी की गई, जबकि 16 अप्रैल को 0.2 फीसदी और 1 मई को 3.22 फीसदी की वृद्धि हुई। अब जब कीमतों में कमी की जा रही है तो माना जा रहा है कि हवाई सफर भी सस्ता हो सकता है।

राष्ट्रपति चुनाव: AAP ने किया साफ, विपक्षी उम्मीदवार का करेंगे समर्थन

Related Post

CM Yogi

सैनिकों और शहीदों का अपमान करने वाली पार्टी है कांग्रेस: योगी

Posted by - November 29, 2022 0
महीसागर/आणंद/वडोदरा। गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण का प्रचार मंगलवार को थम गया। यहां पहली दिसंबर और 5 दिसंबर को…

पूर्व मंत्री मनोज पाण्डेय जल्द करेगी विजिलेंस

Posted by - February 28, 2021 0
आय से अधिक सम्पत्ति की जांच के लिए उत्तर प्रदेश सतर्कता अधिष्ठान (विजिलेंस) शीघ्र ही समाजवादी पार्टी के विधायक एवं पूर्व मंत्री मनोज कुमार पांडेय को बयान दर्ज कराने के लिए शीघ्र ही नोटिस भेजा जाएगा। शासन के आदेश पर विजिलेंस ने उनके विरुद्ध आय से अधिक संपत्ति की शिकायतों की खुली जांच शुरू कर दी है। गोपनीय जांच में शिकायतें प्रथमदृष्ट्या सही पाए जाने के बाद खुली जांच के आदेश दिए गए हैं।   फतेहपुर : स्वर्गीय इंदिरा गांधी के नजदीकी रहे प्रेमदत्त तिवारी का निधन बिजलेंस के एक अधिकारी ने बताया कि पूर्व मंत्री मनोज पाण्डेय से आय से अधिक सम्पत्ति मामले में पूछताछ की जाएगी। इसके लिए उनको नोटिस भेजा जाएगा। मनोज पांडेय पर अपने क्षेत्र के दलित परिवार की जमीन अवैध ढंग से हथियाने का भी आरोप है। शिकायतें मिलने पर सरकार ने विजिलेंस के माध्यम से पहले गोपनीय जांच कराई। जांच में आरोप प्रथमदृष्ट्या सही पाए गए। जांच रिपोर्ट का परीक्षण करने के बाद शासन ने विजिलेंस को मनोज पांडेय के विरुद्ध खुली जांच करने का आदेश दे दिया। विजिलेंस अब शिकायतों से संबंधित साक्ष्य जुटाने के साथ ही मनोज पांडेय से पूछताछ भी करेगी। खुली जांच में दोषी पाए जाने पर उनके विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जा सकती है। रायबरेली जिले की ऊंचाहार सीट से विधायक मनोज पांडेय सपा सरकार में कैबिनेट मंत्री थे। जांच के शिकंजे में फंसने वाले वह तीसरे पूर्व मंत्री हैं। सपा सरकार में मंत्री रहे मो. आजम खां के विरुद्ध एसआईटी व गायत्री प्रसाद प्रजापति के विरुद्ध विजिलेंस जांच की जांच चल रही है। एसआईटी जल निगम भर्ती घोटाले में मो. आजम खां को दोषी ठहरा चुकी है। गायत्री प्रजापति के विरुद्ध तो आय से अधिक संपत्ति की जांच चल रही है
Pallonji Mistry

भारत के दिग्‍गज उद्योगपति पैलोंजी मिस्‍त्री का 93 साल की उम्र में निधन

Posted by - June 28, 2022 0
नई दिल्‍ली: भारत के दिग्‍गज उद्योगपति और शापूरजी पैलोंजी ग्रुप के चेयरमैन पैलोंजी मिस्‍त्री (Pallonji Mistry) का 93 साल की…

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस में आया नया मोड़ पूर्व मंत्री मंजू वर्मा ने कोर्ट में किया सरेंडर

Posted by - November 20, 2018 0
बेगूसराय। मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस में एक नया मोड़ तब आया जब आरोपी मंत्री मंजू वर्मा और मधु ने मंगलवार…